TMC में शामिल हुई पत्नी, तलाक का नोटिस भेजेंगे बीजेपी सांसद पति

पश्चिम बंगाल चुनावों से पहले तृणमूल कांग्रेस के कई नेता भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो रहे है और लेकिन इस बीच बीजेपी सांसद सांसद सौमित्र खान की पत्नी सुजाता ने टीएमसी में शामिल होने की खबर सबको हैरान कर रही है। खबरों के अनुसार बताया जा रहा है टीएमसी छोड़ बीजेपी में शामिल होने वाले नेताओं के बीच सुजाता ने बीजेपी को छोड़कर टीएमसी की सदस्यता ले ली। पत्नी के इस फैसल के बाद नाराज सांसद सौमित्र खान ने अपनी पत्नी को तलाक देने की तैयारी कर ली है।

टीएमसी में शामिल होने के बाद सुजाता मंडल ने कहा कि बीजेपी में अब केवल अवसरवादियों को जगह दी जा रही है जो कार्यकर्ता मेहनत कर जीत हासिल करता है उसको कोई भाव नहीं देता है। सुजाता ने कहा कि हमने बीजेपी के लिए बहुत कुछ किया है और इसके बाद भी हमारे लिए बेजीपी में कोई सम्मान नहीं बचा तो हमारा वहां रहना उचित नहीं है।

सुजाता मंडल ने कहा कि टीएमसी को छोड़कर बीजेपी में आने वाले नेताओं को कैसे शुद्ध किया जाता है। सुजाता मंडल ने कहा कि पश्चिम बंगाल में अभी ही बीजेपी में मुख्यमंत्री पद के लिए कोई एक दावेदार नहीं है यहां सीएम और डिप्टी सीएम के कई दावेदार है जो बीजेपी के लिए ही नुकसान दायक साबित होगा। सुजाता मंडल के टीएमसी ज्वॉइन करने से उनके पति और बीजेपी सांसद सौमित्र खान बहुत नाराज है उन्होंने तलाक देने की तैयारी कर ली है।

बताया जा रहा है कि सौमित्र खान और सुजाता के बीच कई दिनों से पर्दे के पीछे जो लड़ाई चल रही थी वह अब खुलकर सामने आ गई है। पत्नी सुजाता की सांसद सौमित्र खान की जीत में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी और तृणमूल कांग्रेस सरकार ने सुजाता के बांकुरा इलाके में जाने पर रोक लगा दी थी।

ममता के गढ़ को ध्वस्त करने की बीजेपी की जबरदस्त तैयारी

क्या पश्चिम बंगाल में क्या खिलेगा कमल 

 

कोरोना काल में विपक्ष के लगातार आलोचना का शिकार हो रही बीजेपी ने बिहार चुनावों के साथ उप चुनावों में शानदार जीत हासिल करके विपक्ष को एक बार फिर कमजोर साबित कर दिया है। इस जीत के बाद बीजेपी का हौसला 7वें आसमान पर है तो दूसरी तरफ विपक्ष अपनी हार पर केवल मंथन करने के सिवाय कुछ नहीं कर पा रहा है।

पिछले कुछ समय से बीजेपी ने ममता बनर्जी के गढ़ कहे जाने वाले पश्चिम बंगाल में अपनी जमीनी ताकत मजबूत क

रने में लगी हुई है और इसका प्रमाण 2019 के लोकसभा चुनावों में मिल चुका है और इसके बाद पंचायत चुनावों में बीजेपी ने अच्छी जीत हासिल करके ममता के गढ़ में सेंध मार दी है।

अगले साल बंगाल में विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं और बीजेपी चुनावों से पहले बंगाल को जीतने के लिए जबरदस्त तैयारी शुरू कर दी है। सूत्रों की माने तो चुनावों से पहले बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के साथ कई बड़े मंत्री हर महीने बंगाल

का दौरा करेंगे। अगर बीजेपी बंगाल में वोट प्रतिशत के साथ सीटों की संख्या बढ़ाने में कामयाब होती है तो विधनासभा जाने का सफर ममता के लिए बहुत मुश्किल भरा हो जाएगा।

बंगाल चुनावों से पहले बीजेपी ने यह ऐलान कर दिया है कि वह इस बार बंगाल में कमल खिलाएगी और बंगाल का विकास करने के साथ सभी केन्द्र की सरकारी योजनाओं का लाभ देगी जो उसे अभी तक नहीं मिल पाया है।

%d bloggers like this: