राजस्थान – कांग्रेस सरकार का संकट टला – कांग्रेस का बहुमत पारित – सचिन पायलट का दर्द झलका 

#विधानसभा सत्र 

 

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने व्यंग्य बानों से भाजपा के दिग्गज नेताओं पर  कसीदे पढ़ें – शायरी पढ़ी –

 ” तू इधर उधर की न बात कर ये बता कि क़ाफ़िला क्यूँ लुटा

          मुझे रहज़नों से गिला नहीं तिरी रहबरी का सवाल है  “

का इशारा राजेन्द्र राठोड पर करते हुयें तंज कसा इसके साथ ही केंद्र सरकार  व्  भाजपा के गुलाब चंद कटारिया व् सतीश पूनिया को आड़े हाथ लिया और लोकतंत्र के मायने समझायें –

*****************************************

जयपुर | राजस्थान में चल रहें सियासत उठापटक अब खत्म – कांग्रेस सरकार का बहुमत सदन में पारित हो गया अशोक  गहलोत आज चिंता मुक्त नज़र आयें . सरकार की और से संसदीय कार्य मंत्री शांति धारीवाल ने प्रस्ताव पेश किया , प्रस्ताव पेश कर शांति धारीवाल ने कहा की केंद्र सरकार के इशारे पर मध्य प्रदेश ,गोवा  में चुनी हुई सरकार को गिराया गया हैं धन बल और लोकतंत्र के बदोलत मिली ताकत का केंद्र सरकार गलत इस्तेमाल कर रही हैं लेकिन राजस्थान में भाजपा का षडयंत्र कामयाम नहीं होने वाला हैं  |

 

सचिन पायलट का कुर्सी को लेकर दर्द झलका – 

आज सदन में सचिन पायलट को बहुत बुरा लगा जब उनकी कुर्सी पहली लाइन से अंतिम छौर पर लगी मिली , सचिन में अपने व्यक्तव्य में कहा – आज जब में सदन में आया तो देखा मेरी कुर्सी अंतिम छौर में लगी हैं जब में सरकार में सुरक्षित था तब में पहली पंक्ति में बैठता था लेकिन आज में यह सदन में कहना चाहता हूँ आज मेरी कुर्सी विपक्ष के पास बॉर्डर पर लगा दी गई हैं लेकिन में कहना चाहता हूँ बॉर्डर पर उसी सिपाही को भेजा जाता हैं जो बहादुर हो और में कहना चाहता हूँ की में कांग्रेस पार्टी का वो बहादुर सिपाही हूँ जो कवच – भाले के साथ बॉर्डर पर तेनात हूँ , हमे और हमारे साथी विधायको को जो कहना था वह हम उचित स्थान पर कहे चुके हैं बाकी समय सभी सवालों का जवाब देगा

 

राजस्थान विधानसभा की आगें की कारवाही अब 21 अगस्त तक स्थगित |

 

 

%d bloggers like this: