साइबर अपराध समाज और पुलिस के समक्ष निरन्तर चुनौती बनते जा रहे हैं, साइबर लिटरेसी बढ़ाने की आवश्यकता – महानिदेशक पुलिस एम.एल लाठर

साइबर लिटरेसी बढ़ाने की आवश्यकता महानिदेशक पुलिस
जयपुर, 16 अप्रैल। महानिदेशक पुलिस  एम.एल. लाठर ने कहा है कि बढ़ते साइबर अपराध समाज और पुलिस के समक्ष निरन्तर चुनौती बनते जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि आमजन को ऑनलाईन बिहेवियर के बारे में जागरुक करने के साथ ही वर्तमान आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए साइबर लिटरेसी बढ़ाने की आवश्यकता है।
 लाठर शुक्रवार को पुलिस मुख्यालय में राजस्थान पुलिस अकादमी, यूनीसेफ और साइबर पीस फाउण्डेशन के संयुक्त तत्वाधान में राजस्थान पुलिस स्थापना दिवस के अवसर पर आयोजित एक महीने के साइबर सेफ्टी कैम्पेन का वेबीनार द्वारा शुभारम्भ कर रहे थे। इस कैम्पेन के दौरान साइबर सुरक्षा के संबंध में व्यापक जन चेतना के लिए वर्चुअल सेमीनार सहित अन्य कार्यक्रमाें का आयोजन भी किया जाएगा।
महानिदेशक पुलिस ने कहा कि आमजन को साइबर संबंधी कानून एवं साइबर अपराधों के बारे में अवगत कराने के साथ ही साइबर अपराधों से बचने के लिए अपनाई जाने वाली सावधानियाें के बारे में अवगत कराने की आवश्यकता है। कोरोना काल के दौरान व्यापार,शिक्षा, भुगतान से लेकर अन्य गतिविधियाें में इन्टरनेट का व्यापक रुप से उपयोग किया जा रहा है। साइबर अवेयरनैस कम होने पर आमजन साइबर क्रिमीनल के शिकार हो सकते हैं।
लाठर ने बताया कि राजस्थान पुलिस ने महिलाओं एवं बच्चों के विरुद्व होने वाले अपराधों की रोकथाम के बारे में एप बनाए हैं। इनके साथ ही बनाए गए राजस्थान सिटीजन व अन्य एप राजस्थान पुलिस की वेबसाइट पर उपलब्ध हैं एवं आमजन इन्हें डाउनलोड कर इनका उपयोग कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि प्रत्येक जिले में साइबर यूनिट कार्य कर रही है एवं यह यूनिट 5 लाख रुपये तक की राशि के साइबर अपराधों के बारे में अनुसंधान करती है। इससे अधिक राशि  के साइबर अपराधों का अनुसंधान एसओजी के तहत गठित साइबर थानों द्वारा किए जा रहे हैं।
अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस एवं निदेशक आरपीए  राजीव शर्मा ने साइबर सेफ्टी कैम्पेन के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो की वर्ष 2020 में जारी रिपोर्ट के अनुसार साइबर अपराधों में 63 प्रतिशत की वृद्वि हुई है। वितीय मामलों में नुकसान के साथ ही डेटा चोरी होने से आमजन की निजता भी प्रभावित होती है। साइबर अपराधियों की पहचान करना चुनौतीपूर्ण कार्य है।
वेबीनार में यूनीसेफ के संजय निराला ने आम नागरिकों को साइबर सुरक्षा के सम्बन्ध में जागरुक करने के लिए व्यापक अभियान संचालित करने पर बल दिया। साइबर पीस फाउण्डेशन के श्री विनीत कुमार ने बताया कि एक माह के इस कैम्पेन के दौरान अलग-अलग विषयों पर आठ वेबीनार आयोजित की जा रही हैं। वेबीनार में अति. महानिदेशक पुलिस, तकनीकी एवं दूरसंचार  सुनील दत्त भी मौजूद थे।

युवाओं के लिए सुनहरा मौका! राजस्थान पुलिस में निकली बंपर भर्ती

जॉबडेस्‍क। राजस्थान पुलिस ने कांस्टेबल के रिक्‍त पदों को भरने के लिए भर्ती का नोटिफिकेशन जारी किया हैं। अगर आप सरकारी नौकरी की तलाश कर रहे हैं तो यह आपके लिए सुनहरा मौका हैं। योग्‍य उम्‍मीदवार भर्ती के लिए जल्‍द आवेंदन करें।

भर्ती विवरण:

विभाग का नाम- राजस्थान पुलिस

 

पदों का नाम- कांस्टेबल

पदों की संख्‍या- 5390 पद

शैक्षिक योग्यता- 8वीं/10वीं/12वीं अथवा इसके समकक्ष डिग्री|

आवेदन की अंतिम तिथि- 15-01-2018

चयन प्रक्रिया- रिटेन टेस्ट, फिजिकल एफिसिएंशी टेस्ट और एफिसिएंशी टेस्ट में प्रदर्शन के अनुसार उम्‍मीदवार का चयन होगा|

 

वेतनमान-

पहले 2 साल तक- 8,910/- रुपये

2 साल के बाद- 5,200-20,200/- रुपये एवं 2,400/- रूपए ग्रेड पे

आवेदन प्रक्रिया- आवेदन करने के लिए उम्मीदवार ऑफीशियल वेबसाइट पर लॉगिन करें।

आधिकारिक वेबसाइट- http://www.rajasthanpolicerecruitment.com/PDF/Final%20Notification.pdf

कॉन्स्टेबल भर्ती के ऑन लाइन आवेदन अब 30 नवम्बर तक भरे जा सकेंगे-

 जयपुर, 21 नवम्बर। पुलिस विभाग द्वारा कॉन्स्टेबल भर्ती-2017 हेतु ऑनलाईन आवेदन पत्र प्राप्त करने की अन्तिम तिथि अब 30 नवम्बर .2017 को रात्रि 12 बजे तक बढाई जाती है।
अतिरिक्त महानिदेशक मुख्यालय श्री जंगा श्रीनिवास राव ने मंगलवार को यह जानकारी देते हुए बताया कि महानिदेशक पुलिस राजस्थान जयपुर द्वारा 18 अक्टूबर 2017 की विज्ञप्ति के अनुसार कॉन्स्टेबल भर्ती-2017 हेतु ऑनलाईन आवेदन पत्र आमन्ति्रत किये गये थे। उन्होंने बताया कि पूर्व में जारी विज्ञप्ति के अनुसार कॉन्स्टेबल भर्ती-2017 के ऑनलाईन आवेदन करने की अंतिम दिनांक 21 नवम्बर .2017 तक तय की गई थी, लेकिन अब कॉन्स्टे

बल भर्ती-2017 के ऑनलाईन आवेदन पत्र 30 नवम्बर 17 तक भरे जा सकेंगे।
उन्होंने बताया कि उक्त क्रम में आवेदन पत्र (ऑनलाईन) राजकॉम इनफो सर्विसेज लिमिटेड द्वारा संचालित समस्त ई-मित्र कियोस्क, जन सुविधा केन्द्र (कॉमन सर्विस सेन्टर) एवं विभाग की वैबसाईट पर दिनांक 30-11-2017 तक भरे जा सकते हैं। आवेदन की शेष शर्तें विज्ञप्ति में दर्शाये अनुसार यथावत रहेंगी।