REET 2020: वेटेज का अनुपात हुआ कम, जानिए नया पैटर्न

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सरकार के दो साल पूरा होने पर करीब 11 लाख बेरोजगारों को रीट अध्यापक पात्रता परीक्षा तिथि की घोषणा करके उनको बहुत बड़ी सौगात दी गई। सीएम ने बताया की 25 अप्रैल 2021 रीट भर्ती का आयोजन किया जाएगा लेकिन इससे पहले भी रीट की तारीख का एलान हो चुका है इसके चलते रोजगार पाने वालों को इस भर्ती का बड़ी बेसब्री से इंतजार था।

रीट भर्ती से पहले विभिन्न वर्गों में उत्तीर्ण अंकों में 5 से 20 फीसदी तक राहत देने के आदेश जारी करने के साथ अब रीट और स्नातक के अंकों में भी एक बड़ा बदलाव किया है। रीट परीक्षा में अब अंकों के वेटेज को कम करके बहुत बड़ी राहत दी गई है। अब नये नियम के अनुसार रीट के अंतिम चयन में जहां 90 फीसदी अंकों का आधार त स्नातक के अंकों का आधार 10 फीसदी तय किया है।

इससे पहले आयोजित हुई रीट परीक्षा में वेटेज परीक्षा के 70 फीसदी और स्नातक के 30 फीसदी अंकों का आधार हुआ करता था जिसको लेकर सभी अभ्यार्थी लम्बे समय से स्नातक के अंकों को कम करने की मांग कर रहे थे। 31 हजार पदों पर लेवल-1 और लेवल-2 की परीक्षा 25 अप्रैल को आयोजित की जाएगी। परीक्षा में एनसीईटी के सिलेबस के साथ ही राजस्थान की जानकारी को ज्यादा जोड़ने की बात भी सामने आ रही है।

सामान्य-अनारक्षित टीएसपी और नॉन टीएसपी के लिए 60 प्रतिशत,
अनुसूचित जनजाति नॉन टीएसपी 55 प्रतिशत और टीपीएस में 36 प्रतिशत
एससी, ओबीसी, एमबीसी और ईडब्ल्यूएस के लिए एमपीएम 55 प्रतिशत
सभी श्रेणी में विधवा, परित्यक्ता महिला और भूतपूर्व सैनिक के लिए 50 प्रतिशत
दिव्यांग श्रेणी के अभ्यर्थियों के लिए 40 प्रतिशत
सहरिया जनजाति के अभ्यर्थियों के लिए 36 प्रतिशत

साली ने जीजा को प्रेम-प्रसंग में फंसाकर पहले बहन का घर उजाड़ा, फिर नजदीकियां बढ़ा हत्या की

बूंदी। कांस्टेबल की रिश्ते में साली और उसके दोस्त ने ही हत्या के बाद शव बौंली कस्बे में पुराने महल के पास जमीन में गाड़ दिया था। चार महीने से लापता बूंदी पुलिस के कांस्टेबल अभिषेक शर्मा का सड़ा-गला शव सवाई माधोपुर जिले के बौंली से बरामद कर लिया गया।

परिवार ने तलाशने के बाद 5 सितंबर को कोतवाली में अभिषेक की गुमशुदगी की रिपोर्ट दी थी। रिपोर्ट में अभिषेक के ससुराल पक्ष व उसकी प्रेमिका श्यामा पर अभिषेक को गायब करने का संदेह जताया गया था। श्यामा सालभर पहले 20 दिन तक बूंदी में उनके पास रहकर गई थी। जहां अभिषेक के साथ उसकी नजदीकियां बढ़ गई।

बूंदी शहर के बीबनवा रोड निवासी कांस्टेबल अभिषेक शर्मा (30) 11 साल पहले पुलिस में लगा था। वह पुलिस लाइन में तैनात था। 28 अगस्त को घर से ड्यूटी पर जाने के लिए निकला था, पर न ड्यूटी पहुंचा, न घर लौटा।

पुलिस ने साक्ष्य जुटाने के बाद युवती से पूछताछ की तो उसने अपने साथी नवेद के साथ मिलकर अभिषेक की हत्या की बात कबूली। इस पर पुलिस ने दोनों को बुधवार को गिरफ्तार कर निशानदेही पर शव निकलवाया, जो कंकाल की शक्ल ले चुका था।

शव करीब 110 दिन पुराना बताया जा रहा है। पूछताछ में सामने आया कि दोनों ने मिलकर अगस्त में ही उसकी हत्या कर शव पुराने महल के पास गाड़ दिया था। इसका पता चला तो पति-पत्नी में झगड़ा होने लगा। मनमुटाव इतना बढ़ा कि पत्नी ने तलाक का केस दर्ज करा दिया। दिव्या चार-पांच माह से पीहर सवाई माधोपुर के जरवाड़ा गांव में रह रही थी।

मौसम विभाग : उत्तर भारत के कई इलाकों में रेडअलर्ट, राजस्थान में भारी बारिश के साथ ओलावृष्टि

जयपुर। राजस्‍थान में भारी वर्षा के साथ ओले गिरने से रबी फसलों को नुकसान पहुंचा है और सामान्‍य जन-जीवन प्रभावित हुआ है। बिजली गिरने से चार लोगों के मारे जाने की खबर है।

बता दें कि ओलावृष्टि से गेंहू और सरसों की फसल को खासा नुकसान हुआ है। मुख्‍यमंत्री ने अधिकारियों को फसलों की खराबी के सर्वे करने के निर्देश दिए हैं। मौसम विभाग ने कहा है कि प्रदेश के उत्‍तरी भाग के साथ-साथ कई जिलों में आज से घना कोहरा छाया रहेगा।

आपको बता दें कि मौसम में कल अचानक आए बदलाव के बाद नागौर, झुंझुनू, बिकानेर, चुरु, सीकर तथा अलवर सहित कई जिलों में भारी बारिश के साथ ओलावृष्टि हुई है।

बता दें कि मौसम विभाग ने आज भी राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में वर्षा और तेज हवाओं का अनुमान लगाया है। दिल्ली के तापमान में गिरावट आ सकती है और यह दस डिग्री सेल्सियस से नीचे आ सकता है।

बता दें कि दिल्ली में कल भारी बारिश के कारण इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर कई उड़ानों का मार्ग बदलना पड़ा। मौसम कार्यालय के अनुसार पंजाब, हरियाणा और राजस्थान में भी बारिश हो सकती है

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली सहित उत्तर भारत के कई हिस्सों में कल रात भारी बारिश हुई। पश्चिमी विक्षोभ के असर से तेज हवाओं के साथ हुई बारिश से दिल्ली की वायु गुणवत्ता में सुधार आने की उम्मीद है।

उत्‍तराखण्‍ड में जबर्दस्‍त बर्फबारी और बारिश से पर्वतीय अंचल में जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हो गया है। राज्य के कई जिलों में भारी बर्फबारी का रेड अलर्ट जारी किया गया है। वहीं, लद्दाख और जम्मू-कश्मीर के पहाड़ी इलाकों में कल हल्का हिमपात हुआ, जबकि मैदानी क्षेत्रों में भारी वर्षा हुई।

मौसम विभाग के अनुसार अगले चौबीस घंटों में उत्‍तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग समेत कई स्‍थानों पर ऊंचाई वाले इलकों में भारी से भारी बर्फबारी हो सकती है। वहीं हिमाचल प्रदेश के कई भागों में दो दिन से वर्षा और बर्फबारी के बाद शीत लहर तेज हो गई है।

OBC /SC/ST एवं अल्पसंख्यक संगठनो का निर्णय – लोकसभा चुनावों में मनुवादी प्रत्याशियों का करेंगे -बहिष्कार

95% समाज ने कहा – लोकसभा चुनावों में करेंगे – मनुवादि प्रत्याशियों का बहिष्कार —

OBC /SC/ST एवं अल्पसंख्यक समाज के लोगों ने  सर्व सहमती से निर्णय लिया की आगामी लोकसभा चुनाव 2019 में सभी पार्टियों के मनुवादी प्रत्याशियों का वह विरोध करंगे और किसी भी कीमत पर इन मनुवादी प्रत्याशियों को वोट नहीं देंगे |

 

जयपुर | OBC /SC/ST एवं अल्पसंख्यक समाज के  वरिष्ट संगठनों ने आज जयपुर में आयोजित “संयुक्त स्वाभिमान बैठक ” में भाजपा और कांग्रेस द्वारा मूलनिवासियों के अधिकारों का जो हनन किया जा रहा है उस पर विस्तार से चर्चा की गई |

स्वाभिमान बैठक में सभी समाजों के वरिष्ट , बुद्धिजीवी व् युवा वर्ग शामिल हुवें जिसमे वर्तमान भाजपा मोदी सरकार द्वारा जो कुठाराघात OBC /SC/ST एवं अल्पसंख्यक समाज पर किये जा रहे है जैसे – मोदी की भाजपा सरकार द्वारा आरक्षण के खत्म करने की साजिश – 13 पॉइंट रोस्टर , evm की विश्वसनीयता पर सवाल , बिन मांगे सवर्णों को दिये गए – 10% आरक्षण आदी गंभीर मुद्दों पर चर्चा की गई |

क्या कहा बुद्धिजीवियों ने –

अध्यक्ष्य – आरक्षण अधिकार मंच के राजाराम मील साहब –

ने कहा की आज वर्तमान भाजपा सरकार ने आरक्षण को मजाक बना दिया है आज तक आरक्षण सही तरीके से लागू भी नहीं हुआ है

जबकि भाजपा आरक्षण विरोधी सरकार साबित हुई है आज देश का शिक्षित युवा बेरोजगार घूम रहा है मोदी सरकार आज पूरी तरह से विफल साबित हुई है आज जिन गरीब ,वंचित शोषित वर्ग के लोगों को आरक्षण का लाभ मिलना चाहिए था उन्हें तो सही तरह से मिला भी नहीं है और सवर्णों को बिन मांगे 10 % आरक्षण लाभ दे दिया गया है जो की इस मनुवादी सरकार के पक्षपात को उजागर करता है |

दलित – मुस्लिम एकता मंच अध्यक्ष – आरको साहब 

अब्दुल लतीफ़ आरको साहब ने कहा की आज देश को कुछ मुठ्टी भर लोग अपने अनुसार चला रहे है उन्हें सिर्फ अपने चहीते मित्रमण्डली { अडानी -अम्बानी } को लाभ केसे पहुँचाया जाये इस पर अधिक ध्यान रहता है जबकि देश के 40% बेरोजगार लोग  प्रतिदिन रोजगार की तलाश में शहरों की और जाते है आज देश में साम्प्रदायिक ताकते फन उठाये हुए है आज देश के हालत चिन्त्ता जनक है आज  OBC /SC/ST एवं अल्पसंख्यक समाज के लोग इस विषम परिस्थितियों में है की कांग्रेस – भाजपा में से कौन सही है जबकि वर्तमान में दोनों पार्टिया सांप नाथ – नाग नाथ से कम नज़र नहीं आती है जो कि हमारे बहुसंख्यक समाज के लिए बड़ी चिंता का विषय है |

भीम संसद – पवन देव 

भीम संसद के मीडिया प्रवक्ता पवन देव ने कहा की आज देश की सत्ता में हर स्तर पर मनुवादियों का कब्ज़ा है आज इन मनुवादियों ने संविधान को मजाक बना दिया है आज देश का संविधान ख़तरे में है भारत का संविधान विश्व का सबसे मजबूत संविधान है क्योकिं संविधान निर्माता डॉ बाबा साहब अम्बेडकर ने इस संविधान के माध्यम से देश के सभी वर्गों – दलित ,पिछड़ा ,वंचित अल्पसंख्यक , महिला वर्ग आदी सभी के अधिकारों को सुरक्षित व् संरक्षित किया है जिससे यह पिछड़ा वंचित समाज – मुख्य समाज के साथ मुख्यधारा में आ सके लेकिन आज इस भाजपा मनुवादी सरकार ने बहुसंख्यक 95 % समाज के लोगों पर षड्यंत्र द्वारा कुठाराघात कर अपने चहितों को लाभ देने में मशगूल है जो की देश की जनता के साथ धोखा है  |

युवा सामाजिक कार्यकर्ता – धर्मेन्द्र आँचर –

युवा सामाजिक कार्यकर्ता आँचर ने कहा की आज देश में 5 प्रतिशत सवर्ण समाज के लोगों ने सभी संसाधनों पर कब्ज़ा कर रखा है जबकि मूलनिवासी OBC /SC/ST एवं अल्पसंख्यक समाज आज हाशिये पर खड़ा है आज देश में 5 % लोगों को 10 % आरक्षण  बिन मांगे यह  मनुवादी सरकार ने गिफ्ट कर दिया है जबकि देश की 95 %  जनसंख्या को आज अपने संविधानिक अधिकारों से वंचित रखा गया है आज देश का युवा बेरोजगारी से तंग आ कर आत्महत्या कर रहा है और देश के यह मनुवादी नेता विदेशी दौरों में मस्त है आज हम इन दोनों भाजपा – कांग्रेस के मनुवादी प्रत्याशियों को लोकसभा में वोट नहीं देंगे – यह निर्णय है हमारा |

OBC /SC/ST एवं अल्पसंख्यक समाज के लोगों ने सर्वसहमति से कहा है की आगामी लोकसभा चुनावों में वह मनुवादी प्रत्याशियों  को किसी भी कीमत पर वोट नहीं देंगे व् उनका विरोध करेंगे |

5 मार्च के भारत बंद का समर्थन – 

‘‘संविधान बचाओ संघर्ष समिति’’ द्वारा घोषित दिनांक 5 मार्च 2019 को राष्ट्रव्यापि भारत बंद व राष्ट्रीय आंदोलन को पूर्णतया समर्थन करने का निर्णय लिया गया।

इस “संयुक्त स्वाभिमान बैठक में विभिन्न संगठनों जिसमें आरक्षण अधिकार मंच, सामाजिक अधिकार न्याय मंच, दलित मुस्लिम एकता मंच, श्री कृष्ण यादव विकास संस्थान, अम्बेडकर वेलफेयर सोसाईटी, भीम संसद आदि के प्रमुखों ने भाग दिया

 

%d bloggers like this: