कांग्रेस पार्टी ने आज अपना 133 वां स्थापना दिवस प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में बनाया-

जयपुर | कांग्रेस पार्टी ने आज अपना 133 वां स्थापना दिवस प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में बनाया | इस अवसर पर कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट ने पार्टी का ध्वजा रोहण कर लोगो को कांग्रेस पार्टी की निति -रीती से अवगत कराया |  इस अवसर पर कांग्रेस के सभी बड़े नेता उपस्थित रहे |

ध्वजारोहण कार्यक्रम  के बाद सेमीनार हाल में  विचार गोष्ठी आयोजित की गई जिसमे कांग्रेस पार्टी  के इतिहास व् देश

सेवा कार्यो  पर प्रकाश वरिष्ठ नेतागण द्वारा डाला गया |

कांग्रेस पार्टी  133 वर्षो का सफर तय कर हुवे भारत को एक परमाणु शक्ति के रूप में  स्थापित किया है  कांग्रेस पार्टी न केवल राजनीती पार्टी है अपितु देश के विकास के लिए समर्पित सशक्त  संगठन है  राष्ट्रीय स्वाधीनता आंदोलन व भारतीय लोकतांत्रिक प्रणाली के अभ्युदय से लेकर राष्ट्र की प्रगति व सुदृढ़ता में कांग्रेस पार्टी ने ख़ास  भूमिका निभाई है

 

कांग्रेस स्थापना दिवस पर्व  उन ॠषितुल्य राष्ट्र निर्माताओं के पुण्य स्मरण का दिन भी है जिन्होंने अपना संपूर्ण जीवन कांग्रेस की  विचारधारा को जन -जन  तक में पहुँचाने का कार्य किया है उनके अद्भुत साहस के बदोलत ही आज देश विश्व मंच पर अपना  ख़ास स्थान रखता है | कांग्रेस पार्टी ने अपने शासनकाल में ही देश के विकास के लिए  बुनियादी ढांचा,और ख़ास परियोजनाएं लागु की  जिसके परिणाम स्वरूप  देश आज परमाणु शक्ति संपन्न  है आज देश में उच्च शैक्षणिक संस्थान ,उद्योग, श्वेत क्रांति, दूरसंचार क्रांति , रेलवे सिस्टम आदी आज जो हम  देश में देखते हैं सब कांग्रेस पार्टी की कड़ी  मेहनत और जनता के प्यार और आशीर्वाद से ही संभव हुआ  है |

इस अवसर पर सभी पार्टी कार्यकर्ताओं में महापुरुषों को वदना की और पुष्प अर्पित किये |

 

 

कांग्रेस पार्टी को सता रहा है हार का डर –

राजस्थान में आगामी दिनों में लोकसभा सीटो के लिए तीन जगह उप चुनाव होने है जिसको लेकर कांग्रेस और बीजेपी पूरी तरफ मुस्तेद है लेकिन शायद  हार के डर से कांग्रेस के दो सीटो से दिग्गज नेताओ के पीछे हटने से – कुछ और ही मायने सामने आ रहे है |

जी हाँ हम बात कर रहे है कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष और दिग्गज नेता सचिन पायलेट और अलवर में अपनी ख़ास जगह रखने वाले जिन्हें कांग्रेस के आलाकमान का आशीर्वाद प्राप्त है –  भँवर जितेन्द्र

अब इन आरोपों को दरकिनार नहीं किया जा सकता की जहाँ पर लोकसभा के उप चुनाव होने है

s net

वहां यह दिग्गज नेता ख़ास स्थान रखते है लेकिन अब यह नेतागण अपनी जगह अन्य लोगो के नाम पर सहमती दे रहे है  इसका क्या कारण हो सकता है –  यह इशारा काफी है समझने हेतु –

बीजेपी – बीजेपी के प्रदेश प्रभारी अविनाश राय ने बयान दिया है की कांग्रेस के बड़े नेताओ के उपचुनाव से हाथ खीचना बीजेपी की पहली जीत है  जो उपचुनाव में बीजेपी की जीत सुनिश्चित करती है

गोरतलब है – की अलवर से कांग्रेस पार्टी ने लोकसभा उपचुनाव हेतु अपने प्रत्याशी के रूप में डॉ ,करन सिंह को मैदान में उतारा है तो बीजेपी बाबा बालक नाथ को मैदान में उतार सकती है और उप  चुनाव जीत सकती है क्योकि उपरोक्त सीट पर यादव जाती का वोट बेंक ज्यादा है और इसी जाती कार्ड को खेलते हुए कांग्रेस ने पहले ही यादव जाती के डॉ करन सिंह को मैदान में उतार दिया है |

क्यों मजबूत हो सकते है बाबा बालक नाथ बीजेपी प्रत्याशी के रूप में – बाबा बालक नाथ पूर्व दिवंगत सांसद चाँद नाथ के शिष्य के रुप में जाने जाते है दूसरा बाबा बालक नाथ यादव जाती के ही है तीसरा बाबा बालक नाथ …..बाबा है जो की बीजेपी की ख़ास पसंद  भगवा और हिन्दू एजेंडा का प्रदर्शित करता है | 

 

स्टोरी : { जयपुर } : पवन देव 

{ politico24x7.com/news team } 

%d bloggers like this: