जो विकास 50 साल में नहीं हुआ, हमने 4 साल में कर दिखाया: मुख्यमंत्री राजे

राजस्थान वसुंधरा सरकार की चौथी वर्षगांठ के अवसर कुछ ख़ास  –

मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने कहा कि आज़ादी के बाद जो विकास 50 सालों में भी नहीं हुआ, वे काम हमने { वसुंधरा सरकार } में मात्र चार साल में कर दिखाया  हैं। हमने सकारात्मक सोच, सकारात्मक काम और सकारात्मक ऊर्जा के साथ देश और प्रदेश के विकास का जो संकल्प लिया है उसे हर हाल में पूरा करेंगे।amzn_assoc_ad_type =”responsive_search_widget”; amzn_assoc_tracking_id =”politico24x7-21″; amzn_assoc_marketplace =”amazon”; amzn_assoc_region =”IN”; amzn_assoc_placement =””; amzn_assoc_search_type = “search_widget”;amzn_assoc_width =”auto”; amzn_assoc_height =”auto”; amzn_assoc_default_search_category =”Books”; amzn_assoc_default_search_key =”rajasthan “;amzn_assoc_theme =”light”; amzn_assoc_bg_color =”FFFFFF”; //z-in.amazon-adsystem.com/widgets/q?ServiceVersion=20070822&Operation=GetScript&ID=OneJS&WS=1&Marketplace=IN

मुख्यमंत्री  राजे ने  बुधवार को सरकार की चौथी वर्षगांठ के अवसर पर झुंझुनूं में आयोजित समारोह को संबोधित कर रही थीं। इस अवसर पर उन्होंने झुंझुनूं ज़िले के लिए 2 हज़ार 237 करोड़ के विकास कार्यों का लोकार्पण एवं शिलान्यास करने के साथ ही प्रदेश के विकास के लिए कई महत्वपूर्ण घोषणाएं कीं।

मुख्यमंत्री ने प्रदेशवासियों की खुशहाली के लिए कई  सौगातों की बौछार करते हुए कहा कि चार साल पहले जब हमने सत्ता संभाली थी तो वादा किया था कि राजस्थान का खोया स्वाभिमान हम हर कीमत पर लौटाएंगे। आज हम विकास के कई मायनों में देश के अन्य राज्यों से आगे हैं। हमने दिन-रात मेहनत कर राजस्थान के लिए यह मुकाम बनाया है। उन्होंने कहा कि झुन्झुनूं में राष्ट्रीय खेल संस्थान, पटियाला की तर्ज पर क्रीड़ा विश्वविद्यालय के स्थान पर राज्य क्रीड़ा संस्थान की स्थापना की जायेगी। राज्य की सभी 15 खेल अकादमियों को इससे सम्बद्ध किया जाएगा।

कुंभाराम कैनाल पर पानी हम लाए-

श्रीमती राजे ने कहा कि हमने केवल 4 साल में कुंभाराम कैनाल पर पानी पहुंचाया है। हमने 172 करोड़ रूपए खर्च कर तारानगर से मलसीसर तक पाइपलाइन से पानी पहुंचाया और उसे शोधित कर झुन्झुनूं ज़िले के विभिन्न गांवों और कस्बों को दिया। अब क्षेत्र को प्रतिदिन 15 करोड़ 50 लाख लीटर पानी उपलब्ध होगा।

आज़ादी के बाद पहली बार 6,994 गांवों तक पेयजल और 1,662 तक सड़क पहुंचाई

मुख्यमंत्री ने कहा कि 50 वर्षों में प्रदेश के 16 ज़िलों के 6 हज़ार 994 गांव पेयजल से वंचित रहे जिन्हें हमने पेयजल उपलब्ध कराया। इसी तरह 22 ज़िलों के 1662 गांव जो सड़क से नहीं जुड़ पाए थे, हमने उन्हें सड़कों से जोड़ा। ऐसे कई स्थान जहाँ न सरकारी और न निजी कॉलेज था वहाँ हमने सरकारी कॉलेज खोले।

हर रोज़ 25 किमी सड़क विकास- 

श्रीमती राजे ने कहा कि आज प्रदेश में प्रतिदिन 25 किलोमीटर सड़क विकास हो रहा है। प्रदेश में हर ग्राम पंचायत में आदर्श विद्यालय की हमारी योजना के तहत आज 4 हज़ार 437 आदर्श विद्यालय विकसित हो चुके हैं। साथ ही अंग्रेज़ी माध्यम के विवेकानंद मॉडल स्कूल भी शुरू हो गए हैं।

किसानों को 58 हज़ार करोड़ के ब्याज मुक्त फसली ऋण –

मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों की खुशहाली के लिए हमने हरसंभव प्रयास किए हैं। पिछले चार वर्ष में हमने 58 हज़ार 210 करोड़ रुपए का ब्याज मुक्त फसली ऋण दिया, जो देश में एक रिकॉर्ड है। इस कार्यकाल में हम 75 हज़ार करोड़ रुपए का ब्याज मुक्त फसली ऋण देंगे|

नहीं किया राजनीतिक भेदभाव –

श्रीमती राजे ने कहा कि हमने विकास में कभी भी राजनीतिक भेदभाव नहीं किया। ज़िले के सभी विधानसभा क्षेत्रों में समान रूप से 4 वर्ष के दौरान 5 हज़ार 400 करोड़ के विकास कार्य करवाए | हम झुंझुनूं की 445 युद्ध वीरांगनाओं को विशेष पहचान पत्र जारी कर रहे हैं, जिससे उन्हें राजकीय कार्यों में प्राथमिकता मिल सकेगी। झुंझुनूं ज़िले के पूर्व सैनिकों के 1620 बच्चों को छात्रवृत्ति दी जा रही है। साथ ही द्वितीय विश्व युद्ध में भाग लेने वाले ज़िले के 398 पूर्व सैनिकों एवं विधवाओं को सरकार 4 हज़ार रुपए प्रतिमाह आर्थिक सहायता दे रही है।

श्रीमती राजे ने समारोह में ज़िले के 13 अमर शहीदों की वीरांगनाओं और परमवीर चक्र विजेता शहीद पीरूसिंह के भाई ओमप्रकाश को तलवार भेंट कर सम्मानित किया। उन्होंने मुख्यमंत्री बेटी योजना में 9 प्रतिभाशाली बालिकाओं को सम्मानित किया तथा भामाशाह पशुधन बीमा योजना के तहत 2 पशुपालकों को 40 हज़ार का चैक भेंट किया। साथ ही प्रतिभावान छात्राओं को झुंझुनू ज़िले की 13 बालिकाओं को स्कूटी की चाबी एवं लैपटॉप देकर उत्साहवर्धन किया।

ज़िला विकास पुस्तिका का विमोचन एवं प्रदर्शनी का अवलोकन किया

समारोह में सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग द्वारा प्रकाशित ज़िला विकास पुस्तिका का विमोचन किया गया। मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग द्वारा लगाई गई सुराज के चार साल प्रदर्शनी का भी अवलोकन किया। समारोह को सम्बोधित करते हुए सैनिक कल्याण सलाहकार समिति के अध्यक्ष प्रेम सिंह बाजौर ने मुख्यमंत्री का उत्साह के साथ स्वागत किया।

वीरांगनाओं को किया सम्मानित

मुख्यमंत्री ने अमर शहीदों की वीरांगना श्रीमती शारदा देवी, श्रीमती संतोष देवी, श्रीमती अलहमदो बानो, श्रीमती ज्ञानकंवर, श्रीमती सुशीला देवी, श्रीमती सुमन देवी, श्रीमती बबीता पूनियां, श्रीमती विमल कंवर,  श्रीमती रूकमा देवी, श्रीमती संजु देवी, श्रीमती सुनिता देवी, श्रीमती शारदा देवी एवं श्रीमती सुगनी देवी को सम्मानित किया।

 

राजस्थान : सरकारी कर्मचारियों को सख्त हिदायत –

  “सरकारी कर्मचारियों की अभिव्यक्ति ……….

जयपुर। सोशल मीडिया  प्लेटफार्म आजकल भड़ास निकालने का माध्यम बन गया है। लेकिन अब सोशल मीडिया पर कुछ भी पोस्ट करना या शेयर करना सरकारी कर्मचारियों को महंगा पड़ सकता है  | इसके लिए कार्मिक विभाग ने सेवा नियमों के तहत एक सर्कुलर जारी कर दिया है।

सोशल मीडिया में सरकार की आलोचना या इमेज खराब करने वाली पोस्ट करने वाले सरकारी कर्मचारी-अफसरों के खिलाफ अब कड़ी कारवाई  होगी। कार्मिक विभाग ने सेवा नियमों का हवाला देते हुए ए

क सर्कुलर जारी किया है। जिसमे कर्मचारी अफसरों को सरकार, पार्टी, किसी व्यक्ति या संस्थान के खिलाफ अभ्रद  टिप्पणी करने और सरकार के किसी कदम या नीति के आलोच

ना करने पर कड़ी कार्रवाई का सामना करना पड़ेगा।

सर्कुलर की चेतावनी से यह भी साफ है-  कि सोशल मीडिया में आलोचना वाली पोस्ट को शेयर भी किया

तो भी कार्रवाई होगी। इन आदेशों का उल्लंघन करने वाले कर्मचारी अफसरों के खिलाफ कड़ी अनुशासनात्मक कार्रवाई करने की चेतावनी दी है। जानकारी के अनुसार इसका मुख्य कारण बीते दिनों सरकारी कर्मचारीयों द्वारा सोशल मीडिया पर सरकार पर गम्भीर आरोप लगाने का मामला है।

क्या है नियम – 
सरकारी कर्मचारियों के लिए राजस्थान सिविल सेवा आचरण नियम 1971 के नियम 3,4 और 11 में पहले से ही यह प्रावधान है। कि कर्मचारी सरकार की नीतियों की आलोचना नहीं कर सकते है। ऐसा करने पर उनके खिलाफ अनुशासनात्मकर कार्रवाई हो सकती है।

प्रधानमंत्री मोदी का राजस्थान दौरा – कुछ ख़ास

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजस्थान में  15 हजार करोड़ रुपये की सड़क परियोजना को दिखाई हरी झंडी -“

राजस्थान | प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजस्थान में  15 हजार करोड़ रुपये की सड़क परियोजना का  शुभ – प्रारम्भ  किया | इनमे से लगभग 6000 करोड़ की परियोजना तय समय में पूरी हो चुकी है जिसे प्रधानमंत्री मोदी ने आज उदयपुर से जनता को समर्पित कर दिया |

मंच से मोदी जी किया  राजस्थानी  में संबोधन – 

मोदी जी ने राजस्थान की जनता को राजस्थानी भाषा खंभा -खन्नी   कहते हुए अपनी बात शुरू की | जनता ने मोदी – मोदी के नारों से उनका स्वागत किया |

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उदयपुर पहुंचकर हाइवे प्रॉजेक्ट्स का जायजा लिया। इस दौरान उनके साथ केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी और गृह मंत्री राजनाथ सिंह  राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह और मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे उपस्थित रहे |

प्रधानमंत्री  मोदी ने  कुल  873 किमी लंबाई की 11 पूरी हो चुकी राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं को  देश को समर्पित किया । ये परियोजनाएं , भिलवाड़ा, , बाड़मेर , सिकर, चुरू,नागौर, बारमेर राजसमंद, जोधपुर और जैसलमेर में हैं। इन 11 परियोजनाओं में कोटा में चम्बल नदी पर बना छह लेन वाला केबल स्टेड ब्रिज भी शामिल है।

क्यों ख़ास है राजस्थान का दौरा –

राजस्थान में आगामी 2018 में विधान सभा चुनाव होने है जिसे लेकर बीजेपी कोई कसर  नहीं छोड़ना  चाहती , क्योकि पिछले कई चुनावो में देखने को मीला है की राजस्थान में प्रत्येक 5 साल बाद सरकार बदल जाती है | इससे पहले बीजेपी के राष्टीय अध्यक्ष अमित शाह ने भी दौरा किया था | जिसमे अमित शाह ने बूथ स्तर के कार्यकता से लेकर सांसदो तक  से मुलाकात की थी ,अमित शाह ने कहा था की इस बार आगामी चुनाव ओ में राजस्थान में बीजेपी की ही सरकार बनेगी और उसको लेकर वह निश्चित है |  लेकिन आज यह बात पूर्ण सही नहीं बैठती  |

क्या है राजस्थान में जमीन आधार

वर्तमान में राजस्थान में बीजेपी की वसुंधरा सरकार है जो की पूर्ण बहुमत से है – लेकिन सरकार के  कामकाज को लेकर कुछ संघटनो  में नाराजगी है | इसके साथ ही शिक्षा मित्र , दलित संघटन , कुछ मुद्दों को लेकर नाराज है जिसका असर आगामी चुनावओ

में देखने को मील सकता है |

मोदी जी का  ट्वीट-

पीएम मोदी ने रात ट्वीट  किया था कि कल मैं उदयपुर में एक जनसभा को संबोधित करूंगा. मैं प्रताप गौरव केंद्र भी जाऊंगा और महान महाराणा प्रताप को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करूंगा |

राजस्थान के उदयपुर में जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि बाढ़ पीड़ितों के साथ संकट की इस घड़ी में भारत सरकार  सदेव उनके साथ है। पहले के लोग सिर्फ घोषणा करते थे अमल नहीं, लेकिन हम काम करने में यकीन करते हैं।

सीएम वसुंधरा ने अपने संबोधन में प्रदेश में चलाई जा रही सरकारी योजनओं की जानकारी देते हुए प्रधानमंत्री को प्रदेश में किए जा रहे विकास कार्यों से अवगत कराया , राजे ने बताया कि प्रधानमंत्री जी की लोकप्रिय ” उज्ज्वला योजना के तहत प्रदेश की 21 लाख महिलाओं को गैस कनेक्शन दिए जा चुके हैं  “

सीएम राजे ने पीएम मोदी से 4 शहरों को स्मार्ट सिटी के लिए प्रदेश को दिए गए पैसे के लिए आभार प्रकट किया  उन्होंने पीएम को अगले साल मार्च तक पूरे प्रदेश को ओडीएफ बनाने की बात कही , उन्होेंने प्रदेश में प्रदेश में महाराणा प्रताप इंडियन रिजर्व बटालियन के गठन का काम पूरा करने की बात भी कही |

 

%d bloggers like this: