केजरीवाल का माफ़ी मांगने का सिलसिला लगातार जारी

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा मानहानि के मामलों में माफ़ी मांगने का सिलसिला लगातार ज़ारी है।इसके लिए वह अपनी पार्टी के नेताओं के निशाने पर आ गए हैं। सोशल मीडिया में उनकी सिलसिलेवार माफियों का मजाक भी बनाया जा रहा है। ताजा मामला भाजपा नेता और केन्दीय मंत्री नितिन गडकरी से माफ़ी मांगे का है। गडकरी को दिए अपने माफीनामे में केजरीवाल ने लिखा है, ‘मुझे अपने उस बयान के लिए बेहद दुःख है, मैं इस दुःख को प्रमाणित नहीं कर सकता पर जानता हूँ कि इससे आप को दुख पहुंचा है।

मैं अफसोस जाहिर करता हूं। हम इस घटना को पीछे छोड़ दें और अदालती कार्यवाही को बंद करें। हमें अपनी ऊर्जा का इस्तेमाल परस्पर सम्मान की भावना के साथ देश के लोगों की सेवा के लिए करना चाहिए।बताते चलें कि गडकरी ने अपना नाम केजरीवाल द्वारा ‘भ्रष्ट राजनेताओं’ की सूची में डालने के बाद 2014 मे उनके खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर किया था। केजरीवाल पर एक के बाद एक कई राजनेताओं ने मानहानि का मामला दर्ज किया है, जिसमें वित्त मंत्री अरुण जेटली व दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित भी शामिल हैं।

माफ़ी मुख्यमत्री बनते जा रहे केजरीवाल

गौर तलब है कि पंजाब के पूर्व मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया से माफी मांगने के कुछ दिनों बाद ही अब अरविंद केजरीवाल ने पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल के बेटे अमित सिब्बल और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी से माफी मांगी है। अपने इस कदम को सही ठहराने के लिए उन्होंने ट्वीटर हैंडल पर ‘आप एक्सप्रेस’ का एक ट्वीट रीट्वीट किया है। पार्टी का मुखपत्र कहे जाने वाले आप एक्सप्रेस ने अखबार एक आर्टिकल अपलोड किया है जिसमें लिखा है “अदालत या जनता की अदालत, केजरीवाल ने चुना दूसरा विकल्प।” पार्टी का मुखपत्र कहे जाने वाले आप एक्सप्रेस ने एक अन्य ट्वीट में कहा है कि केजरीवाल का यह कदम, “दो कदम पीछे जाकर दिल्ली को चार कदम आगे ले जाने की चाहत है  गौरतलब है कि बीते सप्ताह केजरीवाल ने शिरोमणि अकाली दल नेता बिक्रम मजीठिया पर बिना साक्ष्यों के मादक पदार्थो के व्यापार में शामिल होने के आरोपों पर उनसे लिखित मांफी मांग ली थी। इस माफीनामे से नाराज आप की पंजाब इकाई के प्रमुख भगवंत मान ने त्यागपत्र दे दिया था ।

प्रधानमंत्री मोदी का राजस्थान दौरा – कुछ ख़ास

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजस्थान में  15 हजार करोड़ रुपये की सड़क परियोजना को दिखाई हरी झंडी -“

राजस्थान | प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजस्थान में  15 हजार करोड़ रुपये की सड़क परियोजना का  शुभ – प्रारम्भ  किया | इनमे से लगभग 6000 करोड़ की परियोजना तय समय में पूरी हो चुकी है जिसे प्रधानमंत्री मोदी ने आज उदयपुर से जनता को समर्पित कर दिया |

मंच से मोदी जी किया  राजस्थानी  में संबोधन – 

मोदी जी ने राजस्थान की जनता को राजस्थानी भाषा खंभा -खन्नी   कहते हुए अपनी बात शुरू की | जनता ने मोदी – मोदी के नारों से उनका स्वागत किया |

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उदयपुर पहुंचकर हाइवे प्रॉजेक्ट्स का जायजा लिया। इस दौरान उनके साथ केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी और गृह मंत्री राजनाथ सिंह  राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह और मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे उपस्थित रहे |

प्रधानमंत्री  मोदी ने  कुल  873 किमी लंबाई की 11 पूरी हो चुकी राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं को  देश को समर्पित किया । ये परियोजनाएं , भिलवाड़ा, , बाड़मेर , सिकर, चुरू,नागौर, बारमेर राजसमंद, जोधपुर और जैसलमेर में हैं। इन 11 परियोजनाओं में कोटा में चम्बल नदी पर बना छह लेन वाला केबल स्टेड ब्रिज भी शामिल है।

क्यों ख़ास है राजस्थान का दौरा –

राजस्थान में आगामी 2018 में विधान सभा चुनाव होने है जिसे लेकर बीजेपी कोई कसर  नहीं छोड़ना  चाहती , क्योकि पिछले कई चुनावो में देखने को मीला है की राजस्थान में प्रत्येक 5 साल बाद सरकार बदल जाती है | इससे पहले बीजेपी के राष्टीय अध्यक्ष अमित शाह ने भी दौरा किया था | जिसमे अमित शाह ने बूथ स्तर के कार्यकता से लेकर सांसदो तक  से मुलाकात की थी ,अमित शाह ने कहा था की इस बार आगामी चुनाव ओ में राजस्थान में बीजेपी की ही सरकार बनेगी और उसको लेकर वह निश्चित है |  लेकिन आज यह बात पूर्ण सही नहीं बैठती  |

क्या है राजस्थान में जमीन आधार

वर्तमान में राजस्थान में बीजेपी की वसुंधरा सरकार है जो की पूर्ण बहुमत से है – लेकिन सरकार के  कामकाज को लेकर कुछ संघटनो  में नाराजगी है | इसके साथ ही शिक्षा मित्र , दलित संघटन , कुछ मुद्दों को लेकर नाराज है जिसका असर आगामी चुनावओ

में देखने को मील सकता है |

मोदी जी का  ट्वीट-

पीएम मोदी ने रात ट्वीट  किया था कि कल मैं उदयपुर में एक जनसभा को संबोधित करूंगा. मैं प्रताप गौरव केंद्र भी जाऊंगा और महान महाराणा प्रताप को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करूंगा |

राजस्थान के उदयपुर में जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि बाढ़ पीड़ितों के साथ संकट की इस घड़ी में भारत सरकार  सदेव उनके साथ है। पहले के लोग सिर्फ घोषणा करते थे अमल नहीं, लेकिन हम काम करने में यकीन करते हैं।

सीएम वसुंधरा ने अपने संबोधन में प्रदेश में चलाई जा रही सरकारी योजनओं की जानकारी देते हुए प्रधानमंत्री को प्रदेश में किए जा रहे विकास कार्यों से अवगत कराया , राजे ने बताया कि प्रधानमंत्री जी की लोकप्रिय ” उज्ज्वला योजना के तहत प्रदेश की 21 लाख महिलाओं को गैस कनेक्शन दिए जा चुके हैं  “

सीएम राजे ने पीएम मोदी से 4 शहरों को स्मार्ट सिटी के लिए प्रदेश को दिए गए पैसे के लिए आभार प्रकट किया  उन्होंने पीएम को अगले साल मार्च तक पूरे प्रदेश को ओडीएफ बनाने की बात कही , उन्होेंने प्रदेश में प्रदेश में महाराणा प्रताप इंडियन रिजर्व बटालियन के गठन का काम पूरा करने की बात भी कही |

 

%d bloggers like this: