बिना डीजे और अतिशबाजी के होगा नये साल का जश्न, जानें पूरी खबर

प्रदेशवासियों को इस बार नये साल का जश्न बहुत सावधानी और सर्तकता के साथ अपने घर पर ही मानाना पड़ेगा। कोरोना की मार झेल रहा प्रदेश नये साल के जश्न के दिन किसी प्रकार की लापरवाही नहीं बरतना चाहता है इसी बात को ध्यान में रखते हुए प्रदेश सरकार ने 31 दिसंबर की रात को डीजे और आतिशबाजी पर रोक लगाने का फैसला किया है।

इसके साथ नववर्ष के मौके पर होने वाले सभी प्रकार की कार्यक्रमों पर भी रोक लगा दी है और होटल संचालकों को इस प्रकार के आयोजन नहीं करने के निर्देश जारी कर दिये है। अगर आप भी हर साल की तरह नये साल पर कुछ मस्ती या धमाल करने की तैयारी कर रहे है तो आप अपने प्लान को बदल दें और घर पर ही अपने परिवार के साथ रहे नही तो आपको जेल की हवा भी खानी पड़ सकती है।


31 दिसंबर की रात को कर्फ्यू होगा और आपने सरकार के नियमों को उल्लंघन किया तो आपको बहुत ज्यादा परेशानी उठानी पड़ सकती है। सरकार इस प्रकार की पाबंदी से उसको बहुत बड़ा राजस्व का नुकसान भी उठाना पड़ रहा है लेकिन जनता की सुरक्षा के मध्यनजर वह इस प्रकार का फैसला लेने पर मजबूर है। नये साल के मौके पर सभी लोगों को रोजगार के साथ कुछ अतिरिक्त पैसा और अन्य आय मिलती है जो इस बार नहीं मिलेगी। हालाकि प्रदेशवासियों को नये साल की शुरूआती सप्ताह में कोरोना की वैक्सीन भी मिल सकती है।

कोरोना काल के कारण इस बार कई बड़े त्योहार बहुत ही साधारण तरीके से मनाये गये थे और अब नये साल का जश्न भी उसी तरह मानाना होगा। सरकार ने सभी लोगों से अपील की है कि वह लोगों की सेहत का ख्याल रखते हुए नये वर्ष के मौके पर आतिशबाजी नहीं करें तो सभी के लिए अच्छा होगा।

नए साल के मौके पर भारतीयों को मिल सकता है कोरोना के टीके का तोहफा!

पीछले एक साल से कोरोना की मार झेल रही दुनिया को जल्द ही कोरोना से मुक्ति मिलती हुई नजर आ रही है। ब्रिटेन में तो इसकी रोकथाम के लिए टीकाकरण की प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है और सबसे पहला टीका एक 90 वर्षीय महिला को ​लगाया गया है हालाकि इस टीके के 100 प्रतिशत उपचार की गांरटी नहीं लेकिन काफी हद तक यह कोरोना को रोकने में कारगर साबित हो सकता है।

दुनिया भर के कई देशों ने ऐसे टीक तैयार कर लिये है और इसमें भारत का नाम भी शामिल है और खबरों के अनुसार बताया जा रहा है नई साल की शुरूआत होने के साथ ही भारत में भी टीकाकरण की शुरूआत हो सकती है। इसके लिए सभी राज्यों को योजना बनाने के निर्देश दिये जा चुके है और इसी के चलते भारत के लोगों ने थोड़ी राहत भरी सांस ली है।

 

हालाकि प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि अभी भी लोगों को सावधनी रखने की जरूरत है और बचाव ही इसका एकमात्र उपाय है। इस वायरस के कारण कई देशों की आर्थिक स्थिति इतनी खराब हो गयी है ​कि वहां लोगों को भयंकर बेरोजगारी के साथ कई प्रकार की समस्याओं से जूझना पड़ रहा है। भारत में दुनिया का सबसे सस्ता टीका तैयार करने की कोशिश की जा रही है अगर ऐसा होता है तो भारत अपने देश के साथ दुनिया के कई देशों को यह टीका उपलब्ध करवा सकता है।

कोरोना मरीजो का आंकड़ा:—

1.भारत में कुल कोरोना मरीजों का आंकड़ा 1 करोड़ के नजदीयक जा पहुंचा है। लेकिन भारत के लिए राहत की बात है कि इनमें से लगभग 92 लाख से ज्यादा लोग ठीक हो चुके हैं।

2. करीब 1.50 मरीज ऐसे रहे जिनकी संक्रमण से मौत हो चुक है और 4 लाख के लगभग मरीजों का अभी इलाज चल रहा है।

3. एक्टिव केस के मामले में भारत 8वें नंबर पर है। अब भारत दुनिया का 8वां देश है जहां सबसे ज्यादा एक्टिव केस हैं जिनका इलाज चल रहा है।

 “शराब छोड़ो ………..दूध अपनाओं ” के साथ नववर्ष की शुरुआत –

समाज के लिए सकारात्मक पहल –   शराब छोड़ो ………..दूध अपनाओं

जयपुर | आदर्श नगर विधानसभा क्षेत्र के युवा भाजपा कार्यकर्ताओं ने नववर्ष के उपलक्ष्य पर सूरजपोल बाजार में सभी नागरिको को” शराब छोड़ो ……………..दूध अपनाओ” की विनम्र अपील के साथ सभी लोगो को दूध पिलाकर नववर्ष की शुभ-  कामनाये दी |

भाजपा के सक्रिय कार्यकर्त्ता पंकज शर्मा – ने इस अवसर पर कहा की आज युवा वर्ग नववर्ष की शुरुआत शराब और नशीले प्रदार्थ के साथ करता है जो की गलत है  जिससे व्यक्ति के शरीर को तो नुकसान पहुँचता ही है , समाज पर भी गलत प्रभाव पड़ता है ,आज एक नई सकारात्मक मुहीम के साथ हम सभी लोगो को शराब छोड़ो -दूध अपनाओं  के सन्देश के साथ एक नई पहल की है इसके साथ ही 

मोदी जी के सपने को साकार करने हेतु आज सभी कार्यकर्त्ता “स्वच्छ भारत अभियान  और बेटी बचाव ……. बेटी  पढ़ाओ  ” की मुहीम को भी साकार कर रहे है | सूरजपोल बाजार व्यापर मंडल के सभी लोगो ने इस मुखिम को सराहा और शपथ ली की समाज में शराब

के प्रतिबन्ध के लिए बड़े स्तर पर जागरूकता अभियान चलायेगे और जिससे एक स्वस्थ समाज का निर्माण हो सके |

%d bloggers like this: