नोटबंदी पर फिर राहुल गांधी ने साधा निशाना, कहा…

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज कहा कि नोटबंदी एक ‘अच्छी पहल नहीं’ थी। यदि वह देश के प्रधानमंत्री होते तो नोटबंदी के प्रस्ताव को ‘कचरे के डिब्बे’ में फेंक देते। गांधी दक्षिण एशियाई देशों की पांच दिन की यात्रा पर हैं। आज उन्होंने मलेशिया यात्रा शुरु की और इस दौरान कुआलालंपुर में भारतीय समुदाय के लोगों के साथ बातचीत की।

उनसे पूछा गया था कि वह नोटबंदी को कैसे अलग तरह से लागू करते। इस पर गांधी ने कहा, “यदि मैं प्रधानमंत्री होता और कोई मुझे नोटबंदी करने के प्रस्ताव की फाइल देता तो मैं उसे कचरे के डिब्बे में, कमरे से बाहर या कबाडख़ाने में फेंक देता।

उन्होंने कहा, “मैं इस तरह इसे( नोटबंदी) लागू करता क्योंकि मेरे हिसाब से नोटबंदी के साथ ऐसा ही किया जाना चाहिए क्योंकि यह किसी के लिए भी अच्छी नहीं है।” उनका इससे जुड़ा एक वीडियो कांग्रेस पार्टी ने अपने ट्विटर हैंडल पर शेयर किया है। गौरतलब है कि नोटबंदी की घोषणा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आठ नवंबर 2016 को की थी। इसमें उन्होंने 500 और 1,000 रुपये के पुराने नोट बंद कर दिए गए थे। कांग्रेस पार्टी ने इसका मुखर विरोध किया था।

मरुधरा में होगी मोदी की रैली, पीले चावल बांट कर लोगों को किया आमंत्रित

जयपुर। भारतीय जनता पार्टी‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’प्रकल्प की ओर से आठ मार्च को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की झुंझूनूं में आयोजित रैली को सफल बनाने के लिये घर घर पीले चावल बांट कर लोगों को आमंत्रित किया जायेगा।

प्रकल्प की प्रदेश प्रमुख मीना आसोपा की अध्यक्षता में आज यहां संपन्न हुयी बैठक में यह निर्णय लिया गया। बैठक में प्रस्तावित रैली में प्रकल्प के कार्यकर्ताओं एवं पदाधिकारियों को अधिक से अधिक संख्या में पहुँचने का आग्रह किया व प्रत्येक जिले में पेंटिंग प्रतियोगिता, वाहन रैली, खेल-कूद प्रतियोगिता, वाद-विवाद प्रतियोगिता आदि बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओं का सन्देश देने वाले कार्यक्रम आयोजित करने के निर्देश दिये।

 

प्रकल्प के सह-प्रमुख आशीष गुप्ता ने कहा कि रैली को सफल बनाने के लिये चार मार्च को सीकर एवं झुन्झूनूं में प्रदेश की बैठक एवं 7 मार्च को झुन्झुनूं में वाहन रैली निकालने के लिये पीले चावल बाँटकर लोगों को सभा में आने के लिये आमंत्रित किया जायेगा।

बैंकिंग घोटाले को लेकर कांग्रेस ने दिया बड़ा बयान, कहा…

नई दिल्ली। कांग्रेस ने सार्वजनिक क्षेत्र के पंजाब नेशनल बैंक में हुए घोटाले को आजादी के बाद का सबसे बड़ा बैंकिंग घोटला करार देते हुए आरोप लगाया कि इसके मुख्य आरोपी के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ संबंध हैं और इसी कारण उसके खिलाफ कार्रवाई नहीं की गई तथा उसे विदेश भागने का मौका दिया गया। कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख रणदीपसिंह सुरजेवाला ने यहां पार्टी मुख्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि प्रधानमंत्री को इस घोटाले की पूरी जानकारी थी।

उन्होंने कहा कि इस मामले में 26 जुलाई 2016 को प्राथमिकी दर्ज की गई थी। प्रधानमंत्री कार्यालय ने इस शिकायत को संज्ञान में लिया और इसे कार्रवाई के लिए भेज भी दिया गया, इसके बावजूद इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं हुई। उन्होंने कहा कि इस घोटाले से पूरी बैंकिंग व्यवस्था चरमरा गई है। अब तक यह 20 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा का घोटाला साबित हो चुका है। मामले के मुख्य आरोपी आभूषण डिजायनर नीरव मोदी पर 11200 करोड़ रुपए का घोटाला करने का आरोप है, जबकि उसके मामा मेहुल चौकसी की कंपनी के खिलाफ 8872 करोड़ रुपए के घोटाले का खुलासा हुआ है। इस तरह से 20 हजार करोड़ रुपए से अधिक का यह घोटाला सामने आ चुका है।

प्रवक्ता ने कहा कि इस घोटाले में सिर्फ एक ही बैंक शामिल नहीं है। इसमें पंजाब नेशनल बैंक के अलावा इलाहाबाद बैंक, ऐक्सिस बैंक, भारतीय स्टेट बैंक, यूनियन बैंक, बैंक ऑफ बड़ोदा, इंडियन ओवरसीज बैंक, कॉरपोरेशन बैंक, आंध्रा बैंक, विजया बैंक, सेंट्रल बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, आईडीबीआई बैंक, एक्सपोर्ट एम्पोर्ट बैंक ऑफ इंडिया भी शामिल हैं और विशेषज्ञों का कहना है कि सारे मामले की जांच होने के बाद यह कम से कम 30 हजार करोड़ रुपए का घोटाला होगा।

CM राजे ने की प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात, महत्वपूर्ण विषयों पर की चर्चा

नई दिल्ली। राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने शनिवार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से नई दिल्ली में मुलाकात की। जानकारी के अनुसार प्रधानमंत्री के साथ राजे की यह शिष्टाचार भेंट थी।

 

मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री के साथ राजस्थान से जुडे़ कई महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा की। उन्होंने प्रधानमंत्री को नाथद्वारा श्रीनाथजी की पिछवाई भी भेंट की। इससे पहले मुख्यमंत्री ने आज राजधानी जयपुर आए उपराष्ट्रपति वैकैंया नायडू का एयरपोर्ट पर गुलदस्ता भेंट कर स्वागत किया।

%d bloggers like this: