शहरी निकाय चुनाव: बीजेपी का सूपड़ा साफ,कांग्रेस को मिली संजीवनी तो निर्दलीय ने मारी बाजी

राजस्थान के शहरी निकाय चुनाव में कांग्रेस ने सबसे ज्यादा वार्डों में जीत दर्ज करके अपनी साख बचाने में कामयाब रही तो दूसरी तरफ बीजेपी को करारी हार का सामना करना पड़ा है। इन चुनावों में कांग्रेस नंबर एक पर रही तो दूसरे नंबर पर निर्दलीय प्रत्याशी रहे हैं जबकि बीजेपी तीसरे नंबर पर पहुंच गई है। जानकरों की माने तो शहरी इलाका बीजेपी का परंपरागत वोट बैंक माना जाता है इस चुनाव में
जनता ने सभी जानकारों को फेल कर दिया है।


राजस्थान के 12 जिलों की 50 नगर निकाय में 43 नगर पालिका और 7 नगर परिषद के 1775 वार्डों के परिणाम 2020:

1. कांग्रेस को 620 वार्डों में जीत हासिक करके नंबर की पार्टी बनी है।
2. निर्दलीयों को 595 वार्ड जीतकर दूसरे स्थान पर रहे।
3. बीजेपी को 548 वार्डों में जीत मिली, जिसके कारण वह तीसरे स्थान पर चली गयी।

इन चुनावों में कांग्रेस नबंर एक पार्टी तो लेकिन वह केवल अपने दम पर 16 निकायों में अपना अध्यक्ष बना सकती है जबकि उसके 5 विधायक के दम पर ही वह अकेली बोर्ड बनाने कामयाब रही है। हालाकि पार्टी के 18 विधायकों और 4 मंत्रियों के क्षेत्रों में निकाय चुनाव में कांग्रेस बहुमत से दूर रह गई जहां निर्दलीयों का बोलबाला ज्यादा रहा है। इसके बाद भी कांग्रेस 40 बोर्ड बनाने का दावा कर रही है।


अगर बात करें 2015 के 50 निकाय चुनाव की तो उस समय 34 शहरों में बीजेपी अपना कब्जा जमाया तो और कांग्रेस पिछले साल की तुलना में सिर्फ 4 सीटे अधिक जीतने में कामयाब हुई है। लेकिन इस बार प्रदेश के तीस ऐसे निकाय हैं, जहां निर्दलीय अहम भूमिका में दिखते हुए नजर आ रहे हैं।

संसाधनों की उपलब्धता पर ट्रोमा सेंटर खोले जाएंगे : कालीचरण सराफ

जयपुर। राजस्थान के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री कालीचरण सराफ ने कहा कि वित्तीय संसाधन उपलब्ध होने पर आवश्यकतानुसार ट्रोमा सेंटर स्थापित किए जाएंगे। सराफ ने शुक्रवार को विधानसभा में प्रश्नकाल में विधायक मामन सिंह के प्रश्न का जवाब देते हुए कहा कि भिवाड़ी की विशेष परिस्थितियों को देखते हुए वित्तीय संसाधनों की उपलब्धता के आधार पर वहां ट्रोमा सेंटर खोलने पर विचार किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि भिवाड़ी में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के स्थानांतरण के संबंध में सीएमएचओ से रिपोर्ट आ गई है एवं जिला कलेक्टर की रिपोर्ट अपेक्षित है। रिपोर्ट के प्राप्त होने के बाद ही इस संबंध में उचित निर्णय लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि ट्रोमा सेन्टर खोलने के मापदण्डों के मुताबिक 2 ट्रोमा सेन्टरों के मध्य 100 किलोमीटर की दूरी होना है। भिवाड़ी से 80 किलोमीटर दूर अलवर में और 75 किलोमीटर दूर बहरोड में ट्रोमा सेन्टर स्थापित हैं।अत: वर्तमान में भिवाड़ी में ट्रोमा सेन्टर खोलने का कोई प्रस्ताव विचाराधीन नहीं है। उन्होंने कहा कि सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र भिवाड़ी पर ब्लड स्टोरेज यूनिट के लिए 20 फरवरी 2018 को ही लाइसेंस जारी हुआ है।

ब्लड बैंक खोलने हेतु ब्लड की 2 हजार यूनिट वार्षिक उपभोग होना है।मापदण्ड पूर्ण होने पर भिवाड़ी में ब्लड बैंक खोलने पर विचार किया जाएगा। विधायक मामन सिंह द्वारा पर्ची काउंटर बढाने और पद रिक्त होने के सवाल पर उन्होंने कहा कि सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र भिवाड़ी में वर्ष 2017 में औसत ओपीडी लगभग 512 प्रतिदिन रहा है।संस्थान पर 1 पर्ची काउंटर संचालित है, जिस पर पर्ची काटने वाले 2 कर्मचारी कार्यरत हैं। उन्होंने कहा कि वित्तीय साल 2018-19 में पर्ची काउंटर को कम्प्यूटरीकृत कर अतिरिक्त पर्ची काउंटर खोलने के प्रयास किए जाएंगे।उन्होंने कहा कि भिवाड़ी में चिकित्सकों के कुल 12 पद स्वीकृत है, वर्तमान में 6 चिकित्सक कार्यरत है। उन्होंने कहा कि सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र भिवाड़ी में अराजपत्रित कर्मचारियों के कुल 27 पद स्वीकृत है, वर्तमान में 26 कार्मिक कार्यरत है।

विधायक कल्याण सिंह के निधन के बाद सदन की कार्रवाही एक दिन के लिए स्थगित….

जयपुर। भाजपा विधायक कल्याण सिंह चौहान के निधन के बाद आज राजस्थान विधानसभा की कार्यवाही एक दिन के लिये स्थगित कर दी गई। चौहान पिछले ढाई वर्ष से कैंसर की बीमारी से जूझ रहे थे। विधानसभा अध्यक्ष कैलाश मेघवाल ने शोक संतप्त परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की। उनके सम्मान में सदन में दो मिनट का मौन रखा गया उसके बाद सदन की कार्यवाही पूरे दिन के लिये स्थगित कर दी गई। चौहान नाथद्वारा विधानसभा क्षेत्र से भाजपा के विधायक थे और उन्होंने कांग्रेस नेता सी पी जोशी को एक वोट से हराया था।

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने नाथद्वारा विधायक कल्याण सिंह के निधन पर संवेदना व्यक्त करते हुए कहा कि चौहान एक सजग जनप्रतिनिधि थे। उन्होंने हमेशा गरीबों पिछड़ों सहित समाज के सभी वर्गों के कल्याण के लिये आवाज उठाई। उनका निधन हम सभी के लिये अपूरणीय क्षति है। मुख्यमंत्री ने ईश्वर से दिवंगत की आत्मा की शांति तथा शोक संतप्त परिजनों को यह आघात सहन करने की शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना की।

भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष अशोक परनामी ने नाथद्वारा विधायक कल्याण भसह चौहान के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि चौहान का निधन पार्टी के लिये एक क्षति है। पिछले वर्ष अलवर से भाजपा सांसद महंत चांदनाथ, अजमेर से भाजपा सांसद सांवरलाल जाट और मांडलगढ़ से विधायक कीर्ति कुमारी का बीमारी के चलते निधन हो गया था।

Source: Google 

नवलगढ़ MLA डॉ. राजकुमार शर्मा ने दिया इस्तीफा

जयपुर। डॉक्टरों की हड़ताल के चलते  मरीजो की मौंत को लेकर नवलगढ़ से निर्दलीय विधायक डॉ. राज कुमार शर्मा ने अपनी घोषणा के मुताबिक विधानसभा अध्यक्ष कैलाश मेघवाल को आज अपना इस्तीफा सौंप दिया। विधानसभा अध्यक्ष कैलाश मेघवाल ने डॉ. शर्मा का इस्तीफा अभी स्वीकार नहीं किया है। उन्होंने संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि निर्दलीय विधायक डॉ. राज कुमार शर्मा का इस्तीफा मुझे मिला है। मैंने उनकी पूरी बात सुनी है।

जो मुद्दे उन्होंने मेरे समक्ष उठाये हैं, उन्हें मैं सरकार तक पहुंचाऊंगा और इस्तीफे का अध्ययन करने के बाद इस पर कोई निर्णय लूंगा। राज्य में बीते दिनों चिकित्सकों की हड़ताल के लिए प्रदेश सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए डॉ. शर्मा ने इस संबंध में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री काली चरण सराफ से इस्तीफा मांगा था और अपनी इसी मांग को लेकर उन्होंने विधानसभा अध्यक्ष को इस्तीफा सौंपा।

गौरतलब है कि प्रदेश के पूर्व चिकित्सा एवं स्वास्थ्य राज्य मंत्री डॉ. राज कुमार शर्मा ने चिकित्सकों के दो बार हड़ताल पर चले जाने के लिये सरकार की संवादहीनता और चिकित्सकों पर उसकी दमनात्मक कार्वाई को जिम्मेदार ठहराते हुए विधानसभा से इस्तीफा देने की घोषणा की थी।

%d bloggers like this: