एके एंटनी ने कांग्रेस के 136वें स्थापना दिवस पर झंडा फहराया

आज देश की सबसे पुरानी पार्टी यानी कांग्रेस अपना 136वां स्थापना दिवस मना रही है। पार्टी के स्थापना दिवस से एक दिन पहले राहुल गांधी किसी विशेष काम के चलते विदेश दौरे पर रवाना हो गए तो दूसरी तरफ सोनिया गांधी खराब स्वास्थ्य के कारण पार्टी का झंडा नहीं फहरा पायेगी ऐसे में एके एंटनी ने स्थापना दिवस के मौके पर झंडा फहराया

स्थापना दिवस और किसान आंदोलन के बीच राहुल के विदेश दौरे को लेकर राजनीति भी शुरू हो गयी है क्योंकि कांग्रेस पार्टी आज किसानों के समर्थन में तिरंगा यात्रा निकालेगी। इस मौके पर अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सदस्यों ने पार्टी की राज्य इकाइयों को निर्देश दिया है कि वे कोरोना की गाइडलाईन का पालन करते हुए ‘तिरंगा यात्रा’ का आयोजन करें और युवाओं के साथ जुड़ने के लिए सोशल मीडिया अभियान ‘सेल्फी विद तिरंगा’ चलाएं।

 

 

स्थापना दिवस पर राहुल गांधी ने कहा कि सच्चाई और समानता के अपने इस संकल्प को दोहराते हैं और ‘देश हित की आवाज उठाने के लिए कांग्रेस शुरू से प्रतिबद्ध रही है। कांग्रेस पिछले एक समय से अपनो की लड़ाई में उलझी हुई कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेता राहुल को अध्यक्ष बनाना चाहते है तो कुछ नेता प्रियंका को अध्यक्ष बनाने के पक्ष में इसी कारण से बीजेपी कांग्रेस पर वंशवाद का आरोप लगाने का मौका नहीं छोड़ती है।

राहुल के विदेश दौरे पर सफाई देते हुए सुरजेवाला ने कहा, कि राहुल गांधी एक निजी यात्रा पर हैं और वह बहुत जल्द हमारे बीच होंगे। खबरों के अनुसार बताया जा रह है कि राहुल अपनी नानी से मिलने गये है जो बीमार है। कांग्रेस ने इस यात्रा को लेकर बीजेपी पर निम्न दर्जे की राजनीति करने का आरोप लगाया है।

 

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने राहुल की विदेश यात्रा को लेकर कहा कि, ‘कांग्रेस अपना 136वां स्थापना दिवस मना रही है और राहुल जी ‘9 2 11’ हो गए’

 

 

राहुल गांधी हिंदू संस्कृति को बदनाम कर रहे हैं : अमित शाह

भोपाल। बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने आज राहुल गांधी पर जमकर हमला बोला है। कहा- राहुल गांधी हिंदू संस्कृति और धर्म को बदनाम कर रहे है ऐसे में अमित शाह ने कहा कि उन्हें इसके लिए देश से माफी मांगना चाहिए। शाह ने यहां भेल दशहरा मैदान में पार्टी की मध्यप्रदेश स्तरीय विस्तारित बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि गांधी और कांग्रेस के अन्य नेता देश को धर्म और जाति के नाम पर बांटने का प्रयास कर रहे हैं।

राहुल गांधी ने हिंदू धर्म और सनातन परंपरा को बदनाम करने और भारत को नीचा दिखाने का कार्य किया है। इसके लिए गांधी को देश से माफी मांग लेनी चाहिए। शाह ने कहा कि कांग्रेस नेताओं ने बार-बार हिंदू आतंकवाद का हल्ला मचाया। फर्जी केस में लोगों को फंसा कर उसे हिंदू आतंकवाद का नाम दे दिया।

हैदराबाद की कोर्ट ने ऐसे ही एक फर्जी मामले में फंसाए गए लोगों को बेकसूर पाते हुए मुक्त कर दिया। शाह ने कहा कि कांग्रेस नेताओं को संवैधानिक संस्थाओं पर भी विश्वास नहीं है। वे ऐसी संस्थाओं को भी बदनाम करने की नीयत से उन पर हमले कर रहे हैं। लेकिन वे अभी तक अपने मंतव्य में सफल नहीं हो पाए हैं। बीजेपी कार्यकर्ता कांग्रेस के ऐसे मंसूबों को सफल होने भी नहीं देंगे। शाह ने कहा कि कांग्रेस इस वर्ष के अंत में इस राज्य में होने वाले विधानसभा चुनाव में भी विजय हासिल नहीं कर पाएगी। यह चुनाव ‘उद्योगपति, राजे महाराजे’ और बीजेपी के किसान और आम व्यक्ति के बीच होगा।

हार्दिक किसी भी राष्ट्रीय पार्टी की ग्रहण नहीं करेगें सदस्यता

उज्जैन। गुजरात के पाटीदार एवं किसान आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल ने कहा है कि वे किसी भी राष्ट्रीय पार्टी की सदस्यता ग्रहण नहीं करेगें। वह उनके आंदोलन में सहयोग करने वाली पार्टी का साथ देंगे। पटेल मध्यप्रदेश के अपने 2 दिवसीय दौरे पर अपने निर्धारित समय से लगभग दो घंटे देरी से यहां पहुंचे।उन्होंने यहां एक होटल में पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि वह अभी अलग अलग क्षेत्रों का दौरा कर अनुभव ले रहे हैं। किसान के साथ जनता की समस्यायें सुन रहें है और समस्याओं के समाधान के लिए आंदोलन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि जो पार्टी के नेता उनसे सम्पर्क करते हैं, वह उनके साथ हैं।

 

लेकिन जब तक किसानों और जनता की समस्याओं का समाधान नहीं निकलता, तब तक वह किसी भी पार्टी की सदस्यता ग्रहण नहीं करेगें। एक प्रश्न का उत्तर देते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस के राहुल गांधी ने उनसे सम्पर्क किया। इसलिए वे उनका सहयोग कर रहे है, लेकिन बीजेपी के नाम लिए बगैर कहा कि इस पार्टी ने उनसे सम्पर्क नहीं किया है।मध्यप्रदेश के होने वालें विधानसभा चुनाव में कांग्रेस का समर्थन करने के प्रश्न के उत्तर में कहा कि ज्योतिदित्य सिंधिया युवा है, कम उम्र के है, इसलिये उनका समर्थन करता हूं। उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री दिग्वियज सिंह से भी काफी अच्छे संबंध हैं। उन्होंने मध्यप्रदेश में दस साल तक सरकार चलाई है।

वह भी अनुभवी है। इसके साथ ही उन्होंने कमलनाथ को भी अच्छा बताया। जब उनसे पत्रकारों ने पूछा कि क्या विधानसभा में पाटीदार को टिकिट दिलाकर कोई समझौता करेगें। इसके जवाब में उन्होने कहा कि अच्छे कार्यकर्ता के लिए सिफारिश करेगें। कार्यकर्ता को टिकिट देना या नहीं देना पार्टी का काम है। मै सहयोग जरुर करुंगा। उनका मध्यप्रदेश से पुराना रिश्ता रहा है।

अजमेर लोकसभा उपचुनाव BJP और कांग्रेस दोनों के लिए ही आसान नहीं –

राजस्थान। अजमेर लोकसभा उपचुनाव भाजपा और कांग्रेस दोनों के लिए ही आसान नहीं है। केंद्र और राज्य की सत्ता के दम पर भाजपा चुनावी मैदान  पार करने में पूरा दम लगाएगी, लेकिन सत्ता विरोधी स्वभाविक माहौल उसके लिए बड़ी परेशानी का कारण बनेगा। कांग्रेस सिर्फ सत्ता विरोधी माहौल की नाव पर सवार होकर चुनावी नैया पार नहीं कर  सकती, उसके लिए सबसे बड़ी चुनौती अंदरूनी कलह और बिखरा संगठन ही रहेगा।

 

भाजपा की सोशल इंजीनियरिंग दांव पर

 

केंद्र व राज्य में भाजपा की सरकार होने से भाजपा काे कुछ हद तक इसका लाभ मिलेगा लेकिन यह चुनाव उतना आसान नहीं है। हाल ही में गृह मंत्री गुलाब चंद कटारिया ने बयान दिया कि भाजपा के सामने कोई चुनौती नहीं है, लेकिन जमीनी हकीकत इससे अलग नजर आ रही है। राजनीति के मामलों के जानकारों का है कि सांवर लाल जाट के निधन के बाद अजमेर लोकसभा क्षेत्र में उप चुनाव भाजपा के लिए एक मुश्किल मामला हो सकता है, क्योंकि पार्टी जिस सोशल इंजीनियरिंग को लेकर चल रही है उसकी सफलता संदेहास्पद है। पिछले कुछ समय से जातिगत राजनीति के कई रंग अजमेर में देखने काे मिले हैं।

 

भाजपा के खिलाफ नाराजगी

 

आनंदपाल के मामले में राजपूत समाज की भाजपा के खिलाफ नाराजगी सड़कों पर सामने आ गई। यह नाराजगी अब तक तक कायम है। सांवर लाल जाट राजनीति के मंझे हुए खिलाड़ी थे और लेकिन अब भाजपा को कोई दूसरा जाट नेता उनके आसपास भी नहीं है। ऐसे में जाटों को भाजपा के पक्ष में लामबंद रखना भी भाजपा के लिए बड़ी चुनौती है। सचिन पायलट खुद गुर्जर है और अगर पायलट मैदान में आ जाते हैं तो गुर्जर वोट कांग्रेस को मजबूती देंगे।अनुसूचित जाति वर्ग पहले कांग्रेस का परंपरागत वोट बैंक था, लेकिन पिछले कुछ सालाें में इस वोट बैंक की स्थिति काफी हद तक बदल गई है।

 

अनुसूचित जाति वोट बैंक इस बार किसके साथ रहेगा यह देखना दिलचस्प होगा। ये वर्ग इस उप चुनाव में बड़ी भूमिका निभाएगा। रासा सिंह रावत ने भी इस बार चुनाव लड़ने की इच्छा जाहिर की थी, लेकिन उनका नाम पैनल तक में शामिल नहीं हुआ। लोकसभा क्षेत्र में बड़ी संख्या में रावत हैं और अब तक भाजपा का वोट बैंक माने जाते थे लेकिन अपने ही समाज से जुड़े भाजपा नेताओं से रावत नाराज हैं और यह नाराजगी वोटों में तब्दील हुई तो भाजपा के लिए मुश्किल बढ़ेगी।

खुशखबरी! 10वीं पास के लिए बम्पर सरकारी नौकरी

जॉब डेस्‍क: मिलिट्री हॉस्पिटल पचमढ़ी, मध्य प्रदेश ने चौकीदार, माली, सफाईवाला एवं अन्य विभिन्न पदों की भर्ती का नोटिफिकेशन जारी किया है। नौकरी से जुडी पूर्ण जानकारी आप नीचे विस्तार से जान सकते हैं।

 

विभाग का नाम – मिलिट्री हॉस्पिटल

पद का नाम – चौकीदार, माली, सफाईवाला एवं अन्य विभिन्न पद

कुल पदों की संख्‍या – 07 पद

योग्यता – 10 वीं अथवा इसके समकक्ष डिग्री हो।

आवेदन की अंतिम तिथि – 28-02-2018

 

आयु सीमा – उम्मीदवार की आयु 18 से 25 (General) / 30 (ST) वर्ष के बीच होनी चाहिए।

नोट – यदि आप भर्ती के बारे में अधिक जानकारी प्राप्‍त करना चाहते है, तो आप अधिकारीक वेबसाइट के माध्‍यम से प्राप्‍त कर सकते हैं।

अधिकारीक वेबसाइट – https://politico24x7.files.wordpress.com/2018/01/3f0ac-pachmari2bmilitary2bhosp2b72bposts.png