लोकसभा – मुलायम ने की मोदी की तारीफ – सियासत शुरू – जानें ख़ास

भाई और बेटें को छोड़ – मुलायम सिंग यादव ने की मोदी की तारीफ –

नई दिल्ली | उत्त्तर प्रदेश से सांसद व् समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने आज लोकसभा में अपने भाषण में प्रधानमंत्री मोदी की तारीफ़ कर सब को चौका दिया – ” मुलायम सिंह ने कहा की मेरी कामना है की प्रधानमंत्री मोदी देश के एक बार फिर प्रधानमंत्री बने . इसके साथ ही मुलायम सिंह ने कहा की मेरी पार्टी और विपक्ष भी  हम लोग मोदी जितना बहुमत नहीं ला सके जितना मोदी जी लाये थे | हम प्रधानमंत्री मोदी को बधाई देना चाहते है की आपने सब को साथ लेकर और मिलकर काम कि

सा -आभार

या ,हमने जब जब आप से किसी काम के लिए कहा आपने तुरंत उसी वक्त आदेश दिया इसके साथ ही में कामना करता हूँ की सदन के सभी सदस्य फिर जीत कर सदन आये |

मुख्य अंश – मुलायम सिंह ने कहा 

# लोकसभा में बोले मुलायम सिंह यादव – मेरी कामना है नरेंद्र मोदी फिर से प्रधानमंत्री बने |

#मुलायम सिंह – जब -जब हम काम लेकर प्रधानमंत्री मोदी से मिले उन्होंने कार्य के लिए तुरंत आदेश जारी किये |

# लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन की

तारीफ़ की कहा – आपने अच्छा काम किया

# मुलायम सिंह ने लोकसभा के सभी सदस्यों को दुबारा जितने की कामना की

सियासत शुरू –

मुलायम सिंह यादव द्वारा प्रधानमंत्री मोदी की तारीफ के कई मायने निकाले जा रहे है कहा जा रहा है की मुलायम ने आगामी रुख़ देख कर बयान दिया है तो कोई कह रहा है की यह अन्तिम लोकसभा की कार्यवाई थी इस लिए मोदी की तारीफ की , वही मुलायम के बेटे अखिलेश यादव महागटबंधन का हिस्सा है जबकि उनके छोटे भाई शिवपाल भी भाजपा के विरोध में और भतीजे के विरोध में है . कुल –

मिलाकर यह भाजपा के पक्ष में रहा है |

 

 

प्रियंका गांधी का राजनीति में प्रवेश – मिली यह ज़िम्मेदारी – जानें ख़ास मायने

प्रियंका गांधी कांग्रेस पार्टी की महासचिव नियुक्त –

दिल्ली | कांग्रेस पार्टी ने आज लोकसभा चुनावों से पूर्व एक बड़ा दावं चल दिया है आख़िर राजनेतिक गलियारों में लम्बे समय से यह मांग भी उठ रही थी जिस पर आज अधिकारिक रूप से मुहर लग गई है अर्थार्त सोनिया गांधी की बेटी व् कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की बहन “प्रियंका गांधी “को आज कांग्रेस पार्टी का महासचिव नियुक्त कर दिया गया है | प्रियंका का अधिकारिक रूप से राजनीति में प्रवेश कांग्रेस पार्टी को एक सकारात्मक उर्जा व् मजबूती प्रदान करेगा वही आगामी लोकसभा के लिए प्रियंका को पू

र्वी उत्तर प्रदेश की ज़िम्मेदारी मिली है सूत्रों के अनुसार प्रियंका फरवरी के पहले सप्ताह में अपनी ज़िम्मेदारी संभाल सकती है इससे पहले प्रियंका अपनी माँ सो

निया गांधी व् भाई राहुल के लिए प्रचार -प्रसार करती नज़र आती थी अब वह मुख्य रूप से कांग्रेस पार्टी के लिए काम करती नज़र आयेगी |

क्या मायने है ख़ास –

लोकसभा चुनावों से पूर्व प्रियंका का राजनीति में अधिकारिक रूप से आना कई मायने रखता है जिसमे सबसे बड़ा कारण कांग्रेस की मजबूती व् मोदी सरकार की चुनोती है इसके साथ ही यूपी में सपा बसपा गटबंधन भी मुख्य वजह है | हालिमे में पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनावों में भाजपा को हार मिली है तो कांग्रेस  राजस्थान ,मध्यप्रदेश व् छतीसगढ़ में सरकार बनाने में कामया

ब हुई है जिससे कांग्रेस में सकारात्मक उर्जा है वही भाजपा से जनता ने दुरी बना ली है वही नोट्बंदी व् gst ने मोदी सरकार को फ़ेल साबित कर दिया ,इसके साथ ही यूपी गटबंधन सपा बसपा द्वारा कांग्रेस को 2 सीटें देने के कारण भी कांग्रेस अपना खोया वजूद पाने के लिए अपना तुर्क का पत्ता ” प्रियंका गांधी  ” को यूपी में ज़िमेदारी देदी है क्योकि दिल्ली का रास्ता राजनीति में यूपी होकर ही जाता है |

लोकसभा चुनावों में होगा VVPAT का इस्तेमाल – चुनाव आयोग

क्या थमेगा EVM विवाद –

जयपुर | आगामी सभी चुनावों में अब चुनाव आयोग  VVPAT मशीन का इस्तेमाल करेगी ,अपने एक वक्तव्य में चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा  है की  विगत सालो में हुए चुनावों में वीवीपीएटी मशीनों का इस्तेमाल सफल रहा है साथ ही उन्होंने 2019 के लोकसभा चुनाव भी EVM व् VVPAT के साथ होगा |

निर्वाचन आयोग ने 2019 के लोकसभा चुनावों में सभी मतदाता केन्द्रों पर 100 प्रतिशत VVPAT मशीने उपलब्ध कराने को लेकर अपनी प्रतिबध्ता दोहराई है

जाने क्या है VVPAT मशीन –

VVPAT एक ऐसी मशीन है, जिससे उस पार्टी के चुनाव चिह्न वाली पर्ची निकलती है, जिसमें मतदाता ने वोट दिया है ,इससे यह स्पष्ट हो  जाता है व्यक्ति ने जिस पार्टी को वोट दिया है वो वोट उसी पार्टी को डला  है मतदाता द्वारा जब  वोट डाला जाता है तो उसकी गिनती EVM में हो जाती है लेकिन अब EVM के साथ ही जिस पार्टी को वोट किया है उसकी पर्ची VVPAT  मशीन में गिर जाती है और यह क्रिया मतदाता के सामने होती है और मतगणना के समय EVM और VVPAT मशीन की प्रचियों को साथ गिना जायेगा जिसके बाद ही गणना को अंतिम माना जायेगा |

%d bloggers like this: