कांग्रेस पैदल मार्च – मंत्री प्रतापसिंह खाचरियवास ने ही नहीं लगाया मास्क , क्या प्रशासन काट सकता हैं चालान  ,  जानें भाजपा ने पैदल मार्च पर क्या कहा –

मोदी सरकार को काले क्रषि कानून व् महंगाई पर घेरने उतरी कांग्रेस पार्टी ने , कोरोना गाइड लाइन की धज्जियाँ उड़ाई  
जयपुर | राजस्थान में कांग्रेस पार्टी ही सत्ता में हैं और सरकार के मंत्री ने ही कोरोना गाइड लाइन की धज्जियाँ उड़ाते दिखे  , कांग्रेस पार्टी ओर  से आयोजित ” पैदल मार्च ” कार्यक्रम  का आयोजन किया गया जिसका मुख्य उदेश्य केंद की मोदी सरकार की काली नीतियाँ जैसे क्रषि के काले बिल , पेट्रोल-डीजल और गैस सिलेण्डर की बढ़ती कीमतों को लेकर प्रदर्शन था |
पैदल मार्च पी सी सी चांदपोल गेट से शुरू होती हुई छोटी चौपड़ , बड़ी चौपड़ ,रामगंज बाज़ार  होते हुयें गलता गेट पर सम्पन्न हुई  कार्यक्रम में  कांग्रेस कार्यकर्ता ओं  ने शक्ति प्रदर्शन किया अधिकतर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मास्क नहीं लगा रखा था अब आम जनता में यह सन्देश हैं की क्या सरकार अपने मंत्री का  चालान  काटेगी या आम जनता के लियें ही कोरोना हैं |
किसानों के नाम पर कांग्रेस का पैदल मार्च पाखण्ड की राजनीति, 
सम्पूर्ण किसान कर्जमाफी का वादा पूरा करें मुख्यमंत्री गहलोत: डाॅ. पूनियां

डाॅ. पूनियां ने कहा कि कांग्रेस सरकार के मंत्रियों एवं नेताओं को किसानों के नाम पर पैदल मार्च का ढोंग करने के बजाए मुख्यमंत्री गहलोत को सम्पूर्ण किसान कर्जमाफी का वादा पूरा करना चाहिए, जो उनके नेता राहुल गाँधी और उन्होंने चुनावी सभाओं में प्रदेश के किसानों से किया था।

डाॅ. पूनियां ने लम्बित भर्तियों को पूरी करने सहित विभिन्न मांगों को लेकर जयपुर में धरना दे रहे युवाओं से मिलने की मुख्यमंत्री गहलोत और उनके किसी मंत्री को फुर्सत नहीं है और ना ही अपनी मांगों को लेकर धरना दे रहे पटवारियों से संवाद किया है, गहलोत सरकार इनसे वार्ता कर समाधान निकाले।

डाॅ. पूनियां ने कहा कि मुख्यमंत्री गहलोत के कुशासन से हर वर्ग परेशान है, युवा भर्तियाँ पूरी होने का इंतजार कर रहे हैं, किसान सम्पूर्ण कर्जामाफी का इंतजार कर रहे हैं, संविदाकर्मी नियमित होने का इंतजार कर रहे हैं, लेकिन मुख्यमंत्री का जनहित के मुद्दों से कोई सरोकार नहीं है।
%d bloggers like this: