राजस्थान सरकार को 31 अक्टूबर तक कराने होंगे – जयपुर, जोधपुर, कोटा नगर निगम चुनाव

31 अक्टूबर तक कराने होंगे जयपुर, जोधपुर, कोटा नगर निगम चुनाव
जयपुर | राजस्थान में लोकल बॉडी के चुनाव लगभग एक साल लेट हो चुके हैं तय समय सीमा पर राजस्थान सरकार के मंत्रिमंडल में रार व् जयपुर नगर – निगम को ग्रेटर व् हेरिटेज के रूप में दो भागों में बाट दिया और वार्ड का सीमांकन नयें सिरे से कर दिया जिसके चलते चुनाव प्रक्रिया 6 माह के लियें आगें प्रस्तावित कर दिया गया था उसके बाद कोरोना महामारी के देखते हुयें चुनाव प्रक्रिया आगें बढाई गई हैं लेकिन अब राज्य सभा के चुनाव हो चुके हैं और संवेधानिक दायरे के अंतर्गत चुनाव करवाना जरुरी हैं  इस प्रक्रिया में आज हाईकोर्ट ने इस मामले में सुनवाई करते हुए राजस्थान सरकार को 31 अक्टूबर तक चुनाव कराए जाने का समय दिया है।
राज्य सरकारकी ओर से मंगलवार को अदालत में अर्जी देकर चुनाव कराने के 31 दिसंबर तक का समय मांगा गया था। राज्य के महाधिवक्ता एमएस सिंघवी कि ओर से दायर प्रार्थना पत्र में क देखते हुयें  फिलहाल नगर निगम चुनाव कराए जाना संभव नहीं है। वहीं चुनाव आयोग ने कहा की सुप्रीम कोर्ट ने पंचायत चुनाव के मामले में राज्य सरकार को 31 अक्टूबर तक का समय दिया है। इसलिए इस मामले में भी 31 अक्टूबर तक का समय दिया जाए।

26 फर्जी फर्म बनाई, फर्जी बिलिंग से 20 करोड़ रु हड़पे, स्टेट टैक्स डिपार्टमेंट की कार्रवाई

जयपुर। कराेड़ों की जीएसटी चाेरी करने वाली जयपुर की सीए
को गिरफ्तार कर जैल भेज दिया गया है। जयपुर की सीए परिधि जैन काे जोधपुर स्टेट टैक्स डिपार्टमेंट ने गिरफ्तार किया है। विभाग ने उन्हें कोर्ट में पेश किया, जहां से जेल भेज दी गई।

जीएसटी लागू हाेने के साथ ही मिली शक्तियों का जाेधपुर में पहली बार प्रयोग करते हुए विभाग ने यह कार्रवाई की है। विभागीय सूत्रों के अनुसार जीएसटी फ्रॉड करने वाले इस गिरोह में गौरव के साथ परिधि की भी अहम भूमिका थी।

बता दें कि परिचित, अनजान या साथी कर्मचारियाें के पैन कार्ड, आधार और अन्य दस्तावेजाें से फर्जी फर्में बनाकर डमी बिलिंग करने और करोड़ों रु. की जीएसटी चोरी के मामले में गिरफ्तार किया गया है।

जयपुर की कई फर्मों के लिए जीएसटी रिटर्न भरने या टैक्स जमा कराने का काम करने की आड़ में इस गिरोह ने उन असली फर्मों से तो रुपए लिए, लेकिन सरकारी खाते में जमा कराने की बजाय उन फर्म को चालान देकर बकाया जीएसटी को समायोजित कर लेते और वो राशि खुद हड़प लेते थे।

बता दें कि एक खाते से दूसरे खाते में लाखों की नकदी जमा कराने में भी परिधि की भूमिका सामने आई है। अब गौरव को प्रोडक्शन वारंट पर लेने की तैयारी है। परिधि ने जाेधपुर के शंकर नगर निवासी सीए गौरव माहेश्वरी के साथ मिलकर करीब 26 फर्जी फर्म बनाई थी और इनमें करीब 90 कराेड़ की बाेगस बिलिंग कर 15-20 करोड़ रु. की जीएसटी चोरी की थी।

राजस्थान में खाद्य प्रसंस्करण उद्योग में अपार संभावनाएं— विकास भाले { आयुक्त कृषि विभाग }

जोधपुर | खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालय और डिक्की के द्वारा आयोजित कॉन्फ्रेंस में अध्यक्षता करते हुए आयुक्त कृषि विभाग राजस्थान सरकार श्री विकास वाले ने कहा कि राजस्थान में खाद्य प्रसंस्करण उद्योग में अपार संभावनाएं हैं राजस्थान में बाजरा , सरसों ,दुग्ध मसाले उत्पादन भारत में सर्वाधिक है| चीया राइस व ओलिव जैसे नगदी समृद्ध फसल को बढ़ावा दे रही है| क्लस्टर स्कीम के माध्यम से उत्पादन गुणवत्ता एवं मुनाफा बढ़ाने पर सरकार जोर दे रही है

कॉन्फ्रेंस के विशिष्ट अतिथि डिक्की के चेयरमैन पद्मश्री मिलिंद कांबले जी ने कहा कि भारत खाद्य प्रसंस्करण उद्योग में दुनिया में छठे स्थान पर है और इस क्षेत्र में भारत में 2020 तक 61 लाख करोड़ तक वृद्धि होने की संभावना है अनुसूचित जाति एवं जनजाति के युवाओं के लिए खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालय ने विशेष योजना बनाई है जो देश के अलग-अलग राज्यों में इस प्रकार के जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन डिक्की और खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालय कर रहा है

डॉ जितेंद्र डोंगरे मार्केटिंग अधिकारी खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालय ने विभिन्न कृषि संबंधित योजनाओं की जानकारी दी | काजरी के डायरेक्टर डॉ ओ पी यादव नेवी राज्य में होने वाली विभिन्न कृषि तकनीकों की चर्चा की श्री नरेश कुमार गोयल जी ने गामा ई रेडिएशन के द्वारा खाद्य उद्योग की नवीनतम तकनीक व उसके फायदे बताएं| डॉ एस के शर्मा संयुक्त निदेशक महाराणा प्रताप एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी मैं होने वाले रिसर्च व कृषि संबंधित तकनीकों की चर्चा की| आदिवासी महिलाओं के द्वारा बनाया गया घूमर महिला खाद्य उत्पादन कंपनी में सीताफल का विभिन्न खाद्य इकाइयों में प्रयोग के बारे में बताया गया|
इस मौके पर नाबार्ड के श्री आरपी फंडा, डिक्की राजस्थान अध्यक्ष डॉक्टर सत्य प्रकाश वर्मा, डिक्की रा

जस्थान उपाध्यक्ष आशीष गोरा, डिक्की दिल्ली उपाध्यक्ष भूपेश राता वाल, डिक्की जोधपुर से प्रमोद सोनल, चंपालाल चितारा भी मौजूद रहे |

सर्जिकल स्ट्राइक “पराक्रम पर्व” 51 शहरों में भाजपा की तैयार पूरी –

“पराक्रम पर्व”

जोधपुर | भारतीय आर्मी द्वारा पाकिस्तान में आतंकवादी कैंपो पर भारतीय सैनिकों द्वारा की गई सर्जिकल स्ट्राइक के 2 साले पुरे होने के अवसर पर देश की प्रधानमंत्री मोदी आज जोधपुर पहुंचे , प्रधानमंत्री मोदी ने कहा की भारतीय सैनिको द्वा

रा जो पराक्रम दिखाया और सीमा पार स्थिति आतंकी केंपो को ध्वस किया उन जवानों के पराक्रम को याद कर गर्व का अनुभव कर हूँ आज पुरे देश को उन जवानों पर गर्व है ,इसके बाद मोदी ने कोणार्क युद्ध स्मारक पर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की | इसके साथ हीआज का दिन  पराक्रम पर्व दिवस  के रूप में बनाया जायेगा, मोदी  ने जोधपुर मिलिटरी स्टेशन पर सेना के ‘पराक्रम पर्व’ प्रदर्शनी का उद्घाटन किया. पीएम ने सेना की रक्षा तैयारियों और साजोसामान पर आधारित प्रदर्शनी देखी. इस दौरान सेना के बैंड ने ‘कदम कदम बढ़ाए जा’ धुन बजाई। प्रदर्शनी के दौरान लगातार भारतीय जवानों के पराक्रम की वीर गाथा सुनाई गई।

ख़ास नज़र –

गौरतलब है की सर्जिकल स्ट्राइक की दूसरी वर्षगांठ को अब पराक्रम पर्व के रूप में बनाया जायेगा .यह आगामी राजस्थान विधानसभा चुनाव व् आगामी लोकसभा 2019 के मध्य नज़र मोदी सरकार का मास्टर स्टोक के रूप में काम आ सकता है इसी कड़ी में मोदी सरकार ने एक सर्जिकल स्ट्राइक का विडिओ शेयर किया है | अब भाजपा सरकार  28 से 30 सितंबर तक देश के 51 में पराक्रम पर्व का आयोजन करने जा रही है |

 

 

 

यौन शोषण मामला : आसाराम को मिली उम्रकैद की सजा, अन्य दो दोषियों को 20-20 साल कैद की सजा

जोधपुर। गुरूकुल की नाबालिग से यौन शोषण के आरोपी कथा वाचक आसाराम काे उम्रकैद तथा उसके दो सेवादारों को बीस-बीस साल की सजा सुनार्इ है। कोर्ट ने आज अहम फैसला सुनाते हुए आसाराम को दोषी करार दिया है। जोधपुर की निचली अदालत ने सेंट्रल जेल परिसर में बने विशेष कोट रूम में यह फैसला सुनाया है। जोधपुर कोर्ट ने आसाराम को उम्रकैद की सजा सुनाई है। वहीं अन्य दो दोषियों को 20-20 साल कैद की सजा सुनाई गई है।

फैसला आते ही अासाराम ने सिर पकड़ लिया आैर हे राम-हे राम करते हुए फूट-फूटकर राेने लगा। इस दाैरान वकीलाें ने आसाराम काे संभाला। इससे पहले कड़ी सुरक्षा के बीच केन्द्रीय जेल में बनाई गर्इ अस्थाई अदालत में अनुसूचित जाति एवं जनजाति अधिनियम अदालत के न्यायाधीश मधुसूदन शर्मा ने आसाराम तथा उसके दो सेवादार शिल्पी और शरतचन्द्र को नाबालिग से यौन शोषण करने का दोषी माना।

ये है मामला:

आसाराम पर यूपी की एक नाबालिग से दुष्कर्म करने का आरोप था। पीडि़ता का आरोप था कि आसाराम ने जोधपुर के निकट मनई आश्रम में उसे बुलाया था और 15 अगस्त, 2013 में उसके साथ दुष्कर्म किया था। पीडि़ता छिंदवाड़ा आश्रम के कन्या छात्रावास में 12वीं कक्षा में पढ़ती थी। पीडि़ता के माता-पिता ने 20 अगस्त, 2013 को दिल्ली कमलानगर पुलिस थाने में मामला दर्ज करवाया। इसके बाद मामले को जोधपुर ट्रांसफर किया गया था। जांच के बाद जोधपुर पुलिस ने आसाराम को 30 अगस्त को इंदौर स्थित आश्रम से गिरफ्तार किया था।

यौन शोषण मामला : कोर्ट ने आसाराम को दोषी करार दिया, सजा पर फैसला थाेेेड़ी देर में

जोधपुर। आसाराम को यौन शोषण मामले में कोर्ट ने दोषी करार दिया गया है आसाराम एक नाबालिग लड़की से रेप के आरोप में लगभग 5 साल से ज़्यादा समय से जेल में बंद थे इस मामले में जोधपुर कोर्ट ने अपना फ़ैसला सुनाया. इस मामले में आसाराम के साथ दो और लोगी को दोषी करार दिया गया है। जोधपुर की निचली अदालत ने सेंट्रल जेल परिसर में बने विशेष कोट रूम में यह फैसला सुनाया है।

पीडि़ता के वकील ने आसाराम को कड़ी सजा देने की मांग की है। आसाराम के खिलाफ जिन धाराओं में मामला दर्ज किया गया है, उनमें आजीवन कारावास तक की सजा का प्रावधान है। इससे पहले वहीं अशांति की आशंका कों देखते हुए जोधपुर में धारा 144 लागू कर दी गई है। इसके साथ ही राजस्थान सहित चार राज्यों में रेड अलर्ट कर दिया गया है। राजस्थान के अलावा गुजरात, उत्तरप्रदेश और हरियाणा में रेड अलर्ट किया गया है।

यह था पूरा मामला
आसाराम पर यूपी की एक नाबालिग से दुष्कर्म करने का आरोप था। पीडि़ता का आरोप था कि आसाराम ने जोधपुर के निकट मनई आश्रम में उसे बुलाया था और 15 अगस्त, 2013 में उसके साथ दुष्कर्म किया था।

पीडि़ता छिंदवाड़ा आश्रम के कन्या छात्रावास में 12वीं कक्षा में पढ़ती थी। पीडि़ता के माता-पिता ने 20 अगस्त, 2013 को दिल्ली कमलानगर पुलिस थाने में मामला दर्ज करवाया। इसके बाद मामले को जोधपुर ट्रांसफर किया गया था। जांच के बाद जोधपुर पुलिस ने आसाराम को 30 अगस्त को इंदौर स्थित आश्रम से गिरफ्तार किया था।

दुष्कर्म मामला : आसाराम पर कुछ देर में सुनाया जाएगा फैसला, जोधपुर जेल पहुंचे जज

जोधपुर। नाबालिग से दुष्कर्म मामले में जोधपुर जेल में बंद आसाराम बापू पर फैसला कुछ देर में सुनाया जाएगा। फैसला सुनाने के लिए जज मधुसूदन शर्मा जेल पहुंच चुके हैं। भारी संख्या में भक्तों के पहुंचने और सुरक्षा कारणों के चलते जोधपुर की एक अदालत जेल परिसर में ही आसाराम पर फैसला सुनाएगी।

जोधपुर की कोर्ट ने सुरक्षा कारणों से सेंट्रल जेल परिसर में ही फैसला सुनाने का निर्णय किया है। फैसले के मद्देनजर केंद्र सरकार ने दिल्ली, राजस्थान, गुजरात और हरियाणा को सुरक्षा कड़ी करने के निर्देश दिए हैं। सुरक्षा के मद्देनजर पूरे शहर में धारा 144 लागू कर दी गई है। साथ ही भारी मात्र में पुलिस बल तैनात किया गया है।

उधर, जेल में आसाराम ने फैसले की पूर्व संध्या पर कहा- ‘अब भगवान से ही उम्मीद है, होई है वही जो राम रचि राखा। मंगलवार को जोधपुर कलेक्टर रविकुमार सुरपुर व पुलिस उपायुक्त अमनदीप सिंह जेल में व्यवस्थाओं का जायजा लेने पहुंचे। इस दौरान कलेक्टर ने आसाराम से पूछा- ‘फैसले को लेकर क्या सोच रहे हो?’ इस पर आसाराम ने कहा कि कोर्ट का जो भी फैसला होगा, वह मंजूर होगा। वह और उनके समर्थक गांधीवादी विचारधारा के हैं और अहिंसा में यकीन रखते हैं। जेल प्रशासन की मानें तो आसाराम के चेहरे पर फैसले को लेकर कोई शिकन नहीं है। हां, उत्सुकता जरूर है।

CM पद को लेकर अशोक गहलोत ने दिया ये बयान, कहा…

जोधपुर। कांग्रेस के नवनियुक्त संगठन महासचिव और राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि जिस प्रकार प्रदेश में हुए उपचुनाव में सब नेताओं ने मिलकर कांग्रेस को जीत दिलाई थी वैसा ही प्रदेश के विधानसभा चुनावों में भी होगा। कांग्रेस एक जुट होकर विधानसभा चुनाव लड़ेगी। मीडिया से चर्चा के दौरान गहलोत से पूछा गया कि क्या आपको केंद्र की जिम्मेदारी देकर राजस्थान में सचिन पायलट को फ्री हैंड दे दिया गया? गहलोत ने कहा राजस्था का हर गांव ढाणी में दिल में है। मैं पांच साल तक अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी का महामंत्री रहने से पहले भी दिल्ली में रहा लेकिन वापस राजस्थान का मुख्यमंत्री लौटा था। मैं जब भी राजनीति से रिटायर्ड हो जाउंगा तब जोधपूर ही आकर रहूंगा।

 

गहलोत ने कहा कि कांग्रेस आलाकमान ने मेरे पर विश्वास करके जो जिम्मेदारी दी है मैं उसे पूरी तरह निभाने की कोशिश करूंगा। हम आने वाली नई पीढ़ी को कांग्रेस से जोड़ेंगे। आज नई पीढ़ी और कांग्रेस के बीच में थोड़ी दूरी आ गई है। नई पीढ़ी के लोगों को कांग्रेस के बलिदानों के बारे में जानकारी नही है। जबकि बीजेपी अब 70 साल बाद गांधी व पटेल को अपना रही है। थोड़े समय बाद बीजेपी नेहरू को भी अपनाने लगेगी।

गहलोत ने कहा कि आरएसएस पर्दे के पीछे की राजनीति के कर लोगों को भ्रमित कर वोट मांगती है। और फिर इसका फायदा भाजपा उठा लेती है। आरएसएस को अब खुलकर मैदान में आना चाहिए। आरएसएस को बीजेपी में मर्ज करके चुनाव लड़ना चाहिए ताकि सीधा मुकाबला हो जाए। लोगों को भ्रम में डालकर हिंदुत्व, राम मंदिर तो कभी गौ माता के नाम पर राजनीति करना बंद करना चाहिए।

कल होगा “बार काउंसिल ऑफ राजस्थान” का चुनाव – यह चेहरा है ख़ास –

जोधपुर। प्रदेश के वकीलों की सबसे बड़ी नियामक संस्था बार काउंसिल ऑफ राजस्थान के चुनाव 28 मार्च को होंगे। वर्ष 2011 के बाद पहली बार हो रहे इस चुनाव को लेकर वकीलों में जबरदस्त उत्साह है। इस चुनाव की प्रक्रिया को सबसे जटिल माना जाता है। पचास हजार से अधिक वकील अपने पच्चीस प्रतिनिधियों का चुनाव करेंगे। इसके लिए 159 प्रत्याशी चुनाव मैदान में है। सोशल मीडिया पर बार काउंसिल का चुनाव छाया हुआ है। पच्चीस पद और 159 प्रत्याशी… प्रत्येक पांच वर्ष के अंतराल के बाद होने वाले बार काउंसिल ऑफ राजस्थान के चुनाव इस बार वर्ष 2011 के बाद अब हो रहे है। प्रदेश में 229 मतदान केन्द्रों पर 50,900 से अधिक मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करते हुए 159 उम्मीदवारों में से 25 प्रतिनिधियों का चयन करेंगे। जोधपुर में राजस्थान हाईकोर्ट परिसर में तीन मतदान केन्द्र होंगे।

चरम पर पहुंचा चुनाव प्रचार –

मतदान में एक दिन शेष रहते चुनाव प्रचार चरम पर पहुंच चुका है। हाईकोर्ट और अधीनस्थ न्यायालयों में अवकाश होने के बावजूद गहमा गहमी का माहौल है। सभी प्रत्याशी अपने पक्ष में माहौल बनाने के लिए नए-नए तरीके अपना रहे है। व्यक्तिगत संपर्क के अलावा सोशल मीडिया पर यह चुनाव छाया हुआ है। सोशल मीडिया के माध्यम से चुनाव प्रचार किया जा रहा है।

ख़ास नज़र –

ADJ आंदोलन के नेतृत्वकर्ता -नरेश कुमार शर्मा

ADJ आंदोलन के नेतृत्व कर्ता नरेश कुमार शर्मा { बैलेट नं .- 34 } से है मैदान में –

BCR के चुनावओं में इस बार मुख्य चेहरे के रूप में ADJ भर्ती परीक्षा 2010 को रद्द करने वाली “आल राजस्थान संघर्स समीति ” के तत्कालीन प्रदेशाध्यक्ष एडवोकेट नरेश कुमार शर्मा चुनावी मैदान में है  | नरेश कुमार शर्मा ने 28 मार्च को होने वाले बार कौंसिल ऑफ़ राजस्थान के चुनावों में सदस्य पद पर प्रथम वरीयता के  मत व् समर्थन के लिए राजस्थान के समस्त अधिवक्ताओं से अपील की है | गोरतलब है की 2010 में ADJ भर्ती परीक्षा में हुई अनियमित्ता को लेकर एडवोकेट नरेश कुमार शर्मा ने अधिवक्ता साथियों के साथ मिलकर 27 दिनों तक हड़ताल कर ADJ भर्ती परीक्षा रद्द कराने में मुख्य भूमिका निभाई थी ,उनके संघर्ष व् हड़ताल के कारण ही राजस्थान हाई कोर्ट को  ADJ भर्ती परीक्षा रद्द करनी पड़ी थी |

इस कारण हुआ चुनाव में विलंब

बार काउंसिल ऑफ इंडिया ने वकीलों से जुड़ी आचार संहिता में कुछ बदलाव किए थे। इसको लेकर एडवोकेट्स एसोसिएशनों ने न्यायालय में वाद दायर कर दिया। इस कारण चुनाव अटक गए। वर्ष 2011 में चयनित सदस्यों की अवधि पूर्ण होने पर उनका कार्यकाल छह माह के लिए बढ़ाया गया। इसके बाद तीन सदस्यों की कमेटी गठित की गई। यह कमेटी बार काउंसिल का संचालन कर रही थी। अब सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर चुनाव कराए जा रहे है।

स्टार खिलाड़ी हार्दिक पांड्या जा सकते है जेल – संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अम्बेडकर पर आपत्तिजनक टिप्पणी

मुसीबत में फंसे भारतीय टीम का ये खिलाड़ी, राजस्थान में मामला दर्ज –

जोधपुर। क्रिकेट के मैदान में आतिशी पारी से दर्शको दिल में जगह बनाने के साथ-साथ विपक्षी गेंदबाजों के साथ पसीने छुड़ा देने के लिए जाने जाते है। लेकिन क्रिकेट के इस खिलाड़ी के लिए राजस्थान से बुरी खबर है राजस्थान में जोधपुर की एक अदालत ने भारतीय क्रिकेट टीम के स्टार खिलाड़ी हार्दिक पांड्या के खिलाफ संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अम्बेडकर पर आपत्तिजनक टिप्पणी के प्रकरण में मामला दर्ज करने के आदेश दिये हैं।

जानकारी के अनुसार अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति अत्याचार निवारण जोधपुर महानगर न्यायालय के न्यायाधीश मधु सूदन शर्मा ने परिवादी अधिवक्ता डी आर मेघवाल के परिवाद पर कल यह आदेश दिये। न्यायालय ने इस मामले में दंड संहिता की धारा 156 (3) के तहत मामले की जांच करने के आदेश दिये।

परिवादी ने जानकारी देते हुए बताया कि ने बताया कि व्हाटसअप पर पांड्या द्बारा डा. अम्बडेकर के बारे में कौन है अम्बेडकर, जिसने दोगला कानून एवं संविधान बनाया तथा आरक्षण नाम की बीमारी फैलाई टिप्पणी करने का मामला सामने आने के बाद उन्होंने जोधपुर के लूणी थाने में मुकदमा दर्ज करने का निवेदन किया। लेकिन पुलिस ने इस पर कोई ध्यान नहीं दिया। परिवादी ने बताया कि उसने इस संबध में उन्होने आयुक्त से भी शिकायत की लेकिन कोई कार्रवाही नहीं की।इसके बाद गत 30 जनवरी को न्यायालय में इस्तगासा पेश कर मामले की जांच कराने का निवेदन किया गया। आपको बता दें कि हार्दिक पंड्या को भारतीय टीम में ताबड़तोड़ बल्लेबाजी के लिए जाना जाता है। आपको बता दें कि आईपीएल में हार्दिक मुबंई इंडियन की तरफ से खेलते है।