झारखंड विधानसभा चुनाव: जेएमएम और कांग्रेस को स्पष्ट बहुमत, BJP ने स्वीकारी हार

नई दिल्ली। झारखंड विधानसभा की 81 सीटों के लिए पांच चरणों में मतदान की गणना में भाजपा को जेएमएम कांग्रेस गठबंधन ने फिर काफी पीछे छोड़ दिया है। जेएमएम अकेले 30 सीटों पर आगे हो गई है और बीजेपी को पीछे छोड़ राज्य में सबसे बनी पार्टी बन गई है।

गठबंधन 47 सीटों पर आगे हो गया है अब देखने वाली बात ये है कि क्या गठबंधन जीत का ‘अर्द्धशतक’ लगा पाएगी? यानी क्या 50 सीटें उसे मिलेंगी?

जमशेदपूर्व से मुख्यमंत्री रघुबर दास इस समय बागी सरयू राय से काफी पीछे हो गए हैं। अभी तक मिल रहे रुझानों के मुताबिक मुख्यमंत्री सहित 5 मंत्री हार की ओर जाते दिख रहे हैं।

झारखंड विधानसभा में बहुमत के लिए 41 सीटें चाहिए। झारखंड में गठबंधन के बढ़त की ओर लगातार बढ़ने के बाद कांग्रेस ने सोमवार को उम्मीद जताई कि राज्य में इस गठबंधन को पूर्ण बहुमत मिलेगा और हेमंत सोरेन के नेतृत्व में अगली सरकार बनेगी।

कांग्रेस के झारखंड प्रभारी आरपीएन सिंह ने कहा, ‘हमने लोगों के जीवन को छूने वाले मुद्दे उठाते हुए चुनाव लड़ा। हमें विश्वास है कि हम सरकार बनाएंगे। JMM- कांग्रेस गठबंधन को मिली बढ़त के बाद हेमंत सोरेन पिता शिबू सोरेन से मिलने पहुंचे।

झारखंड के मुख्यमंत्री रघुबर दास ने कहा कि बीजेपी की हार की बात कहना अभी जल्दबाजी है. अभी भी कई राउंड की काउंटिंग बाकी है. हालांकि उन्होंने अपनी हार स्वीकार कर ली है. मुख्यमंत्री रघुवर दास बीजेपी के बागी उम्मीदवार सरयू राय से करीब 6 हजार वोट से पीछे चल रहे हैं।

जेएमएम और कांग्रेस को स्पष्ट बहुमत मिलने से पहले मरांडी को किंगमेकर के तौर पर देखा ज रहा था। इस बार झारखंड चुनाव में मुख्यमंत्री रघुबर दास, JMM के हेमंत सोरेन और झारखंड स्टूडेंट यूनियन के प्रेसीडेंट सुदेश महतो प्रमुख उम्मीदवारों में शामिल थे।

%d bloggers like this: