युद्ध हो या अकाल हो, झुंझुनूं झुकना नहीं, लड़ना जानता है: मोदी

झूंझूंनू। मौका महिला दिवस का इस मौके पर देश के प्रधानमंत्री राजस्थान के शेखावाटी के झूंझूंनू जिले में पहुंचे। पीएम मोदी ने यहां राष्ट्रीय पोषण मिशन की शुरुआत की। पीएम मोदी ने इस मौके पर लोगो को संबोधित करते हुए कहा कि “ये वीरो की भूमि है। इस जिले ने साबित कर दिया है कि युद्ध हो या अकाल हो, झुंझुनूं झुकना नहीं, लड़ना जानता है।

 

इसके साथ ही प्रधानमंत्री मोदी ने झूंझूनू के लिंगानुपात को लेकर जिले की जमकर तारीफ की। आपको बता दें कि 2011 में जहां झूंझूंनू में 1000 बेटों पर 837 बेटिंया थी। तो वहीं अब 1000 बेटों पर 955 बेटियां है। इस मौके पर राज्य की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, बॉलीवुड़ एक्ट्रेस प्रियंका चोपड़ा और केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी मौजूद रहीं।

प्रधानमंत्री मोदी ने लोगो को संबोधित करते हुए पीए मोदी ने कहां कि ”सामाजिक बुराइयों के चलते हमने अपनी ही बेटियों की बलि चढ़ाना तय कर लिया। कई दशकों तक बेटियों को नकारते रहे, आज 4 से 5 पीढ़ियां जमा हुई हैं। कई सालों में जो घाटा हुआ, उसे पूरा करने में समय तो लगेगा, लेकिन तय कर लें कि बेटा और बेटियां बराबर पढ़ेंगी। जितने बेटे पैदा होंगे, उतनी ही बेटियां पैदा हों। पीएम ने महिलाओं के महत्व को समझाते हुए लोगो से कहा कि “जन्म से ही बच्चे को मां का दूध पीने को मिले तो आगे उसकी कई बीमारियां दूर हो जाती हैं।” पीएम ने कहा कि अगर हम मां की रखवाली करेंगे तो उसके दूध से बच्चों में कुपोषण दूर हो जाएगा।

मुख्यमंत्री राजे ने सैन समाज को दी सौगातें

जयपुर। राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने आपसी दूरियों को पाटकर सबको जोडऩे के काम को समाज में सबसे महत्वपूर्ण कार्य बताया है। मुख्यमंत्री राजे आज यहां मानसरोवर में आयोजित नाई जागृति महासम्मेलन एवं आभार रैली में सैन समाज के लोगों को सम्बोंधित कर रही थीं। उन्होंने कहा कि सैन समाज एक ऐसा सरल समाज है जो सभी कौम को साथ लेकर चलता है।

उन्होंने कहा कि सरकार ने सैन समाज की उन्नति के लिए केश कला बोर्ड के गठन जैसे कई काम किए ताकि समाज के लोगों की समस्याओं का समय पर समाधान हो सके। उन्होंने कहा कि सैन समाज स्वरोजगार के माध्यम से अपनी आजीविका चलाता आ रहा है। प्रदेश के केश कलाकारों को स्वावलम्बी बनाने के उद्देश्य से इस बार राज्य बजट में हेयर ड्रेसर की दुकान के लिए दो लाख रुपये तक ब्याज मुक्त ऋण दिये जाने की घोषणा की गई है वहीं वर्ष 1980-81 और उसके बाद स्वरोजगार के लिए दिए गए बकाया ऋण भी दो लाख रुपये की राशि तक माफ किए गए हैं।

राजे ने कहा कि समाज के हर वर्ग से जुड़ा होने के कारण सैन समाज सरकार की कल्याणकारी योजनाओं को जरूरतमंदों तक पहुंचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। उन्होंने कहा कि सैन समाज के आराध्य देव श्री सेन महाराज की शिक्षा और सैन समाज के गौरव को फैलाने के लिए सरकार ने श्री सेन महाराज का पैनोरमा बनाने का काम भी हाथ में लिया है। पैनोरमा का कार्य अगले महीने शुरू कर दिया जाएगा। इस अवसर पर प्रदेशभर से आए सैन समाज के लोगों ने राज्य बजट में उनके लिए की गई घोषणाओं के लिए मुख्यमंत्री का आभार भी जताया।

विधायक कल्याण सिंह के निधन के बाद सदन की कार्रवाही एक दिन के लिए स्थगित….

जयपुर। भाजपा विधायक कल्याण सिंह चौहान के निधन के बाद आज राजस्थान विधानसभा की कार्यवाही एक दिन के लिये स्थगित कर दी गई। चौहान पिछले ढाई वर्ष से कैंसर की बीमारी से जूझ रहे थे। विधानसभा अध्यक्ष कैलाश मेघवाल ने शोक संतप्त परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की। उनके सम्मान में सदन में दो मिनट का मौन रखा गया उसके बाद सदन की कार्यवाही पूरे दिन के लिये स्थगित कर दी गई। चौहान नाथद्वारा विधानसभा क्षेत्र से भाजपा के विधायक थे और उन्होंने कांग्रेस नेता सी पी जोशी को एक वोट से हराया था।

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने नाथद्वारा विधायक कल्याण सिंह के निधन पर संवेदना व्यक्त करते हुए कहा कि चौहान एक सजग जनप्रतिनिधि थे। उन्होंने हमेशा गरीबों पिछड़ों सहित समाज के सभी वर्गों के कल्याण के लिये आवाज उठाई। उनका निधन हम सभी के लिये अपूरणीय क्षति है। मुख्यमंत्री ने ईश्वर से दिवंगत की आत्मा की शांति तथा शोक संतप्त परिजनों को यह आघात सहन करने की शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना की।

भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष अशोक परनामी ने नाथद्वारा विधायक कल्याण भसह चौहान के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि चौहान का निधन पार्टी के लिये एक क्षति है। पिछले वर्ष अलवर से भाजपा सांसद महंत चांदनाथ, अजमेर से भाजपा सांसद सांवरलाल जाट और मांडलगढ़ से विधायक कीर्ति कुमारी का बीमारी के चलते निधन हो गया था।

Source: Google 

विधानसभा सोमवार तक स्थगित, जानिए वजह!

जयपुर। राजस्थान विधानसभा अध्यक्ष कैलाश मेघवाल ने सदन नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी के सट्टे में तीन करोड रूपये का विडियों के मुद्दे को लेकर सदन में हुये जोरदार हंगामें और शोर-शराबे के कारण सदन की कार्यवाही सोमवार तक के लिये स्थगित कर दिया। मेघवाल ने इस मुद्दे को लेकर पहले सदन की कार्यवाही आधे घंटे, दूसरी बार शून्य काल तक स्थगित कर दी थी। शून्य काल के बाद विधाई कार्यो की कार्यवाही शुरू करते ही सदन में पुन: शोर-शराबा और हंगामा होने लगा। लगभग पांच मिनट तक चले हंगामे के बाद मेघवाल ने सदन की कार्यवाही सोमवार सुबह तक के लिये स्थगित कर दी। शून्य काल के बाद सदन की कार्यवाही शुरू होते ही संसदीय कार्यमंत्री राजेन्द्र राठौड और गृहमंत्री गुलाब चंद कटारिया ने आसन से मांग की कि इस प्रकरण की जांच करायी जाये।

दोनों ने कहा कि इस विडियों की सत्यता की जांच के लिये नेता प्रतिपक्ष द्वारा चुनावी नतीजों के लिये तीन करोड रूपये लगाने के विडियों की फोरेंसिक जांच भी करायी जाये। दोनों नेताओं ने कहा कि यह विडियों 26 जनवरी 2018 का ही है जिसमें नेता प्रतिपक्ष दो लोकसभा ओर एक विधानसभा की सीट पर तीन करोड़ रूपये का सट्टा लगा रहे है। उन्होंने कहा कि नेता प्रतिपक्ष को स्वयं इसकी जांच कराने के लिये पहल करनी चाहिये थी। इसी बीच डूडी बार-बार खडे होकर इस विडियों को गलत बताते रहे लेकिन सदन में हंगामा जारी रहा। दोंनों पक्षों की ओर से हो रहे हंगामें के बाद सदन की कार्यवाही सोमवार सुबह तक स्थगित कर दी गयी।

%d bloggers like this: