विजय दिवस 2020 : इंदिरा गांधी ने दिखाया था अपना रूद्र रूप, 13 दिन में जीत लिया युद्ध

आज का दिन हर भारतीय के लिए गर्व का वह दिन है जब भारत की पहली महिला प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने एक ऐसा ​फैसला लिया जो इतिहास के पन्नों में विजय दिवस के रूप में जाना जाने लगा। बात करें 16 दिसंबर 1971 की तो वह दिन भारतीय सेना के साथ हर भारतीय के लिए गर्व का दिन था इस दिन भारतीय सेना के अदम्य साहस, वीरता की कहानी इतिहास के पन्नों में स्वर्ण अक्षरों में दर्ज हो गयी।

16 दिसंबर  1971 वो दिन भारत के इतिहास में एक नया अध्याय बना ​उस समय के तत्कालीन प्रधानमंत्री इं​दिरा गांधी ने दुनिया के सबसे शक्तिशाली देश अमेरिका को नजरअदांज करते हुए पाकिस्तान पर आंक्रमण कर दिया और उसके दो टूकड़े करके पाकिस्तान को ऐसा घाव दिया जो सदियों तक उसको चुभता आ रहा है। इंदिरा गांधी ने अमेरिका की चेतावनी के बाद भी पाकिस्तान के दो टुकड़े किए और नया देश बनवा दिया ऐसा करना किसी महिला प्रधानमंत्री के लिए बहुत हिम्मत की बात है।

बताया जाता है कि 3 दिसंबर को पाकिस्तान ने भारत के 11 एयरफील्ड्स पर हमला किया था। इसके बाद यह युद्ध शुरू हुआ और महज 13 दिन में भारतीय सैनिकों ने पाकिस्तान को खदेड़ दिया था। बताया जाता है कि पाकिस्तान के 93000 सैनिकों ने भारतीय सेना के सामने आत्मसमर्पण करते हुए सेना सामने हथियार डाल दिए थे।

इंदिरा गांधी को दुर्गा का अवतार भी कहा जाता है क्योंकि एक महिला होते हुए उन्होंने इतना बड़ा फैसला किया जो किसी चमत्कार से कम नहीं था। उस समय अमेरिका भी इंदिरा को पंसद नहीं करता था इसके बावजूद इंदिरा अमेरिका को किनारे करते हुए पाकिस्तान के दो टूकड़े कर दिये।

देश की सीमाओं की रक्षा करने में सेना पूरी तरह सक्षम – रक्षामंत्री

नई दिल्ली। भारतीय सेना स्थिति से निपटने के लिए हर जरूरी कदम उठा रही है। नई दिल्ली में एक समारोह के मुख्य कार्यक्रम से अलग रक्षामंत्री ने यह बात कही। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि भारतीय सेना देश की सीमाओं की रक्षा करने में पूरी तरह सक्षम है।

इससे पहले, श्री राजनाथ सिंह ने रक्षामंत्री उत्कृष्टता पुरस्कार 2019 प्रदान किये। ये पुरस्कार छावनी बोर्डों के बेहतर कामकाज, दिव्यांग बच्चों के केन्द्र चलाने और स्वच्छ छवि स्वच्छ छावनी अभियान सहित आठ श्रेणियों में दिये जाते हैं।

पाकिस्तान द्वारा संघर्ष विराम के उल्लंघन को लेकर सवाल पर राजनाथ सिंह ने कहा कि बॉर्डर को लेकर सारे देश को आश्‍वस्‍त रहना चाहिए। यही मैं कहना चाहूंगा क्‍योंकि हमारी सेना इतनी सक्षम है जो भी आवश्‍यक होगा वो सब करेगी ये आश्‍वस्‍त रहिए।

बारामूला के पुलिस अधिक्षक अब्‍दुल कय्यूम ने आकाशवाणी को बताया कि पाकिस्‍तानी सेना ने इस क्षेत्र में हाजी पीर इलाके में भारी गोलाबारी की, जिसका भारतीय सैनिकों ने मुंहतोड़ जवाब दिया।

उत्‍तर कश्‍मीर के उरी सेक्‍टर में नियंत्रण रेखा के समीप नागरिक ठिकानों और भारतीय अग्रिम चौकियों पर कल पाकिस्‍तान की ओर से की गई गोलाबारी से सेना का एक जेसीओ शहीद हो गया और एक अन्‍य महिला की भी मौत हो गई।

जम्मू-कश्मीर पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह ने आतंकवादियों को निकाल बाहर करने के लिए कश्मीर में नाकेबंदी करके सघन तलाशी अभियान चलाने का आह्वान किया है।

दिलबाग सिंह ने बताया कि पुलिसकर्मियों से विघटनकारी गतिविधियों समेत किसी भी स्थिति से निपटने के लिए एकजुट होकर कार्य करने को कहा। पुलिस महानिदेशक का यह बयान गृहमंत्री अमित शाह द्वारा गृहमंत्रालय और जम्मू-कश्मीर के शीर्ष अधिकारियों के साथ सुरक्षा स्थिति की समीक्षा के लिए आयोजित उच्चस्तरीय बैठक के बाद आया है।

थलसेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने नागरिकता संशोधन कानून को लेकर प्रदर्शनों के दौरान हुई हिंसा की आलोचना की है। संसद द्वारा पारित इस कानून पर हिंसा के बारे में एक प्रश्न के उत्तर में जनरल रावत ने कहा कि नेताओं को जनता को सही रास्ता दिखाना चाहिए।

पाक सेना ने किया सीजफायर उल्लंघन, उरी सेक्टर में एक जवान शहीद

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के उरी सेक्टर में पाकिस्तान की सेना के जवानों द्वारा किए गए सीजफायर उल्लंघन में इंडियन आर्मी का एक सैनिक शहीद हो गया। पाकिस्तान की इस नापाक हरकत का भारतीय सेना द्वारा पाकिस्तान की इस कायराना हरकत का मुंहतोड़ जवाब भी दिया जा रहा है।

इससे पहले जम्मू-कश्मीर के बारामूला और शोपियां जिलों में अलग-अलग अभियानों में लश्कर-ए-तैयबा के एक आतंकी और जैश-ए-मोहम्मद के तीन आतंकवादियों को गिरफ्तार किया गया था। पुलिस टीम इन आतंकियों से पूछताछ कर रही है।

पाकिस्तान की सेना के जवानों द्वारा किए गए सीजफायर उल्लंघन में भारतीय सेना का एक जवान शहीद हो गया है। जम्मू-कश्मीर के बारामूला और शोपियां जिलों में चार आतंकियों को गिरफ्तार किया गया था आतंकियों की गिरफ्तारी के बाद पुलिस इनसे लगातार पूछताछ कर कनेक्शन तलाशने में जुटी है।

भारतीय सेना ने जम्मू-कश्मीर में नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तानी बैट टीम के हमले की बड़ी साजिश को नाकाम कर दिया था। सेना ने पाकिस्तान के दो स्पेशल सर्विस ग्रुप कमांडो को मार गिराया था।

सर्जिकल स्ट्राइक “पराक्रम पर्व” 51 शहरों में भाजपा की तैयार पूरी –

“पराक्रम पर्व”

जोधपुर | भारतीय आर्मी द्वारा पाकिस्तान में आतंकवादी कैंपो पर भारतीय सैनिकों द्वारा की गई सर्जिकल स्ट्राइक के 2 साले पुरे होने के अवसर पर देश की प्रधानमंत्री मोदी आज जोधपुर पहुंचे , प्रधानमंत्री मोदी ने कहा की भारतीय सैनिको द्वा

रा जो पराक्रम दिखाया और सीमा पार स्थिति आतंकी केंपो को ध्वस किया उन जवानों के पराक्रम को याद कर गर्व का अनुभव कर हूँ आज पुरे देश को उन जवानों पर गर्व है ,इसके बाद मोदी ने कोणार्क युद्ध स्मारक पर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की | इसके साथ हीआज का दिन  पराक्रम पर्व दिवस  के रूप में बनाया जायेगा, मोदी  ने जोधपुर मिलिटरी स्टेशन पर सेना के ‘पराक्रम पर्व’ प्रदर्शनी का उद्घाटन किया. पीएम ने सेना की रक्षा तैयारियों और साजोसामान पर आधारित प्रदर्शनी देखी. इस दौरान सेना के बैंड ने ‘कदम कदम बढ़ाए जा’ धुन बजाई। प्रदर्शनी के दौरान लगातार भारतीय जवानों के पराक्रम की वीर गाथा सुनाई गई।

ख़ास नज़र –

गौरतलब है की सर्जिकल स्ट्राइक की दूसरी वर्षगांठ को अब पराक्रम पर्व के रूप में बनाया जायेगा .यह आगामी राजस्थान विधानसभा चुनाव व् आगामी लोकसभा 2019 के मध्य नज़र मोदी सरकार का मास्टर स्टोक के रूप में काम आ सकता है इसी कड़ी में मोदी सरकार ने एक सर्जिकल स्ट्राइक का विडिओ शेयर किया है | अब भाजपा सरकार  28 से 30 सितंबर तक देश के 51 में पराक्रम पर्व का आयोजन करने जा रही है |

 

 

 

भारत सरकार का बड़ा फ़ेसला-

 नई दिल्ली  |  भारत सरकार ने  चीन और पाकिस्तान की सीमा पर निरंतर हो रही हिंसक घटनाओं के बीच ,भारत सरकार ने एक बड़ा फ़ेसला लिया है | मोदी सरकार अब इन सीमाओं पर सैटेलाइट सिस्टम के जरिए नजर रखेगी, जिसके तहत  भारत के खिलाफ हो रही गतिविधियों पर भारतीय सेना को बिल्कुल सटीक रियल टाइम  जानकारी मिल सकेगी कहा

जा रहा है कि इ

स पूरी गतिविधियो पर नजर रखने के लिए दिल्ली-एनसीआर में मुख्यालय भी बनाया जा सकता है|

गृहमंत्रालय के सूत्रों की मानें, तो इस सैटेलाइट सिस्टम को लेकर गृहमंत्रालय से साथ BSF .SSB  .ITBP.और ISRO के अधिकारियों के बीच बैठक का दौर समाप्त हो चूका हो है. साफ है अगर ये सिस्टम काम में आता है तो भारत-पाकिस्तान, भारत-बांग्लादेश, भारत-चीन, भारत-नेपाल बॉर्डर पर होने वाली घुसपैठ पर रोक लग सकती है  सिस्टम आने  के बाद से डोकलाम जैसी घटनाओं, पाकिस्तान की ओर से लगातार आतंकवादियों की घुसपैठ और बांग्लादेश बॉर्डर से होने वाली तस्करी पर नजर रखी जाएगी एनसीआर में बनने वाला मुख्यालय सीमाओं पर तैनात फोर्स के लिए कंट्रोल रुम के तौर पर कार्य करेगा |

 सुरक्षा बलों को क्या होगा फायदा-

 

1. बॉर्डर पर हो रही गतिविधियों की रियल टाइम इमेज (डे एंड नाईट) जानकारी  मिल सकेगी.

2. सैटेलाइट पर लगे कैमरों से निर्धारित जगह को फोकस करके ऑपरेशन करने  मदद में मिलेगी |

 3. बॉर्डर पर सूचना तंत्र बजबूत होगा

4. सेटेलाइट फ़ोन डेडिकेटेड बॉर्डर गार्डिंग फ़ोर्स के पास इस उपग्रह के जरिये मिल सकेगा |