विद्यार्थियों की प्रतिभा को लेकर कटारिया ने कही ये बड़ी बात!

जयपुर। गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया ने कहा कि देश एवं प्रदेश की उन्नति के लिए बेहतरीन शैक्षिक स्तर की जरूरत है, उन्होंने शिक्षक वर्ग का आह्वान किया है कि वे संकल्पबद्ध होकर विद्यार्थी प्रतिभा को तराशने का कार्य करें। गुलाबचंद कटारिया बुधवार को उदयपुर के रेजीडेंसी बालिका सीनियर सैकण्डरी विद्यालय में ‘सुपर क्लासेज’ संचालन में सहयोग देने वाले शिक्षकों एवं अब तक कोई छात्रवृत्ति न लेने वाली विद्यार्थी प्रतिभाओं के सम्मान समारोह को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि सरकार के कारगर प्रयासों से राजस्थान शैक्षिक दृष्टि से पिछड़े राज्यों की श्रेणी से ऊपर उठा है। बालिका प्रोत्साहन एवं विद्यार्थी कल्याण की योजनाओं से सरकारी विद्यालयों में शैक्षिक स्तर से बड़ा परिवर्तन आया है। उन्होंने विद्यार्थी वर्ग का आह्वान किया कि वे अपने बौद्धिक स्तर को पहचानें और श्रेष्ठ बनकर समाज व राष्ट्रसेवा में योगदान दें। उन्होंने सुंदर सिंह भण्डारी चेरिटेबल ट्रस्ट की ओर से राजकीय विद्यालयों में संचालित सुपर-20 क्लासेज में नि:स्वार्थ अध्यापन कराने वाले शिक्षकों के सेवा कार्यों की मुक्तकंठ से सराहना की।

कटारिया ने रेजीडेंसी विद्यालय के भौतिक एवं विद्यार्थी कल्याण के लिए आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए आश्वस्त करते हुए तखमीना बनाने के निर्देश शाला प्रशासन को दिए।समारोह में शिक्षा उपनिदेशक भरत मेहता, समाजसेवी लोकेन्द्र सिंह राठौड़, रेजीडेंसी की प्रधानाचार्य श्रीमती उर्मिला त्रिवेदी ने अपने उद्बोधन में शैक्षिक उन्नयन, शाला विकास एवं सेवा कार्यों आदि पर विस्तार से चर्चा की।

अरेस्ट किसान नेताओं के लिए गृहमंत्री कटारिया ने कही ये बात!

जयपुर। राजस्थान के गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया ने कहा कि गिरफ्तार 165 किसान नेताओं को शीघ्र रिहा किया जाएगा। विधानसभा में गुरुवार को सदन की कार्रवाई दो बार स्थगित होने के बाद जब शुरु हुई तब कटारिया ने कहा कि महापड़ाव से पहले जिन किसान नेताओं को पुलिस ने गिरफ्तार किया है उन्हें शीघ्र ही रिहा किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि ऐसे किसानों की संख्या 165 है। उन्होंने कहा कि उच्च न्यायालय के आदेश के मुताबिक जयपुर में धरना प्रदर्शन नहीं किया जा सकता लिहाजा महापड़ाव के लिए आ रहे किसानों को रोकना पड़ा। इससे पहले शून्यकाल में निर्दलीय राजकुमार शर्मा द्वारा किसानों की कर्ज माफी और गिरफ्तारी का मुद्दा उठाने पर सत्ता पक्ष एवं प्रतिपक्ष के बीच काफी तकरार के कारण हंगामा हुआ तथा सदन की कार्रवाई दो बार स्थगित की गई।

प्रदेश में बढ़ती अपराध की घटनाओं लगाये अंकुश : गहलोत

उदयपुर। राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि प्रदेश में बढ़ती अपराध की घटनाओं पर राज्य सरकार को अंकुश लगाने का प्रयास करना चाहिए। एक दिवसीय दौरे पर उदयपुर आए गहलोत ने आज यहां मीडिया से कहा कि राज्य में बढ़ते अपराध के ग्राफ की हद पार हो चुकी हैं। राज्य में आये दिन बलात्कार, डकैती, चोरी जैसी घटनाओं में बढोत्तरी हो रही हैं। उन्होंने कहा कि सुना है गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया के पास कोई अधिकार नहीं हैं। उनके पास कोई अधिकार नहीं हैं तो उनको अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिये। उन्होंने कहा कि राज्य में बढ़ती अपराध की घटनाओं से माहौल खराब हो रहा हैं।

उदयपुर में वाल्मिकी समाज के लोगों द्वारा नगर निगम में भर्ती संबंध में दिये जा रहे धरने पर उन्होंने कहा कि यह भारतीय जनता पार्टी सरकार की लापरवाही का नमूना हैं। उन्होंने कहा कि सरकार के चार वर्ष पूरे हो चुके है। पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार द्वारा उदयपुर नगर निगम में सफाईकर्मियों की भर्ती की स्वीकृति की जा चुकी थी और इतना समय बीतने के बाद भी किन कारणों से भर्ती नहीं की जा रही हैं।

%d bloggers like this: