भाजपा सरकार में ” गोरखनाथ मन्दिर के दलित महंत की असहनीय पीड़ा ” –

गोरखनाथ मंदिर विवाद

जयपुर | सांगानेर इंडिया गेट स्थित महायोगी गुरु गोरखनाथ मन्दिर में जे दी ए द्वारा तोड़फोड़ 27 फ़रवरी को की करवाई की गई थी , जिससे हिन्दू समाज के लोगो ने विरोध किया था , जिसके बाद प्रशासन ने मंदिर की तोड़ी गई दीवार को पुन: बनाने की बात कही थी , किन्तु आज दिनांक तक jda प्रशासन ने मंदिर की कोई सुध नहीं ली है जिसके कारन मंदिर के दलित पुजारी टूटे मंदिर में ही नवरात्रे कर रहे है |

मंदिर पुजारी का कहना है की वह  मंदिर पिछले  50 वर्षो से पूजा -पाठ करते आ रहे है , लेकिन मंदिर के पीछे जब से कॉमर्शियल काम्प्लेक्स बना है उसके उच्च जाती के मालिक को यह चाहते है की वह मंदिर को अन्यत्र ले जाए ताकि उनका कॉम्प्लेक्स का गेट मेन टोंक रोड आ जाये जिसके लिए वह मुझे लम्बे समय से मानसिक प्रताड़ित कर रहे है ,अभी कुछ दिन पहले भी मुझे पर अज्ञात लोगो ने मुझ पर हमला भी किया था जिसकी जानकारी में  यहाँ के पुलिस प्रशासन को की थी लेकिन अभी तक कोई ठोस कार्यवाही नहीं नहीं हुई है |

क्या है पूरा मामला – एक नजर –

भाजपा राज में तोड़े जा रहे है मंदिर – हिन्दू संगठनो ने किया विरोध 

सीतापुरा इंडिया गेट सांगानेर स्थित महायोगी गुरु गोरखनाथ जी के मन्दिर में जे डी ए { JDA } ने तोड़फोड़ कर हिंदुत्व के सीने पर आघात पहुंचाया है
आज जो सरकार मंदिर और गाय के नाम पर राजनेतिक रोटियां सेक रही

है क्या उस सरकार को ये सब नहीं दिखता है
या ये सब जातिवाद का ही एक चेहरा है क्योंकि इस मंदिर में बरसों से एक नीची जाती के रामसिंह बैरवा जो कि अनुसूचित जाति { sc }  में आते है पूजा पाठ करते है जब उन्हें मन्दिर के पीछे बनी दुकानों के मालिक जो कि जाति से ब्राह्मण है ने इन्हें हटाकर अपना पण्डित पुजारी रखने को कहा जब नहीं माने तो डराया धमकाया पुजारी रामसिंह बैरवा की गाड़ी में तोड़फोड़ करवाई, पैसे लेकर मन्दिर छोड़ने का प्रलोभन दिया ओर जब भी नहीं मानने पर करीब 30 असामाजिक तत्वों को बुलाकर जे डी ए { JDA }  की कार्यवाही में शामिल करवाकर मन्दिर को साजिश के तहत तुड़वा दिया |

जब कि इस मन्दिर का मामला कोर्ट में लंबित है

दलित पुजारी –  गोरतलब है उपरोक्त मंदिर बाबा गोरखनाथ का है जिसे में लम्बे अर्स से दलित समाज के रामसिंह बैरवा पूजा पाठ करते है जिस को लेकर पड़ोस में रहने वाले ऊँची जाती के लोग विरोध करते है और कई बार मंदिर पुजारी  रामसिंह बैरवा  पर जान लेवा हमला भी हो चुका है अभी कुछ समय पहले पुजारी के वाहन में अज्ञात लोगो ने थोड -फोड़ कर दी थी जिसकी शिकायत पुजारी ने स्थानीय पुलिस में भी की थी |

ख़ास नजर – जिस तरह से भाजपा सरकार में मंदिरों में तोड़ फोड़ की जा रही है उससे जनता में भारी नाराजगी है जिसका खामियाज़ा आगामी विधानसभा चुनावो में भाजपा को मिल सकता है , गोरतलब है उपरोक्त मंदिर बाबा गोरखनाथ का है जिसे में लम्बे अर्स से दलित समाज के रामसिंह बैरवा पूजा पाठ करते है जिसको लेकर भी ख़ास समाज के लोगो द्वारा कई बार भारी विरोध किया गया

 

 

{  जैसा  गोरखनाथ मंदिर के पुजारी ने बताय उसी जुबां तथ्यों पर आधारित }

%d bloggers like this: