झारखंड के 11वें मुख्यमंत्री के रूप में हेमंत सोरेन ने ली शपथ, समारोह में दिग्गज नेताओं ने की शिरकत

नई दिल्ली। हेमंत सोरेन झारखंड के 11वें नए मुख्यमंत्री बन गए हैं। झारखंड की राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने हेमंत सोरेन को मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई। उन्होंने मोरहाबादी मैदान में शपथ ली। हेमंत सोरेन के साथ तीन मंत्रियों ने भी शपथ ली। इसमें दो कांग्रेस और एक आरजेडी से हैं।

बता दें कि झारखंड विधानसभा चुनाव में 81 सीटों में झारखंड मुक्ति मोर्चा के नेतृत्व में बने कांग्रेस-RJD गठबंधन ने 47 सीटें जीतकर स्पष्ट बहुमत हासिल किया था। सूबे के मुख्यमंत्री रहे रघुबर दास और बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा भी चुनाव हार गए और बीजेपी को सिर्फ 25 सीटें हासिल हुईं।

हेमंत सोरेन के शपथ ग्रहण समारोह में विपक्षी एकता की झलक भी दिखी। शपथ ग्रहण समारोह में राहुल गांधी, ममता बनर्जी, तेजस्वी यादव, सीताराम येचुरी, डी राजा, डीएमके नेता स्टालिन, अशोक गहलोत और आप नेता सहित कई विपक्षी नेता मंच पर दिखे. झारखंड में बीजेपी की सरकार को हटाकर गठबंधन की सरकार बनी है।

हेमंत सोरेन के साथ कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष रामेश्वर उरांव, कांग्रेस विधायक दल के नेता विधायक आलमगीर आलम और RJD विधायक सत्यानंद भोक्ता ने भी कैबिनेट मंत्री पद की शपथ ली। राहुल गांधी कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने रविवार को भरोसा जताया कि झारखंड में नई गठबंधन सरकार सभी के लिए काम करेगी।

इन चुनावों में हेमंत सोरेन की पार्टी ने रिकॉर्ड 30 सीटें जीतीं. अब JMM विधानसभा में सबसे बड़ा दल है, जबकि सिर्फ 25 सीटें जीत पाने से बीजेपी का विधानसभा में सबसे बड़ा दल बनने का सपना भी चकनाचूर हो गया। तीन पार्टियों (JMM, RJD और कांग्रेस) के गठबंधन को चार अन्य विधायकों ने भी समर्थन दिया है। इनमें से तीन विधायक झारखंड विकास मोर्चा के और एक विधायक भाकपा के हैं।

राहुल गांधी ने कहा कि शांति तथा समृद्धि के नए युग की शुरुआत करेगी. राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ‘मैंने आज रांची में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेनजी और राज्य सरकार में कांग्रेस के मंत्रियों के शपथ ग्रहण समारोह में भाग लिया। मुझे विश्वास है कि झारखंड में नई सरकार सभी नागरिकों के भले के लिए काम करेगी तथा राज्य में शांति एवं समृद्धि के नये युग की शुरुआत करेगी।

विधानसभा चुनाव: झारखण्ड में गठबंधन को प्रचंड बहुमत, 27 को शपथ लेंगे हेमंत सोरेन

रांची। झारखंड विधानसभा चुनाव में झारखंड मुक्ति मोर्चा (जेएमएम), कांग्रेस और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) गठबंधन ने बहुमत हासिल कर लिया है। 27 दिसंबर को हेमंत सोरेन मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। जेएमएम के 6, कांग्रेस के 5 और आरजेडी के कोटे से एक मंत्री शपथ लेंगे। यानी हेमंत सोरेन के साथ 12 मंत्री शपथ लेंगे। इसके अलावा कांग्रेस के खाते में स्पीकर पद जा सकता है।

बता दें कि बीजेपी को करारी हार का सामना करना पड़ा है। पिछले विधानसभा चुनावों में जहां बीजेपी ने 37 सीटें जीती थीं, वहीं वह इस बार सिर्फ 25 सीटें मिल पाईं। बीजेपी की सहयोगी रही आजसू पिछली विधानसभा में सिर्फ आठ सीटें लड़कर पांच सीटों पर जीती थी, जबकि इस बार उसने 53 सीटें लड़कर महज दो सीटें जीत पाई।

झारखंड में झारखंड मुक्ति मोर्चा (जेएमएम), कांग्रेस और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) गठबंधन को प्रचंड बहुमत मिला है। गठबंधन ने 81 में से 47 सीटें जीती हैं। इस जीत के बाद अब गठबंधन के नेता जल्द ही सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे।

बता दें कि बीजेपी के लिए महतो वोटबैंक में घाटा साबित हुआ है। बिहार में जेडीयू और बीजेपी गठबंधन में हैं लेकिन झारखंड में दोनों पार्टियों ने अलग-अलग चुनाव लड़ा जिसका घाटा दोनों को उठाना पड़ा। इससे बीजेपी के ओबीसी वोट बैंक को नुकसान बताया जा रहा है। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी कुर्मी जाति से हैं। जेडीयू झारखंड में खाता खोलने में भी विफल रही।

झारखंड मुक्ति मोर्चा के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन ने कहा कि महागठबंधन सरकार राज्‍य के लोगों की आकांक्षाएं पूरी करेगी।

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने हेमंत सोरेन और झारखंड मुक्ति मोर्चा के नेतृत्‍व वाले गंठबंधन को चुनाव में जीत पर बधाई दी है। एक ट्वीट में मोदी ने भारतीय जनता पार्टी को कई वर्षों तक राज्‍य की सेवा करने का अवसर देने के लिए राज्य की जनता को धन्‍यवाद दिया।

इस बीच, झारखंड मुक्ति मोर्चा के निर्वाचित सदस्यों की आज रांची में बैठक हो रही है, जिसमें विधायक दल का नेता चुना जाएगा। पार्टी अध्यक्ष शिबू सोरेन बैठक की अध्यक्षता करेंगे। पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन को पार्टी विधायक दल का नेता चुने जाने की संभावना है।