कोरोना वैक्सीन में सुअर की चर्बी होने पर भड़के मुस्लिम संगठन

कोरोना वैक्सीन को लेकर भारत के मुस्लिम समाज ने इसके इस्तेमाल को लेकर अपनी नाराजगी जाहिर कर दी है। खबरों के अनुसार बताया जा रह है कि मुस्लिम संगठनों ने आरोप लगाया है कि चाइना में जो वैक्सीन तैयार की गयी है उसमें सुअर की चर्बी का इस्तेमाल किया गया है जो सही नहीं है। मुस्लिम समाज के नेताओं ने कहा कि इस्लाम में सुअर की चर्बी या मांस का इस्तेमाल करना वर्जित है और इस कारण हम इस वैक्सीन का इस्तेमाल नहीं करेंगे।

इससे पहले अरब अमीरात के मुस्लिम संगठनों ने कोरोनावायरस के टीकों को सही बताते हुए उसके इस्तेमाल करने की अनुमति प्रदान की थी। जानकारों के अनुसार टीकों में भी पोर्क का इस्तेमाल होता है इसी वजह से इस वैक्सीन का विरोध किया जा रहा है। चाइना में तैयार हुए कोरोना टीके को लेकर बताया गया कि इसमें सुअर की चर्बी या उसके मांस का इस्तेमाल किया गया है। मुस्लिम समुदाय ने कहा कि यह हमारी आस्था का सवाल है और इसी वहज से हम लोग इस वैक्सीन का इस्तेमाल नहीं करेंगे।


भारत में कोरोना वैक्सीन को लोगों तक पहुंचानी की सभी तैयारी लगभग पूरी हो चुकी है और नये साल की शुरूआत होने के साथ लोगों को कोरोना का टीका भी लगना शुरू हो जाएगा। लेकिन सुअर वाली वैक्सीन को लेकर इस प्रकार की नाराजगी प्रशासन और सरकार दोनों के लिए परेशानी खड़ी कर सकती है। भारत में कई वैक्सीन का ट्रायल चल रहा है और जल्द ही इसके परिणाम आने वाले है जो बहुत अच्छ खबर होगी।

बच्चों के लिए ज्यादा खतरनाक है नया कोरोना वायरस, जानिए पूरी खबर

कोरोना वायरस की मार झेल रही पूरी दुनिया अब कोरोना के नये वायरस वाली खबर से ज्यादा डरी हुई है। अत तक मिली जानकारी के अनुसार नया कोरोना वायरस बच्चों के लिए सबसे ज्यादा खतरनाक साबित हो सकता है इसी बात को लेकर सभी देशों ने इसको रोकने के लिए जरूरी कदम उठाने शुरू कर दिये है। नया वायरस का प्रकोप अभी ब्रिटेन में ही देखने को मिल रहा है लेकिन इस वायरस के बारे में बताया जा रहा है कि वह बहुत ही जल्दी किसी को अपना शिकार बना लेता है और इसका खतरा बहुत ज्यादा है।

ब्रिटेन में इस स्ट्रेन के बारे में रिसर्च करने से पता चल रहा है कि इसका संक्रामक 70 फीसदी होने के साथ यह छोटे बच्चों को अपना शिकार जल्दी बना लेता है। ब्रिटेन में अब तक मिले इस वायरस के मरीजों में सबसे ज्यादा 15 साल से कम उम्र वाले बच्चे इसके शिकार हुए है। हालाकि यह स्ट्रेन सभी उम्र के लोगों के लिए ज्यादा खतरनाक है। इस वायरस को लेकर सभी डॉक्टरों ने स्पष्ट कर दिया है कि इस वायरस को ज्यादा हल्के में नहीं लेना होगा क्योंकि इस का प्रभाव बहुत ही खतरनाक है जो कम समय में ज्यादा लोगों को अपनी पकड़ में ले लेता है।

नए वायरस की खबर के बाद भारत में भी यूरोप से लौटे सभी लोगों की पहचान करने के साथ उनको 14 दिन के लिए घर में रखने के निर्देश जारी कर दिये है। इसके साथ इस नये वायरस के इलाज और इसकी वैक्सीन बनाने पर काम भी शुरू कर दिया गया है। भारत में जनवरी माह से कोरोना का टीका लगाने का कार्यक्रम भी शुरू कर दिया जाएगा और इसकी सभी तैयारी लगभग पूरी हो चुकी है।

निजी स्कूल ले सकेंगे 70 फीसदी फीस, जाने पूरा मामला

राजस्थान हाईकोर्ट ने निजी स्कूलों की फीस को लेकर बड़ा फैसला दिया है हाईकोर्ट के निर्देशानुसार ऑनलाइन पढ़ाने वाले सीबीएसई स्कूल 70 फीसदी फीस ले सकते है। कोरोना काल में कई स्कूलों ने आॅनलाइन पढ़ाना जा रहा था इसी बात को ध्यान में रखते हुए कोर्ट ने यह फैसला सुनाया है। राजस्थान सरकार के शिक्षा निदेशालय के फैसले के खिलाफ निजी स्कूलों के अभिभावक हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था लेकिन अब हाईकोर्ट ने 28 अक्टूबर का शिक्षा निदेशालय बीकानेर की सिफारिशों को जारी रखा है।

इस फैसले के बाद निजी स्कूलों को राहत मिली है तो अभिभावकों को निराश हुई है लेकिन स्कूल नहीं जाकर घर से पढ़ाई करने से कोरोना का प्रकोप इतना नहीं फैला जितना दूसरे देशो में देखा गया है।

जाने पूरा मामला

कोरोना काल में राज्य सरकार ने स्कूल फीस को स्थगित कर दिया था इसके बाद निजी स्कूलों ने हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। इस पर हाई कोर्ट की एकलपीठ ने स्कूलों को ट्यूशन फीस का 60 प्रतिशत हिस्सा बतौर फीस लेने के आदेश दिये थो इसके बाद सिंगल बैंच के फैसले पर रोक लगा दी थी।

भारत में कोरोना मरीजों का ग्राफ 1 करोड़ के पार फिर भी वैक्सीन का इंतजार

कोरोना मरीजों का ग्राफ दुनिया के सभी देशों के साथ भारत में भी तेजी से बढ़ता ही जा रहा है। ताजा आंकड़ों के अनुसार देश में कुल कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा लगभग 99 लाख हो गया है लेकिन इनमें से 94लाख मरीज ठीक हो चुके हैं जो बहुत ही अच्छी खबर है। कोरोना के कारण 1.43 लाख की मौत हो चुकी है और 3.50 लाख कोरोना मरीजों का इलाज चल रहा है। रविवार को देश में कुल 27 हजार 336 मरीज कोरोना पॉजिटिव पाए जाने की खबर मिली है।

भारत में जल्द ही कोरोना के टीके लगने शुरू हो सकते हैं और इसके तैयारी करने के लिए केन्द्र सरकार ने सभी राज्यों को निर्देश भी जारी कर दिये है। टीके लगाने की प्रकिया इस तहर की होगी जिसमें कोई भी व्यक्ति आसानी से यह टिका लगवा सकेंगा और इसे एक अभियान की तरह पूरे देश में लागू किया जाएगा। कोरोना की रोकथाम के लिए कई देशों में कोरोना टीके लगने का कार्यक्रम शुरू हो चुका है।

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के CEO अदार पूनावाला ने कहा है कि नये साल की शुरू होने के साथ ही कोरोना वैक्सीनेशन उपलब्ध करवा दी जाएगी। अगर भारत में 20% आबादी को वैक्सीन लग जाएगी तो अगले साल के अन्त तक हालात सामान्य होने लग जाएंगे। अभी तक जितनी भी कोरोना वैक्सीन तैयार की गयी है वह 100 प्रतिशत तक कारगर साबित नहीं हो पाई उनमें किसी ना किसी प्रकार की कोई कमी पाई जा रही है।

राजस्थान में रविवार को लगभग 1300 लोग कोरोना संक्रमित पाए गये है। अब तक 2 लाख 91 हजार 289 लोग संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। इनमें 16 हजार 629 मरीजों का इलाज चल रहा है, जबकि 2 लाख 72 हजार 118 लोग ठीक हो गये है। इसके साथ 2542 लोगों के कारण अपनी जान गंवा चुके है।

किसान आंदोलन का 19वां दिन: सभी जिला मुख्यालयों पर धरना देंगे किसान

नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के खिलाफ देश भर के किसानों के विरोध प्रदर्शन का आज 19वां दिन है और अब यह आंदोलन धीरे—धीरे देश के सभी हिस्सों में फैल रहा है। खबरों के अनुसार बताया जा रहा है कि दिल्ली की सीमाओं पर किसान 8 बजे से भूख हड़ताल पर बैठने का फैसला करने के साथ आज देश भर में किसान सभी जिला मुख्यालयों पर धरना दिया जाएगा। इस आंदोलन पर जबरदस्त राजनीति भी देखने का मिल रही है जिसके चलते इस आंदोलन को लेकर कई प्रकार के सवाल भी खड़े किये जा रहे हैं।


दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी किसानों की भूख हड़ताल का समर्थन करते हुए वह खुद भूख हड़ताल पर बैठेंगे इस फैसलों को पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने केजरीवाल के उपवास को नौटंकी करार दिया है। किसानों के आंदोलन को लेकर मोदी सरकार हर प्रकार से किसानों से वर्ता करने के​ प्रयास कर रही है वहीं अब इस मुद्दे पर खुद अमित शाह लगातार बैठके कर रहे हैं।

कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को किसानों को मनाने के लिए अलग-अलग राज्यों और यूनियनों की जिम्मेदारी दी गई है। लेकिन,अमित शाह ने पंजाब के किसान नेताओं से बातचीत करने की जिम्मेदारी अपने पास रखी है। इस आंदोलन से जुड़े कई किसान नेताओं ने इससे दूरी बना ली है।


किसान दिल्ली-जयपुर हाईवे बंद करने के लिए राजस्थान-हरियाणा बॉर्डर पर भारी संख्या में जमा होने लगे हैं। इस आंदोलन को देश के खतरा बताने के साथ इसके तार पाकिस्तान से भी जोड़ने की बाते सामने आ रही है लेकिन किसान नेता पहले ही कह चुके हैं कि हमें किसी भी राजनीतिक पार्टी की जरूरत नहीं है हम अपने अधिकार के लिए खुद लड़ सकते हैं।

भारत को जल्द मिलेगी कोरोना की कारगर वैक्सीन! जाने इसका नाम

पिछले एक साल से कोरोना की मार झेल रही पूरी दुनिया को अब इस लाइलाज वायरस का कारगर इलाज मिलने वाला है। खबरों के अनुसार बताया जा रहा है कि पिछले सप्ताह में कई देशों ने यह ऐलान किया है कि उनके देश में इस वायरस को खत्म करने की वैक्सीन तैयार कर ली गई है।

इस वायरस के कारण पूरी दुनिया में हाहाकार मचा हुआ है और कई देशो में इसकी दूसरी लहर बहुत ही भयवाह होती नजर आ रही है। कोरोना की कारगर वैक्सीन बनाने में सबसे पहली सफलता अमेरिका को मिलती दिख रही है हालाकि इस दौड़ भारत भी पीछे नहीं है।

भारत में वैक्सीन का अन्तिम चरण में परिक्षण किया जा रहा है और अगर यह सफल होता है तो भारत दुनिया की सबसे सस्ती वैक्सीन बनाने वाला देश भी बन सकता है। भारत में पिछले कई दिनों में कोरोना के मरीजो का आंकड़ा बहुत तेजी से बढ़ा है जिसके कारण भारत को इस वैक्सीन की सबसे ज्यादा जरूरत है।

ऑक्‍सफर्ड-एस्‍ट्राजेनेका की वैक्‍सीन का अन्तिम ट्रायल किया गया जिसमें वह 90 फीसदी से ज्‍यादा असरदार रही और यह दावा सच साबित होता है तो यह भारत के लिए बहुत अच्छी खबर है।

 

कोविड 19 – नगर निगम जयपुर ग्रेटर एवं हैरिटेज में 100 ऑटो टिपरो के माध्यम से जनता को करेगा जागरूक

शहर की हर गली और घर तक पहुंचेगा कोरोना जागरूकता का संदेश
नगर निगम जयपुर ग्रेटर एवं हैरिटेज में 100 ऑटो टिपरो के माध्यम से करवाया जायेगा प्रचार-प्रसार
जयपुर, 23 सितम्बर। आमजन कोरोना वायरस के संक्रमण के प्रति जागरूक हो और सरकार द्वारा जारी दिशा निर्देशों का पालन करें। इसके लिये लोगों को जागरूक करने के लिये नगर निगम द्वारा 100 ऑटो टिपरो में लाउड स्पीकर लगवाकर कोरोना जागरूकता का संदेश प्रसारित करवाया जा रहा है। ये ऑटो टिपर लाउड स्पीकर एवं पब्लिक अनाउस सिस्टम के माध्यम से शहर की हर गली और घर तक कोरोना जागरूकता का संदेश प्रसारित करेगे।  आयुक्त नगर निगम जयपुर ग्रेटर एवं हैरिटेज  दिनेश कुमार यादव एवं लोकबन्धु ने बुधवार को निगम मुख्यालय से ऑटो टिपरो को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया।
नगर निगम जयपुर
प्रतिदिन 5 घंटे करेगे प्रचार-
अतिरिक्त आयुक्त अरूण गर्ग ने बताया कि प्रत्येक जोन को लाउड स्पीकर लगे ऑटो की संख्या निर्धारित की गई है। सिविल डिफेन्स के 100 वालिन्टयर्स को प्रशिक्षित कर प्रत्येक ऑटो में नियुक्त किया गया है। इस ऑटो पर प्री रिकॉर्डेड कोरोना जागरूकता संदेश के साथ-साथ माइक के माध्यम से संदेश प्रसारित करने की व्यवस्था है।  
सभी जोन उपायुक्तों को प्रतिदिन 5 घंटे ऑटो टिपर के माध्यम से प्रचार-प्रसार करवाना सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी दी गई है। विद्याधर नगर जोन में 14, सिविल लाईन, हवामहल जोन पूर्व, मोतीडूंगरी जोन एवं सांगानेर जोन में 13-13, हवामहल जोन पश्चिम एवं मानसरोवर जोन में 12-12 तथा आमेर जोन में 10 ऑटो टिपर कोरोना जागरूकता का संदेश प्रसारित करने हेतु निर्धारित किये गये है।