इस बयान को लेकर राहुल गांधी की दैवेगौड़ा ने की निंदा

बेंगलुरू। जनता दल(एस)-जद(एस) के अध्यक्ष और पूर्व प्रधानमंत्री एच डी दैवेगौड़ा ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के उस बयान की कड़ी निंदा की है जिसमें उन्होंने कहा था कि आगामी कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए गौड़ा ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के साथ गठजोड़ कर लिया है तथा वह वह भाजपा की बी टीम है।

राहुल गांधी ने कर्नाटक यात्रा के दौरान पिछले दो दिनों में आरोप लगाए थे कि जद(एस) अब जनता दल (संघ परिवार) बन चुका है और वह भाजपा की बी टीम है तथा गौड़ा को यह स्पष्ट करना चाहिए कि क्या वह भाजपा को मदद देने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि जद(एस) के पास कोई विचारधारा नहीं है। देवगौड़ा ने पत्रकारों के पूछे गए सवालों पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा राहुल गांधी को एक परिपक्व इंसान बनने के लिए काफी लंबी राजनीतिक यात्रा करनी थी लेकिन उन्हें अकेले ही शीर्ष राजनेता बनने दीजिए। उनके भाषण कोई और लिखता है और वह मेरे जैसे 85 वर्षीय राजनीतिज्ञ को राजनीति के मंत्र बताने की कोशिश कर रहे हैं। इस तरह के गैर जिम्मेदाराना बयानों की कड़ी निंदा की जानी चाहिए।

उन्होंने कहा कि राहुल गांधी को पहले यह समझ लेना चाहिए कि कर्नाटक में कौन सी कांग्रेस राज कर रही है और यह कोई नहीं बल्कि सिद्धारमैया की अगुवाई वाला धड़ा है, जो पहले हमारी ही पार्टी में रह चुके हैं। उन्होने इस बात पर भी आश्चर्य व्यक्त किया कि कांग्रेस कब से स्वच्छ छवि वाली पार्टी बन गई है।

संविधान में फेरबदल बर्दाश्त नहीं – राहुल गाँधी

संविधान में फेरबदल करने की इजाजत नहीं देगी कांग्रेस: राहुल गांधी

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज जनादेश रैली को संबोधित करते हुए कहा कि उनकी पार्टी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार को अपनी जरूरतों के अनुसार संविधान में फेरबदल करने की इजाजत नहीं देगी। राहुल ने कहा कि भाजपा ने संविधान पर हमला करने का नया फैशन अपनाया है। डा. भीमराव अंबेडकर ने संविधान के लिए लड़ाई लड़ी और भाजपा के लोग इसे बदलना चाहते हैं। हम उन्हें चेतावनी देते हैं कि हम इसकी इजाजत नहीं देंगे। इससे फर्क नहीं पड़ता कि वे कितनी कोशिश करते हैं, हम उन्हें संविधान में फेरबदल नहीं करने देंगे।

 

कांग्रेस अध्यक्ष ने किसानों का ऋण माफ नहीं करने के लिए भाजपा पर हमला करते हुए कहा, भाजपा ने आपके पैसे चुरा लिये और अमीरों को दे दिये। उसने पूंजीपतियों को दिया गया 2.5 लाख करोड़ रुपये का ऋण माफ कर दिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कर्नाटक आते हैं और भ्रष्टाचार के आरोप में जेल जा चुके पूर्व मुख्यमंत्री बी एस येदयुरप्पा एवं उनके चार पूर्व सहयोगियों के साथ मंच साझा करके भ्रष्टाचार पर बात करते हैं। भाजपा की ओर से पिछले लोक सभा चुनाव में विदेशों से काला धन वापस लाने और दो करोड़ युवाओं को रोजगार देने के वादों का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि उन्हें कोरी बातें नहीं करनी चाहिए और अपने वादों को पूरा करना चाहिए। उन्होंने कहा कि मैसुरू के महारानी वुमेंस कॉलेज में छात्राओं के साथ संवाद में छात्राओं ने उनसे पूछा कि मोदी ने झूठ क्यों बोला कि केंद्र में उनकी सरकार बनने पर दो करोड़ रोजगार का सृजन किया जाएगा।

एक अन्य छात्रा ने कहा कि नोटबंदी एक आपदा साबित हुई। उन्होंने कहा कि राज्य में कांग्रेस नीत सिद्धारामैया सरकार ने लोगों से किये गये वादों को पूरा किया है और अगर आगामी विधानसभा चुनाव में जीतकर पार्टी दोबारा सत्ता में लौटती है तो वह अपनी उपलब्धियों को दोगुना करेगी। गांधी ने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि वह पार्टी की रीढè हैं। उनका सम्मान किया जाएगा और सरकार में भूमिका भी दी जाएगी। पार्टी की विचारधारा के लिए लड़ने वालों की रक्षा की जाएगी।

मोदी सरकार “डाटा चोरी करने और कैम्ब्रिज एनालिटिका ” कहानी गढ़ी – राहुल गांधी

मोसुल मुद्दे से ध्यान हटाने के लिए गढ़ी डाटा लीक कहानी-

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज आरोप लगाया कि मोदी सरकार ने इराक के मोसुल में 39 भारतीयों की हत्या के मुद्दे से ध्यान हटाने के लिए डाटा चोरी और कैम्ब्रिज एनालिटिका के साथ कांग्रेस के संबंधों की कहानी बनायी है।कांग्रेस अध्यक्ष ने इस मुद्दे को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि उसने मोसुल में मारे गए 39 भारतीयों की मौत से जुड़े सवालों का जवाब देने से बचने के लिए डाटा चोरी करने और कैम्ब्रिज एनालिटिका के साथ कांग्रेस के संबंधों की कहानी गढ़ी है।

गांधी ने कहा कि इस मुद्दे पर सरकार के लिए जनता के सवालों का जवाब देना कठिन हो गया था इसलिए इससे बचने के लिए उसने ठोस कहानी तैयार की और यह मुद्दा गायब हो गया। उन्होंने तीखे अंदाज में ट्वीट कर सरकार पर तंज किया। समस्या-इराक में 39 भारतीयों की मौत हुई। सरकार चारों खाने चित। उसका झूठ पकड़ा गया।

 

https://platform.twitter.com/widgets.js

समाधान- कांग्रेस और डाटा चोरी पर कहानी बना दी गई। नतीजा – मीडिया को नया मुद्दा मिल गया और 39 भारतीयों की मौत का मामला गायब हो गया। समस्या खत्म हो गई।

राहुल गांधी ने न्यायमूर्ति देरे को हटाए जाने पर खड़े किए सवाल, ट्विटर पर लिखा…

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोहराबुद्दीन फर्जी मुठभेड़ मामले की सुनवाई कर रही न्यायमूर्ति रेवती मोहिते देरे को सुनवाई से हटाये जाने पर सवाल खड़ा किया है।राहुल गांधी ने आज ट्विटर पर लिखा कि न्यायमूर्ति देरे को हटाया गया जिन्होंने केंद्रीय जांच ब्यूरो को चुनौती दी थी। उन्होंने कहा कि इससे पहले इस मामले के आरोपी भारतीय जनता पार्टी अध्यक्ष अमित शाह को पेश होने का आदेश देने वाले न्यायमूर्ति जे टी उत्पत को भी हटाया गया था।

गांधी ने कहा कि इसी मामले की सुनवाई कर रहे न्यायमूर्ति बी एच लोया ने कड़े सवाल पूछे थे और उनकी मौत हो गयी। गांधी ने अपने ट्विटर पेज पर न्यायमूर्ति देरे को हटाये जाने से सम्बन्धित समाचार और सोहराबुद्दीन की एक फोटो भी लगायी है।उल्लेखनीय है कि बंबई उच्च न्यायालय ने 12 वर्ष पुराने इस मामले की सुनवाई कर रही न्यायमूर्ति देरे को इसकी सुनवाई से 24 फरवरी को हटा दिया है ।

%d bloggers like this: