ब्रिटेन से भारत पहुंचा नया कोरोना वायरस, जानें इसका प्रभाव

भारत में अभी तक कोरोना वायरस का टीका लगना भी शुरू नहीं हुआ और इससे पहले कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन ब्रिटेन से भारत आ पहुंचा है। खबरों के अनुसार बताया जा रहा है कि हाल ही में ब्रिटेन से लौटे कुछ लोगों में इसके लक्षण पाये गये है और अन्य लोगों की जानकारी लेकर उनका पता लगाया जा रहा है। भारत सरकार ने इस नये लक्षण वाली खबर के बाद से ही ब्रिटेन से आनी वाली फ्लाइट्स पर रोक लगा ​दी है।

ब्रिटेन में अब तक कोरोना वायरस के ज्यादा खतरनाक मरीज मिलने के बाद से ही भारत सरकार ने 21 दिसंबर को ब्रिटेन से आने वाली फ्लाइट्स पर रोक लगा दी जो 31 दिसंबर तक रहेगी। जो लोग इससे पहले फ्लाइट्स से भारत पहुंचे उनकी एयरपोर्ट पर जांच की जा रही है। ब्रिटेन में इस नये वायरस को लेकर स्वास्थ्य विभाग ने ज्यादा डरने की बात कही है और इसकी वैक्सीन बनाने पर काम शुरू कर दिया है।

वैज्ञानिकों के अनुसार कोरोनावायरस का जो नया रूप ब्रिटेन में मिला है वह पहले से लगभग 60 प्रतिया ज्यादा तेजी से फैल सकता है। फ्रांस और दक्षिण अफ्रीका में भी वायरस में यह बदलाव देखने को मिल रहा है। हालाकि भारत में कोरोना मरीजों का आंकड़ दिनों दिन कम होता जा रहा है जो अच्छी खबर है। कोरोना का नया रूप बच्चों के लिए ज्यादा खतरनाक साबित होने की बात भी कही जा रही है।

देश में सोमवार केवल 16 हजार 72 नये मरीज मिले है जो जून के आकड़ों के मुताबिक बहुत कम है। अगर बात करें 24 घंटे की तो लगभग 25 हजार मरीज ठीक होने के साथ 250 मरीजों की मौत हुई। अब तक कुल 1 करोड़ कोरोना संक्रमित है इनमें से 98.06 लाख मरीज ठीक हो चुके हैं और 1.48 लाख मरीजों की मौत हो गयी है।

भारत में नये साल की शुरूआत से ही कोरोना का टीका लगाने की प्रकिया शुरू करने की तैयारी की जा रही है जो अच्छी खबर है। भारत में तैयार ​की गयी स्वदेशी वैक्सीन सस्ती होने के साथ असरदार भी साबित हो सकती है क्योंकि इसके परिक्षण में अभी तक किसी प्रकार के साईड इफेक्ट देखने को ​नहीं मिले है।

कोरोना से भी खतरनाक वायरस से मचा हड़कंप, जानिए इसका प्रभाव

दुनिया एक तरफ तो कोरोना जैसी खतरनाक बीमारी से लड़ रही है तो अब इस बीमारी के साथ एक नया वायरस सामने आया है जो कोरोना से भी खतरनाक बताया जा रहा है। खबरों के अनुसार बताया जा रहा है कि ब्रिटेन में कोरोना वायरस का नया रूप बहुत तेजी से लोगों में फैल रहा है। इसके शुरूआती केस सितंबर माह में मिले थे लेकिन अब यह वायरस पूरे ब्रिटेन में तेजी से फैलने लग गया है। स्वास्थ्य जानकारों के अनुसार यह वायरस कितना खतरनाक होगा इसको लेकर अपनी चिंता जाहिर की
है।

इस नये वायरस के बारे में ब्रिटेन के पीएम बोरिस जॉनसन ने कहा कि वायरस का नया स्ट्रेन 70 प्रतिशत ज्यादा खतरनाक साबित हो सकता है। इसके साथ स्वास्थ्य एक्सपर्ट्स की मानें तो कभी-कभी वायरस म्यूटेट होने के बाद पहले से कई ज्यादा मजबूत और खतरनाक होकर जन्म लेता है। हालाकि भारतीय विज्ञानियों का कहना है कि उन्होंने अभी तक इस प्रकार के स्ट्रेन को भारत में नहीं देखा है।ब्रिटेन में 50 से ज्यादा स्थानीय क्षेत्रों के 1100 लोगों में वायरस के म्यूटेशन का पता लगाया है।

 

 

इस खबर के बाद भारत सरकार ने कुछ कड़े कदम उठाने की तैयारी शुरू कर दी है। हालांकि अभी तक केंद्र सरकार ने पूरी तरह से अंतरराष्ट्रीय विमानों के संचालन की अनुमति नहीं दी है लेकिन देश ने 23 देशों के साथ कोविड-19 के दौर में विमान सेवाओं का संचालन शुरू किया है जो आने वाले दिनों में घट सकती है। इसके साथ कई राज्यों ने भी जरूरी कदम उठाने शुरू कर दिये है।

महाराष्ट्र सरकार ने कोरोना के खतरे को देखते हुए एक बड़ा निर्णय लिया है और 22 दिसंबर से रात में नाइट कर्फ्यू 11 बजे से सुबह 6 बजे तक 5 जनवरी तक लागू रहेगा। महाराष्ट्र सरकार के आदेश के अनुसार राज्य के सारे महानागर पालिका क्षेत्रों में ये नियम लागू होने के साथ यूरोप से महाराष्ट्र आएंगे उन्हें पूरे 14 दिनों के लिए Quarantine में रखा जाएगा।