” चंद्र शेखर आज़ाद ” ( भीम आर्मी ) दुनिया के 100 प्रभावशाली लोगों में शामिल – जानें ख़ास रिपोर्ट , जमीन से आसमां तक का सफ़र

Chandra Shekhar Azad of Bhim Army was included in the list of 100 influential people by

Time magazine –

 

भीम आर्मी के चंद्र शेखर आज़ाद को टाइम मैगजीन ने 100 प्रभावशाली लोगों की सूचीं में शामिल किया –

भीम आर्मी के संस्थापक चंद्र शेखर आज़ाद उर्फ़ ” रावण ” को अंतरराष्टीय मैगजीन ” टाइम ” ने 100 दुनिया के सबसे प्रभावशाली लोगों की सूची में शामिल किया हैं यह चंद्र शेखर आज़ाद और पूरी वंचित जमात के लियें यह गर्व की बात हैं चंद शेखर जो अभी 34 वर्ष के है के संघर्ष के के दम आज वह दुनिया 100 प्रभावशाली लोगों की सूचि में शामिल हैं |

चंद्र शेखर उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले के रहने वाले हैं स्थानीय गाँव में जहाँ दलित समाज के युवाओं के साथ राजपुत और सवर्ण समाज के दबंगों द्वारा जो अत्याचार , मारपीट आदी घटनाओं को रोकने के लियें भीम आर्मी ” भारत एकता मिशन ” के नाम से यह संगठन सामने आया था और साहरनपुर जातीय हिंसा में चंद्र शेखर आज़ाद का नाम देश के सामने आया था उसके बाद उन्हें जेल भी जाना पड़ा था उसके बाद चंद्रशेखर के अन्य साथी कमल वालिया सहित अन्य भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं ने संगठन के कमान संभाली थी  |

 

 

 

 

चंद्र शेखर आज़ाद अपना आदर्श बाबा साहब अम्बेडकर और उसके बाद  डॉ अम्बेडकर के सपनों को जमीन तक उतारने का काम करने वाले मान्यवर कांशी राम को मानते हैं चंद्र शेखर ने अपने  संगठन को राजनीति रूप देने के उदेश्य से राजनीति पार्टी ” आज़ाद समाज पार्टी ” भी मार्च 2020 में बनाई हैं अब भीम आर्मी व् आज़ाद समाज पार्टी दोनों के संस्थापक चंद्र शेखर आज़ाद हैं दलित समाज में जहाँ भी कहीं जातीय हिंसा होती हैं भीम आर्मी संगठन  पीड़ित के पक्ष में अपनी आजाज उठाते हैं और प्रशासन से कार्यवाही की मांग करते हैं |

टाइम मैगजीन ने अपने आर्टिकल में लिखा हैं चंद्र शेखर आज़ाद व् उनका संगठन भीम आर्मी जहाँ भी जातीय हिंसा होती हैं दलितों के पक्ष में अपनी आवाज़ पीड़ित के पक्ष में उठाते हैं और यह युवाओं का संगठन हैं तो युवा अपनी मोटर साइकिलो के खाफिलें के साथ आंदोलन करते हैं |

आज जिस प्रकार चंद्र शेखर काम कर रहें हैं लगता है दलित समाज को एक लम्बे समय बाद अपना  लीडर मील रहा हैं नेता नहीं |

भीम आर्मी का किसान आंदोलन में 28 वां दिन , 26 जनवरी 2021 को किसानों के साथ लाल किलें की परेड में शामिल होगीं भीम आर्मी 

Bhim Army to join Republic Day parade on 26 January 2021 with

farmers –

भीम आर्मी का किसान आंदोलन में 28 वां दिन , मेडिकल कैंप सहित अन्य सेवाओं में दे रहें हैं योगदान , 26 जनवरी को किसानों के साथ टेक्टर रेली ( परेड ) में होगें शामिल दिल्ली लाल कीलें पर –
अलवर |  भीम आर्मी एकता मिशन ” भीम आर्मी ” अक्सर दलित मुद्दों पर संघर्ष करती नज़र आती हैं लेकिन इस बार भीम आर्मी किसानों के साथ पूर्ण समर्थन से खड़ी हैं  राजस्थान भीम आर्मी  कार्यकर्ता  शाहजापुर बॉर्डर पर पिछलें 28 दिनों से किसानों की सेवा में लगें हैं |
भीम आर्मी तिजारा विधानसभा अध्यक्ष मोनू रेवाड़ीया ने कहा कि हम लगातार किसान आंदोलन में 28 दिन से तन मन धन के साथ लगे हुए हैं किसान आंदोलन में आंदोलनकारियों के लिए सैकड़ों लोगों को प्रतिदिन दवाई फ्री दी जा रही है और हम आगें भी किसानों के लिए तन मन धन से लगे रहेंगे चाहे यह आंदोलन कितना ही लंबा चले हम किसान कमेटी के आदेशों का पालन करते रहेंगे |
किसानों की 26 जनवरी की परेड में भी शामिल होंगे जो भी किसान कमेटी का आदेश होगा वह सर्वप्रथम होगा सभी के लिए मान्य होगा यह आंदोलन बहुत भाईचारे से चल रहा है इस आंदोलन में हिन्दू .मुस्लिम सिख इसाई सभी शामिल हैं |
भीम आर्मी कार्यकर्त्ताओं मेडिकल कैंप – शहंजापुर बॉर्डर राजस्थान
यह आंदोलन सफल होगा और भविष्य में कोई भी सरकार किसानों  की तरफ आंख उठाकर नहीं देखेंगी  किसान अपने हक की लड़ाई के साथ-साथ पूरे देश के एक-एक व्यक्ति की लड़ाई लड़ रहा है किसान नहीं चाहता अंबानी अडानी पतंजलि का टैग लेकर ₹50 किलो आटा बिके  भीम आर्मी किसानों के साथ कंधे से कंधा लगाकर इस लड़ाई को आखरी समय तक लड़ेगी
प्रदेश अध्यक्ष अनिल धेनवान सत्यवान मेहरा  जिलाध्यक्ष सद्दाम हुसैन विकास जोगी लक्ष्मी नारायण सुरेंद्र मेहरा राजाराम मीणा इंद्रजीत अनिल अजय इंद्रपाल रणवीर सचिन सतीश सुबह सिंह मनीष पार्षद राजू सरपंच और काफी पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता मौजूद रहते हैं |
L I C से जुड़ें – सम्मान से लाखों कमायें –

सामाजिक न्याय के लिए हर गांव-ढाणी तक तैयार करेंगे भीम सैनिक – सत्यवान सिंह ( भीम आर्मी )

Bhima soldiers will prepare every village-dhani for social justice – Satyavan Singh (Bhim Army)
भीम आर्मी एकता मिशन का जिला स्तरीय सम्मेलन
*********************
सायला, (जालोर) | भीम आर्मी एकता मिशन का जिला स्तरीय सम्मेलन मंगलवार को सायला उपखण्ड़ मुख्यालय स्थित मेघवाल समाज रामदेवजी मंदिर में आयोजित हुआ। इस दौरान सम्मेलन को संबोधित करते हुए प्रदेश महासचिव सत्यवानसिंह जी मेहरा ने अपने ओजस्वी उद्बोधन में कहा कि आज देश में अराजकता का माहौल पनप रहा हैं। केंद्र की गूंगी बहरी सरकार में शोषितों- वंचितों पर आए दिन उत्पीड़न बढ़ते जा रहे हैं लेकिन कोई भी बोलने को तैयार नहीं हैं। हिन्दू एकता की बात करने वाले नरेंद्र मोदी औऱ यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ एक दलित बेटी की दरिंदगी एवं हत्या करने के बाद आधी रात को शव जलाकर सबूत नष्ट कर दिये।
आखिर रात में अन्तयेष्टि करना क्यों जरूरी था?
सत्यवान ने  कहा कि ऐसे उत्पीड़नों को रोकने के लिए मनुवादी- सामंतवादी ताकतों को करारा जवाब देने के लिए हर गांव ढाणी तक भीम सेनिको की फौज तैयार करनी होगी।
इसी प्रकार प्रदेश सचिव मोतीलाल जी हीरागर ने सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि आजकल देश अंधभक्ति में डूबा हुआ हैं एक तरह से लोगो का ब्रेन वॉश कर दिया है इन नागपुरी संतरों ने लेकिन हम हैं की अभी भी उनके प्रपंच में फंसे जा रहे हैं। आये दिन हम मूलनिवासियों पर जुल्म बढ़ते जा रहे है लेकिन किसी भी पार्टी की सरकारें हमारा साथ नहीं दे रही हैं। यह राजनैतिक पार्टियां सिर्फ मनुवाद को हावी करना चाहती हैं।  यदि समय पर नहीं कि चेते तो एक दिन वो आने वाला हैं जो गले में हांडी औऱ पीछे झाड़ू लग सकती हैं।
भीम आर्मी गाँव – गाँव जन संपर्क अभियान वक्ता – सत्यवान मेहरा
हमारे भीम आर्मी संस्थापक मान्यवर बड़े भाई साहब चन्द्र शेखर आजाद साहब एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष विनय रतन सिंह जी आज देशभर में कितना संघर्ष कर रहे हैं, आप मेरे युवा साथियों आपको उनसे सीख लेने की जरूरत हैं।
जिला महासचिव निसार खान राजड़ ने अपनी बात रखते हुए कहा कि भीम आर्मी के प्रार्दुभाव के बाद आज सामंती सोच वाले लोग डरे हुए है। एक बात यह हकीकत हैं कि भीम आर्मी सिर्फ और सिर्फ संविधान और कानून को उपर रखकर काम करती है लेकिन ऐसी ही कई सेनाएँ धार्मिक उन्माद फैलाने का काम करती हैं। इसलिए ऐसे फर्जी राष्ट्रवादियों से दूर रहते हुए हमें संविधान की रक्षा के लिए भीम आर्मी को मजबूत करना है। जिलाध्यक्ष जीतपाल मेघवाल ने सभी को एकजुट होकर संगठन को मजबूत बनाने का आह्वान किया।
इस दौरान जिला सचिव उम्मेद जी ऋषि ने हाल ही में हुई घटना रायपुरिया के बारे में बताते हुए कहा कि ऐसे आये दिन पूरे भारत मे हमारी समाज के साथ घटना होती रहती है पर केंद्र सरकार ऐसे मामलो को दबाने की कोशिश करती हैं। ऐसे में हम लोगों को एकजुट रहना होगा
इस दरमियान समस्त जिला स्तरीय भीम सैनिक व बहुजन समाज  मौजूद थे।

राम राज्य में बलत्कार ,वहशीपन की शिकार पीड़ित बेटी का आधी रात चोरी-छिपे  अंतिम संस्‍कार  – न्याय की मांग  कर रहें – भीम आर्मी  के चंदशेखर गिरफ्तार  – यह कैसी व्यवस्था 

भीम आर्मी के चंद्र शेखर ने कहा यह जानबूझ बहन की हत्या की गई हैं बीना मेडिकल रिपोर्ट के एम्स की जगह सफ़रदगंज हॉस्पिटल लाया गया  

क्या अब भारत में बलत्कार पीड़ित बेटी के लियें न्याय की मांग करना – गलत हैं 

तमाशबीन मूक दर्शक बना  – राष्टीय महिला आयोग 

क्या देश में जाति के आधार पर न्याय व्यवस्था मिलेगी – यह तो शर्मनाक हैं 

**********************************

नई दिल्ली | आज देश का प्रत्येक माता -पिता ,भाई अपनी बहन को लेकर चिंतित हैं  यह कैसा देश बना दिया हम ने जहाँ हमारी माँ बहन बेटी सुरक्षित ही नहीं हर चौराहें पर वहशी दरिन्दे हमारी माँ बहन को हवस भरी आखों देखते हैं जिससे हमारी बहन बेटी अपने अंदर ही तिल तिल मरती हैं आखिर कब तक –

हाथरस की बेटी जिसका चार वहशी दरिंदो ने बलत्कार के बाद चिभ काट दी और रीढ़ की हड्डी तोड़ दी वो बहन 14 दिन तक मौत और जिन्दगी की जंग लडती रही आखिर वह स्वयं नहीं इस सिस्टम से हार गई |

हाथरस –  दलित समाज की बेटी जितना हेवानियत वहशीपन के दरिंदो ने जो किया उससे अधिक शर्मसार देश को खाकी ने कर दिया घटना के 4 दिनों तक तो यूपी पुलिस इस घटना को झूट ही बताती रही जब स्थानीय समाचार पत्र और लोकल मीडिया ने इस घटना को उठाया तो प्रशासन दबी जुबा 7 दिन बाद केस दर्ज किया उसके बाद भी पीड़ित बेटी को गंभीर अवस्था में स्थानीय अस्पताल में उपचार दिलाते रहें जब भीम आर्मी ने इस घटना की रिपोर्ट लिखाई उसके बाद भीम आर्मी के चंद्र शेखर आज़ाद ने अलीगढ अस्पताल जा कर पीड़ित से मुलाकात की और यह मुद्दा जब मीडिया की सुर्खियों में आया तब आनन् फानन में दिल्ली रेफर किया गया जहाँ इस बहन की मौत हो गई

इस घटना पर चंद्र शेखर का कहना हैं की पीड़ित को मारा गया हैं

दिल्ली घटनाक्रम – दिल्ली में कल भीम आर्मी के चंद्र शेखर , कांग्रेस , आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता , और पीड़ित बेटी के पिता और भाई  अलग अलग धरना दे रहें थे पुलिस ने पीड़ित लड़की की लाश को उनसे बीना पूछे  ही कही ले गई और रात में 2 बजें आनन् फानन में अन्तिम संस्कार कर दिया लाश जरुर किसी बहन की जली हैं लेकिन  लाश इस बगैरत व्यवस्था की भी जली हैं जो अधिक शर्मनाक हैं

जनता कर रही हैं फ़ासी की मांग –  सोशल मीडिया पर आंदोलन तेज 

 

 

 

भीम आर्मी : आज़ाद समाज पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष बनें – अनिल धेनवाल , यूथ विंग संभालेगें – सुनील भिंडा

भीम आर्मी संगठन की राजनीति पार्टी – ” आज़ाद समाज पार्टी ” का राजस्थान में विस्तार 

सत्यपाल चौधरी  मुख्य प्रभारी , अशोक सिद्धार्थ प्रभारी व् इमरान खान प्रभारी ( आज़ाद समाज पार्टी )  ने राजस्थान में 

प्रदेशाध्यक्ष – अनिल धेनवाल , यूथ विंग प्रदेशाध्यक्ष सुनील भिंडा व् सह – प्रभारी रहीद अहमद मलिक को  पद ग्रहण करवाया 

***********

प्रदीप बैरवा

जयपुर | भीम आर्मी आजाद  समाज पार्टी का आज राजस्थान में विस्तार हुआ अनिल धेनवाल को प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी दी गई है इसके साथ ही राजस्थान प्रदेश में रईस अहमद मलिक को सह प्रभारी नियुक्त किया गया है यूथ यूथ विंग में राजस्थान प्रदेश से सुनील डिंडा को यूथ  प्रदेश विंग का अध्यक्ष बनाया गया है गौरतलब है चंद्रशेखर आजाद उर्फ़ रावण भीम आर्मी के माध्यम से दलित समाज में जो अत्याचार हो रहे हैं

रहीस मलिक सह प्रभारी नियुक्त . राजस्थान

शोषण हो रहा है उसके खिलाफ आवाज उठाते हैं और कुछ ही समय में भीम आर्मी संगठन में अपनी एक अलग पहचान बनाई है और यह संगठन दलित समाज पर जो अत्याचार छुआछूत जैसी घटनाओं पर प्रशासन का ध्यान दिलाने के लिए संवैधानिक रूप से आंदोलन विरोध प्रदर्शन करते हैं  जिससे सरकार प्रशासन क्या ध्यान समाज के गरीब तबके वंचित दलित मुस्लिम पीड़ित की और जायें और उन्हें  शीघ्र न्याय मिल सके |

गौरतलब है कि राजस्थान में भीम आर्मी के प्रदेश अध्यक्ष अनिल उपाध्यक्ष जितेंद्र  हटवाल और उनकी पूरी टीम दलितों की पैरवी करते हुए उनके अधिकारों के लिए संघर्ष करते हुए राजस्थान में दिख जाते हैं 

सुनील भिंडा – यूथ प्रदेशाध्यक्ष का पद ग्रहण किया

भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजाद सहारनपुर कांड के बाद सुर्खियों में आए थे और उन्हें जेल भी जाना पड़ा था जिसके बाद उन्होंने भीम आर्मी संगठन को एक संवैधानिक ढांचा देने के लिए राजनीतिक पार्टी का गठन किया जिसका नाम ” आजाद समाज पार्टी ( ASP ) “ रखा गया यह समय की जरूरत थी थी कि भीम आर्मी जैसे संगठन को एक संवैधानिक राजनीतिक संगठन के बैनर के नीचे लाया जायें क्योकि  जिस तरीके से भीम आर्मी संगठन काम करता है उससे प्रशासन और भीम आर्मी के लोगों  में टकराव  देखने को मिलता हैं अब राजनीति पार्टी के गठन के बाद भीम आर्मी या यूं कहें आज़ाद समाज पार्टी के कार्यकर्ताओं पर राजनीतिक पार्टी के कार्यकर्ताओं अनुसार ही प्रशासन बर्ताव करेगा |

 

 

 

 

रावण की रिहाही से बहुजन समाज में ख़ुशी –

यूपी | भीम आर्मी के संस्थापक चन्द्र शेखर उर्फ़ रावण के जेल से रिहा होने के अवसर पर बहुजन समाज में ख़ुशी की लहर छा गई है , बहुजन समाज रावण की रिहाही को दलित ,शोषित तबके के संघर्ष व् मान – सम्मान के साथ जोड़ा जा रहा है |

युवा साथी विपिन द्वारा रावण की रिहाही के अवसर पर विचार गोष्टी का आयोजन किया गया जिसमे  बाबा साहब अम्बेडकर जी की पूर्ति पर पुष अर्पित कर दीपक प्रव्जलित किया गया साथ ही बहुजन समाज ने मिठाई के साथ ख़ुशी बनाई गई |

इस अवसर पर बाबा साहब के जीवन पर निम्न साथी वक्ताओं ने विचार रखे – 

भोग नाथ पुष्कर ,सोबरन लाल ,जश पाल बोद्ध ,अलोक रावण ,विपिन कुमार ,जोगेंद्र प्रसाद गौतम ,श्याम किशोर बेचेन्न ,श्रीकांत बोद्ध ,सर्वजीत ,सुधांशु गौतम , गौरव बोद्ध , सुरेन्द्र गौतम ,शिव राम गौतम ,शत्रोहन लाल गौतम ,गौरव मिला ,आशु गौतम