किशनपोल – युवा नेता पवन देव ने किशनपोल विधानसभा क्षेत्र से बाल-श्रमिक बच्चों को मुक्त कराया –

Kishanpol – Youth leader Pawan Dev freed child laborers from Kishanpol constituency –

Child watch group and Kotwali police station combined –

जयपुर | बाल -श्रम मुक्त जयपुर कार्यक्रम के अंतर्गत  “ चाईल्ड वाच ग्रुप ”  जयपुर द्वारा  बाल- श्रमिको  को कोतवाली थाने क्षेत्र अजमेरी गेट नमक मंडी से 4 नाबालिक बाल श्रमिकों मुक्त कराया गया ,  बाल श्रमिकों से चूड़ी कारखाने में बंधवा मजदूरी कराई जा रही थी , जिस पर चाईल्ड वाच ग्रुप जयपुर से बसंत हरियाणा व् किशनपोल विधानसभा से युवा नेता पवन देव व् कोतवाली थाने की टीम ने संयुक्त कारवाई करते हुयें दबिश दी , कारखाने में कुल 9 बच्चे काम कर रहे थे जिनमे चार बच्चे 6 से 12 वर्ष के पायें गयें जो की मूल रूप से बिहार जिले थे |

पुलिस प्रशासन ने जप्त माल सहित कारखाने के मालिक के खिलाफ़ केस दर्ज कर , बाल श्रमिको को सरकारी नियमों के अनुसार संस्था में रहने की उचित व्यवस्था कर दी  |

बसंत हरियाणा ने कहा – 

चाईल्ड राईट वॉच ग्रूप के प्रमुख बसंत हरियाणा ने कहा की जयपुर शहर में बड़ी संख्या में चूड़ी कारखाने अवैध रूप से चल रहे है जिन में बाल श्रमिको से अवैध रूप से बंधवा मजदूरी कराई जा रही है जो की गैरकानूनी है आज बच्चों का भविष्य अंधकारमय है सरकार – प्रशासन और समाज के प्रत्येक व्यक्ति की यह जिम्मेदारी है की वह आज इस देश और समाज के भविष्य – बच्चों के बचपन को सवारें और उन्हें बाल श्रमिक बनने से रोके |

किशनपोल विधानसभा से युवा नेता – पवन देव ने कहा – 

आज जयपुर शहर में चूड़ी बनाने के अवैध कारखाने संचालित हो रहे है जिनमे मुख्यतः बाल श्रमिक मजदूरी कर रहे है जिन्हें या तो पैसे देकर या खरीद कर उन्हें बाल श्रमिक के रूप में इन अवैध कारखानों में अवैध रूप से भूखे – प्यासे रख कर मजदूरी कराई जा रही है जयपुर शहर में , हवामहल , किशनपोल विधान सभा क्षेत्र में अवैध चूड़ी कारख़ाने संचालित है आज समय आ गया है की समाज के प्रत्येक व्यक्ति समाज को स्वस्थ रखने के लियें सफाई ही नहीं देश के विकास  के कर्णधार बच्चों के भविष्य को बचायें ,यह कार्य भी देश भक्ति कहलाता है  |

 

सरदार पटेल की 144 वीं जयंती आज – देशभर में ” रन फॉर यूनिटी “

लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती – रन फॉर यूनिटी

राष्ट्र आज पटेल की जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पित कर रहा है, राष्ट्रीय एकता दिवस पर देशभर में अनेक कार्यक्रम –

दिल्ली। देशभर में आज लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती पर मनाई जा रही है। 144वीं जयंती के मौके पर आज देशभर में ” रन फॉर यूनिटी ” कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। इस कार्यक्रम के तहत पूरे भारत में हजारों लोग सड़कों पर उतरेंगे और दौड़ में हिस्सा ले रहे हैं। देशभर की सभी सरकारी स्कूलों में विशेष कार्यक्रम रखा गया है।

आपको बता दें कि आज के दिन को देश राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की

सरदार पटेल

अगुवाई में लौह पुरू

ष की जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पित की। सरदार पटेल का जन्‍मदिन राष्‍ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनाया जाता है। राष्‍ट्रीय एकता दिवस को भव्‍य रूप में मनाया जा रहा हैं। देशभर में लाखों लोगों ने इस दिवस पर मनाये जाने वाले विभिन्‍न कार्यक्रमों में भाग लिया है।

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज गुजरात में केवडि़या में स्‍टैच्‍यू ऑफ यूनिटी पर सरदार वल्‍लभभाई पटेल को श्रद्धांजलि अर्पित की। वे एकता दिवस परेड में भी शामिल हुए साथ ही  टेक्‍नोलॉजी डिमॉन्‍स्‍ट्रेशन साइट का दौरा भी किया।। मोदी बाद में केवडि़या में ही प्रशा‍सनिक सेवा के परिवीक्षाधीन अधिकारियों से बातचीत की।

एकता दिवस के मौके पर जवानों ने मॉक ड्रिल ने करके दिखाई। इस दौरान यहां एक मॉक आतंकी हमले का रुपांतरण किया गया और किस तरह जवानों ने इसका सामना किया, ये प्रदर्शित किया गया।

इस अवसर पर 20 वर्ग किलोमीटर के एरिया को स्ट्रीट लाइटिंग की है। साथ ही जितने भवन हैं उनको भी अलग-अलग प्रकार की

लाइटिंग से और एक थीम बेस लाइटिंग से सजाया गया है। इको टूरिज्म की व्यवस्था भी की है।

नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रीय एकता दिवस पर देशवासियों को एकता की शपथ दिलाई। इस दौरान पीएम मोदी ने राष्ट्रीय एकता दिवस पर परेड का निरीक्षण किया। शपथ में पीएम ने देशवासियों को आंतरिक सुरक्षा, राष्ट्रीय एकता को बनाए रखने के लिए शपथ दिलवाई।

जयपुर – सरदार पटेल को श्रद्धांजलि कार्यक्रम –

सरदार पटेल की जयंती पर सम्रग सेवा संघ ने दी श्रद्धांजलि दी ,इस मौके पर गांधीवादी विचारक सवाई सिंह ने सरदार पटेल को याद करते हुयें कहा की ” देश को एकता के सूत्र में पिरोने वाले व् RSS संगठन को आतंकी संगठन का दर्जा देकर बैन करने वाले महान सरदार पटेल  के विचारो व् मार्गदर्शन पर देश को चलने की ज़रूरत है आज धार्मिक कट्टरता देश के लियें गंभीर चुनौती है |