UGC के नियमों की धज्जियाँ उड़ा रहा है – राजस्थान विश्वविधालय

Playing with the future of students – in the temple of education

जयपुर | राजस्थान  विश्वविधालय से सम्बंधित कॉलेज में इन दिनों नये  की  प्रक्रिया  चल रही  है वही दूसरी ओर एडमिशन ले रहे स्टूडेंट्स और उनके अभिभावकों को एक डर सत्ता रहा है जिसको लेकर स्टूडेंट्स ओर अभिभावकों कुछ कर भी नही कर पा रहे ,क्योंकि उनके बच्चे स्कूल को पास कर अपने जीवन के नये दौर में प्रवेश जो कर रहे है वही बच्चों के बेहतरीन भविष्य के लिये उनके अवसरों पर विराम लगा रहा है राजस्थान यूनिवर्सिटी आख़िर क्यों !

क्या है पूरा मामला

राजस्थान यूनिवर्सिटी के संबधित कॉलेजो में प्रवेश के लिये आ रहे स्टूडेंट्स के मूल दस्तावेज ( ऑरिजनल डॉक्यूमेंट्))  कॉलेज  प्रशासन द्वारा जमा करे जा रहे है जिसकी कोई रसीद भी नहीं दी जा रही  है  जिसके कारण स्टूडेंट्स अन्य जगह अपने प्रवेश के फार्म नहीं लगा पा रहे है इस उलझन में स्टूडेंट्स और उनके अभिभावकों को ख़ासी परेशानी उठानी पड़ रही है  कॉलेज प्रशासन के इस मनमानी रवैये से स्टूडेंट्स को अपने भविष्य के साथ समझोता करना पड़ रहा है उनके भविष्य के अवसरों को कॉलेज प्रशासन द्वारा विराम लगाया जा रहा है आखिर क्यों यह एक बड़ा सवाल है !

कॉलेज प्रशासन का कहना है कि डॉक्युमेंट वेरिफिकेशन ओर एनरोलमेंट के बाद डॉक्युमेंट वापस कर दिये जायेगे  लेकिन कब इसका जवाव कॉलेज प्रशासन के पास नही है |

क्या कहता है UGC 

गौरतलब है ugc ने साफ़ नोटिफिकेशन दे रखा है कि सभी विश्वविधालय / कॉलेज स्टूडेंट्स के एडमिशन के समय ऑन द स्पोर्ट वेरिफिकेशन कर ऑरिजनल डॉक्यूमेंट स्टूडेंट्स को वापस करे लेकिन राजस्थान विश्वविद्यालय और उसके संगठन कॉलेज सरेआम ugc के नियमों की धज्जियां उड़ा रहे है |

अब यह बड़ा सवाल है की स्टूडेंट्स को बड़े संस्थानो में प्रवेश लेने के अवसरों को राजस्थान विश्वविधालय / कॉलेज आख़िर क्यों सीमित कर रहा है |

 

पिंकसिटी की गुफ़्तगू में धर्मनिरपेक्षता के मूल्य पर चर्चा के साथ ईद मिलन समारोह –

Eid meeting ceremony was organized with discussion on the value of secularism in Pink City

 

जयपुर 24 जून 2019 | पिंकसिटी की गुफ़्तगू की मासिक परिचर्चा में आज धर्मनिरपेक्षता के मूल्य पर चर्चा का आयोजन किया गया व इसके उपरांत ईद मिलन समारोह का भी आयोजन किया गया।

कार्यक्रम की जानकारी देते हुए “पिंकसिटी की गुफ़्तगू” की संचालन समिति के सदस्य बसन्त हरियाणा ने विज्ञप्ति जारी कर बताया कि परिचर्चा व ईद मिलन समारोह का आयोजन जालूपुरा विधायक निवास में किया गया।

परिचर्चा के मुख्य वक्ता वरिष्ठ पत्रकार सुधांश मिश्र ने धर्मनिरपेक्षता के मूल्य पर अपने विचार अंतरष्ट्रीय परिपेक्ष में रखते हुए यूरोप व भारत के संदर्भ में अंतर बताते हुए कहा कि यूरोप में धर्म व राज्य का कोई सम्बन्ध नही है दूसरी और भारत मे राज्य द्वारा सभी धर्मों के प्रति समभाव की नीति है।

परिचर्चा के उपरांत ईद मिलन समारोह का आयोजन किया गया जिसमें बड़ी संख्या में राजनीतिक दलों के नेता, सामाजिक कार्यकर्ता व रंगकर्मी मौजूद थे।इस अवसर पर सभी ने साम्प्रदायिक सद्भाव व भाईचारा बनाने पर जोर देते हुए कहा कि हमे सभी धर्मो के त्यौहार मिलजुल कर बनाने चाहिए व सभी धर्म व जाति के लोगो से निरन्तर संवाद कायम रखना चाहिए, इस अवसर पर जमाते इस्लामी हिन्द के प्रदेश प्रवक्ता डॉक्टर इक़बाल सिद्धकी ने ईद के त्यौहार के महत्व पर प्रकाश डाला।

कार्यक्रम में मुख्य वक्ता  गांधीवादी नेता सवाई सिंह, कम्युनिस्ट नेता सुमित्रा चौपड़ा, सेवानिवृत्त न्यायाधीश राहुल टेकचंद, शिक्षाविद्ध प्रोफेसर हसन,पी यू सी एल के कपिल सांखला, राजस्थान नागरिक मंच के अनिल गोस्वामी,भूरे सिंह, एन एफ आई डब्ल्यू की राजकुमारी डोगरा, जनवादी लेखक संघ के सन्दीप मील,संवैधानिक अधिकार संगठन के दीपचंद माली, धर्मेंद्र तामडिया सहित विभिन्न सामाजिक संगठनों के प्रमुख व्यक्ति जिनमे प्रमुख मोहन बैरवा, पवन देव,प्यारेलाल शकुन, लतीफ आरको, विनोद यादव, राजेश ब्याल, सौरभ पचारिया, बद्रीप्रसाद, शकील जयपुरी, आजम खान, शाने भाई, अरविंद दरौता प्रमुख थे।

 

भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष मदन लाल सैनी ने एम्स में ली अंतीम सांस –

भाजपा में शोक की लहर 

नई दिल्ली |  भाजपा पार्टी के राजस्थान प्रदेशाध्यक्ष मदन लाल सैनी का आज शाम सात बजे दिल्ली एम्स में निधन हो गया  | मदन लाल सैनी को फेफड़ों में इंफेक्शन होने के कारण पिछले दिनों एम्स में भर्ती करवाया गया था।

मदन लाल सैनी

मदन लाल सैनी को 2018 में अशोक परनामी के बाद भाजपा राजस्थान का प्रदेशाध्यक्ष बनाया गया था लोकसभा चुनावों में मदन लाल सैनी के नेतत्व में भाजपा ने 25 में से 25 लोकसभा सीट पर जीत हासिल कि थी |

शुक्रवार को ही पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने एम्स में पहुंचकर मदन लाल सैनी के हालचाल जाने थे। फेफड़ों में इन्फेक्शन होने के कारण उनको बीते दिनों दिल्ली एम्स में भर्ती करवाया गया था।

जानकारी देते हुए पूर्व मंत्री कालीचरण सराफ ने बताया कि आज करीब 7:00 बजे बीजेपी अध्यक्ष ने अंतिम सांस ली। पीएम नरेंद्र मोदी, अमित शाह समेत सभी भाजपा नेताओं ने सैनी के निधन पर शोक व्यक्त किया है।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन लाल सैनी के पार्थिव देह दर्शन का कार्यक्रम हुआ तय –

आज रात्रि 10:00 बजे से 12:00 बजे तक एम्स दिल्ली में सैनी के पार्थिव देह को दर्शनार्थ रखा जाएगा

रात्रि 12:00 बजे के बाद सड़क मार्ग से पार्थिव देह को जयपुर के लिए प्रस्थान कराया जाएगा

मंगलवार प्रातः 7:30 से 10:00 बजे तक भाजपा मुख्यालय में पार्थिव देह को दर्शनार्थ रखा जाएगा

मंगलवार सुबह 10:15 बजे जयपुर से सड़क मार्ग द्वारा सीकर उनके निवास स्थान पर पार्थिव देह को ले जाया जाएगा

दोपहर 1:00 से 3:00 के बीच सीकर पर उनके निवास स्थान पर पार्टी दे को दर्शनार्थ रखा जाएगा

मंगलवार शाम 4:00 बजे सीकर में होगा मदन लाल सैनी का अंतिम संस्कार

विवादों से घिरती – RPSC की PRO वेकेंसी

विवादों से घिरती – rpsc – pro वेकैंसी

जयपुर | राजस्थान की कांग्रेस सरकार ने  पहली वेकेंसी RPSC  द्वारा PRO { जनसम्पर्क अधिकारी } की निकाली है लेकिन इस वेकेंसी के निकलते ही विवाद शुरू हो गया है |

वेकेंसी  में जनसम्पर्क अधिकारी के लिए जो  शैक्षणिक  योग्यता मांगी गई है उसका दूर -दूर तक जनसंपर्क विधा से कोई लेना देना ही नहीं है

RPSC की विज्ञप्ति में जो

 

जयपुर राजस्थान में बेरोजगारी का आलम किसी से छिपा नहीं है लंबे समय से rpsc राजस्थान पब्लिक सर्विस कमीशन ने सिर्फ बेरोजगारी पीड़ित लोगों को ठगने का काम कर रही है सरकार सरकारी नोकरियों की विघ्यपति निकलाल टी है फिर सहयोग वश या गलती से कुछ त्रुर्ति रख देती है जिसका नुकसान साफ़ तौर पर स्टूडेंट्स को ही होता है अब हाली में rpsc की वेकैंसी में ही देखने को मिल रही हस्र जब राजस्थान सरकार में ही दो विश्वविद्यालय हरिदेव जोशी यूनिविर्सिटीऑफ जोइरनलोसज़ व राजस्थान ऊनि

परिवहन मंत्री के निर्देश पर बजरी ट्रकों के खिलाफ बड़ी कार्यवाही – कोटा में सीज किए 35 ट्रक

 बजरी ट्रकों माफियों पर शिकंजा – कोटा में सीज किए 35 ट्रक
जयपुर, 19 जून। परिवहन मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास के निर्देश पर प्रदेश में बजरी माफिया के खिलाफ जारी कार्यवाही के क्रम में बुधवार को कोटा में बजरी का ओवरलोड परिवहन कर रहे 35 ट्रकों को जब्त किया गया। परिवहन मंत्री ने पिछले दिनों परिवहन विभाग के अधिकारियों को विशेष टास्क फोर्स गठित कर बजरी के अवैध परिवहन एवं ओवरलोड के खिलाफ कार्यवाही करने के निर्देश दिए थे।
 खाचरियावास ने बताया कि बजरी माफिया पर कार्यवाही के लिए अधिकारियों को विशेष टास्क फोर्स गठित कर नियमित रूप से कार्यवाही करने के निर्देश दिए गए थे। बुधवार को एक बड़ी कार्यवाही में 35 ट्रकों को सीज किया गया एवं 12 लाख रुपए कम्पाउडिंग राशि के रूप में वसूल किए गए।
बजरी ट्रक – जब्त

परिवहन मंत्री ने बताया कि कोटा प्रादेशिक परिवहन कार्यालय के दो उड़न दस्तों ने पुलिस विभाग के सहयोग से इस कार्यवाही को अंजाम दिया है। पूरे ऑपरेशन को अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री राजेश मील एवं जिला परिवहन अधिकारी(प्रवर्तन) की अगुवाई में संचालित किया गया। उन्होंने बताया कि मार्च माह में भी 37 बजरी ट्रकों को सीज किया गया था। बजरी के अवैध ओवरलोड परिवहन के खिलाफ कठोर कार्यवाहियां जारी रहेंगी।

संसद में लगे नारे – जय श्री राम  – अल्ला हु -अकबर – जय महाकाली 

देश की संसद बनाम धर्म संसद “अभिव्यक्ति की आजादी “

संसद – सांसदों ने लगायें देवी -देवताओं के नारे , यही हमारे देश के संविधान की खूबसूरती है “अभिव्यक्ति की आजादी “

 

सा भार

नई दिल्ली | देश की संसद में आज का दिन कुछ ख़ास नज़र आया क्योकि देश के निर्वाचित सांसदो  ने शपथ ग्रहण की |

संसद का पहला दिन शपथ ग्रहण के नाम रहा सबसे दिलचस्प बात यह रही की ” भारतीय संविधान के हिसाब से शपथ में संविधान की प्रति आस्था व् ईश्वर के नाम पर ली जाती है लेकिन इस बार कुछ ख़ास रहा –

भाजपा को इन लोकसभा चुनावों में पूर्ण बहुमत मिला है इसके साथ ही भाजपा अपनी हिंदुत्व वाली छवि के रूप में जानी जाती है जब भाजपा के सांसद शपथ लेने पहुंचे तो “ जय श्री राम – वन्दे मातरम् “ के नारे लगा रहे है जब हेदराबाद सांसद औवेसी शपथ लेने जा रहे थे तो भाजपा के सांसदों ने टिप्पणी करते हुयें – जय श्री राम – वंदेमातरम् के नारे लगाने लगे |

सांसद ओवेसी ने भी अपनी शपथ उर्दू भाषा में ली साथ ही “ जय भीम – जय मीन अल्ला हु अकबर ” का नारा लगाया 

इसके बाद तो जो भी सांसद शपथ लेने पंहुचा तो देश की संसद – धर्म संसद बन गई देश की संसद के पहले दिन ही लगे धार्मिक नारे –

जय श्री राम . वंदेमातरम् , भारत माता की जय , जय महाकाली , जय बंगाल , जय भीम , जय मीन ,अल्ला हूअकबर . जय तेजाजी , राधे -राधे , आदी नारे निर्वाचित सांसदों ने लगाये |

 

भारतीय रेलवे SRBKU – जयपुर मंडल की कार्यकारणी का गठन

भारतीय रेलवे में बनी बहुजन विचारधारा की अम्बेडकर ट्रेड यूनियन 

जयपुर | भारतीय रेलवे की रजिस्टर संस्था ” अम्बेडकर ट्रेड यूनियन ” स्वत्रंत रेलवे बहुजन कर्मचारी यूनियन { SRBKU } जो की डॉ बाबा साहब अम्बेडकर , ज्योतिराव फुले , बिरसा मुंडे ,सर छोटू राम जैसे महापुरुषों की विचारधारा को सर्वमान्य मानते हुये उनके मार्गदर्शन पर चल रही है |

SRBKU संगठन लगातार रेलवे में कार्यरत कर्मचारी – अधिकारी व् सभी बहुजन समाज  (sc,st,obc,manorties )  के लोगों के हक्क व् अधिकारों के लीये संघर्ष कर रही है | 

रेलवे ट्रेड यूनियन चुनाव 2019 –

रेलवे ट्रेड यूनियन के आगामी  चुनाव 2019 को लेकर आज जयपुर स्थित ” राजस्थान जाट महासभा प्रदेश कार्यालय ” में परिचर्चा आयोजित की गई  जिसमे आगमी चुनावों को लेकर रणनीति पर चर्चा की गई साथ ही जयपुर मंडल की कार्यकारणी का निर्माण किया गया |

कार्यकारणी के पधाधिकारी – 

रामपाल यादव जी सीनियर लोको पायलट को मण्ड्ल सचिव

प्रेम चन्द रेगर जीटेक्निशियन को मन्डल अध्यक्ष

मोहन लाल मीणा जी को कोषाध्यक्ष

दिनेश कुमार प्रजापत को मण्डल उपाध्यक्ष

बेजनाथ जाट को सहायक सचिव

हनुमान सिंह गुर्जर को सहायक सचिव

अजिज खान को सद्स्य

संजय कुमार को सदस्य

छ्गन लाल जी को सद्स्य

सोहन लाल जी को सद्स्य

बाबुलाल कबीर पंथी को सद्स्य

निरज मीना को सद्स्य

नमोनारायण मीना को सदस्य नियुक्त किया गया

इस अवसर पर महावीर सिंह गुर्जर जोनल उपाध्यक्ष ने रेलवे ट्रेड यूनियन , विशेष मार्गदर्शक रामेश्वर सेवार्थी , धर्मेन्द्र आँचर , पवन देव , रघुनाथ बौध ,देवेन्द्र जी जाट ,गोरव जी गुर्जर , ओम प्रकाश जी कारखाना सचिव SRBKU अजमेर आदी उपस्थित रहे |

 

15वीं राजस्थान विधानसभा का द्वितीय सत्र 27 जून से –

15वीं राजस्थान विधानसभा का द्वितीय सत्र 27 जून से –

     जयपुर, 10 जून । राज्यपाल श्री कल्याण सिंह ने सोमवार एक आदेश जारी कर 15वीं राजस्थान विधानसभा का द्वितीय सत्र गुरूवार 27 जून को प्रातः 11 बजे से आहूत किया है ।

     इस संबंध में सोमवार को राजस्थान विधान सभा सचिवालय द्वारा राजस्थान राजपत्र में अधिसूचना प्रकाशित करवाई गयी ।

डिजिटल मीडिया ने लाया प्रेस विज्ञप्ति में बड़ा बदलाव –

Digital Media brought big change in press release –

New Delhi, India, June 10, 2019 —

 

प्रेस विज्ञप्ति (Press Releases) को मूल रूप से एक विशेष मामले की जानकारी देने वाले समाचार पत्रों को जारी किए गए आधिकारिक बयान के रूप में परिभाषित किया जाता है । दुनिया के डिजिटल होने के साथ, समाचार भी डिजिटल हो गए और इसलिए समाचार, प्रेस विज्ञप्ति और विज्ञापनों के रूप भी सामने आए। पूरी दुनिया में डिजिटलीकरण के आगमन के साथ, भारत भी लीग में शामिल हो गया। इसे डिजिटल इंडिया कार्यक्रम का नाम दिया गया। इसने बड़े पैमाने पर लोगों को ऑनलाइन लाया और उन्हें दुनिया में सक्रिय उपस्थिति दी।

मिलेनियल्स की ध्यान अवधि –

मिलेनियल्स पारंपरिक अख़बार पढ़ने में अब रुचि नहीं रखते हैं। वे प्रत्येक संभावित सूचना स्रोत से जानकारी प्राप्त करने में अधिक रुचि रखते हैं, भले ही माध्यम कोई भी हो। इस परिस्थिति में,  ध्यान अवधि कम है, इसलिए इस विचार स्पष्ट होना चाहिए।यही नहीं, उद्यमी, सफलता कोच, व्यवसाय गुरु उत्पादकता की कुंजी के रूप में समय की बचत करते हैं।

डिजिटल इमेज- सबसे विश्वसनीय प्रतिष्ठा –

ऑनलाइन सर्च इंजन प्रतिष्ठा आजकल सबसे विश्वसनीय है। अधिकांश दर्शक अपने पसंदीदा समाचार चैनलों से प्राप्त होने वाली खबरों की जांच नहीं करते हैं। आपको वही माना जाता है जो शीर्ष ऑनलाइन चैनल और ऑनलाइन सर्च इंजन आपको चित्रित करते हैं। यह ऑनलाइन प्रेस विज्ञप्ति को अपनी प्रतिष्ठा बनाने के सबसे आसान तरीकों में से एक बनाता है।

ऑनलाइन प्रेस विज्ञप्ति: पर्यावरण के अनुकूल समाचार वितरण –

विश्व निहित स्वार्थों के खंडों में प्रकृति को हुए नुकसान से इनकार नहीं कर सकता।लेकिन धीरे-धीरे लोग और उनकी मानसिकता कागज और पेड़ों को बचाने के लिए बदल रहे हैं। इसलिए, ऑनलाइन प्रेस विज्ञप्ति समाचार पत्रों के प्रतिस्थापन हैं।ऐसा इसलिए है क्योंकि समाचार पत्र केवल कुछ मिनटों के स्किमिंग और स्कैनिंग के लिए मान्य हैं।हालाँकि, ऑनलाइन प्रेस विज्ञप्ति 9-12 महीने या उससे भी अधिक समय तक वेब पर लाइव हो सकती है।

ऑनलाइन प्रेस विज्ञप्ति के बारे में अधिक जानकारी के लिए, http://www.digpu.com पर जाएं

न्यूज़ स्त्रोत : DIGPU