Featured

यूपी : पहले चरण के मतदान आज

लखनऊ 11 फ़रवरी 17 | यूपी विधानसभा  के पहले चरण के मतदान आज से शुरू  |15 जिलो की 73 सीटो पर होगा  मतदान |  इसमें भाजपा  बसपा सपा कांग्रेस और निर्दालिये  उमीदवारो की संख्या 800 से अधिक है | पहले चरण में 26823 पोलिंग बूथ पर 2.6 करोड़ मतदाता मतदान करेगे |

समर्पण संस्था का “ शिक्षा के लिए समर्पण “ 

जरूरतमंद निर्धन विद्यार्थियों के शिक्षा सहयोगी होगें “ एज्युकेशनल एम्बेसेडर –
शैक्षिक सत्र 2021-22 में शिक्षा सहयोग के लिए चयनित 100 ज़रूरतमंद निर्धन “समर्पण आदर्श विद्यार्थियों “ की सूची जारी…
संस्था के नवाचार में 68 आर्थिक सम्पन्न “ एज्युकेशनल एम्बेसेडर्स “ ने ली 71  “समर्पण आदर्श विद्यार्थियों “ की संपूर्ण शिक्षा की ज़िम्मेदारी 
29 समर्पण आदर्श विद्यार्थियों को संस्था द्वारा दी जाएगी शिक्षा सहायता
शिक्षा सहायता हेतु कक्षा 1 से 10 तक के विद्यार्थियों के लिए 5 जुलाई से 20 जुलाई तक तथा कक्षा 11 से कॉलेज स्तर तक के विद्यार्थियों के लिए 25 जूलाई से 10 अगस्त तक “शिक्षा सहायता पखवाड़ा “ होगा आयोजित
   जयपुर, 24 जून । ज़रूरतमंद विद्यार्थियों की शिक्षा सहायता के लिए समर्पित समर्पण संस्था द्वारा शैक्षिक सत्र 2021-22  में 7वें शिक्षा सहायता कार्यक्रम के तहत कुल चयनित 100 ज़रूरतमंद विद्यार्थियों की शिक्षा सहायता की जाएगी । शिक्षा सहायता में निर्धन विद्यार्थियों को उनकी आवश्यकता अनुसार किताबें , फ़ीस, नोटबुक, स्टेशनरी , स्कूल बैग, यूनीफॉर्म आदि भेंट किये जाएँगे ।
   संस्था द्वारा देशभर में 68 एज्युकेशनल एम्बेसेडर नियुक्त किए गये हैं । इनमें सॉंगली महाराष्ट्र के पद्मश्री डॉ. विजय कुमार शाह को “ ग्लोबल एज्युकेशनल ब्रांड एम्बेसडर “ नियुक्त किया गया है ।
   प्रत्येक आर्थिक सम्पन्न एज्युकेशनल एम्बेसेडर को एक निर्धन ज़रूरतमंद “समर्पण आदर्श विद्यार्थी “ के शिक्षा के सभी ख़र्चों की ज़िम्मेदारी दी गई है । यह ज़िम्मेदारी सभी एज्युकेशनल एम्बेसेडर प्रति वर्ष समर्पण आदर्श विद्यार्थियों को शिक्षा सहायता उपलब्ध करवाकर निभायेंगे ।
 संस्था द्वारा चयनित 71 ज़रूरतमंद समर्पण आदर्श विद्यार्थियों की शिक्षा की ज़िम्मेदारी नियुक्त 68 एज्युकेशनल एम्बेसेडर्स को दी गई है । जिसमें संस्था के मुख्य संरक्षक सेवानिवृत आई. ए. एस. डॉ. बी. एल. जाटावत सहित अन्य कई एज्युकेशनल एम्बेसेडर ने दो निर्धन समर्पण आदर्श विद्यार्थियों की शिक्षा की ज़िम्मेदारी ली है । तथा शेष रहे 29 चयनित जरूरतमंद विद्यार्थियों को संस्था की तरफ़ से शिक्षा सहायता दी जायेगी ।
   संस्था ने डॉ. जाटावत सहित संस्था के प्रधान मुख्य संरक्षक जनाब अब्दुल सलाम जौहर, मुख्य सलाहकार व पूर्व ज़िला न्यायाधीश श्री उदय चन्द बारूपाल, मुख्य संरक्षक सेवानिवृत्त कर्नल एस. एस. शेखावत, रावत एज्युकेशनल ग्रुप के निदेशक श्री नरेन्द्र सिंह रावत को “एज्युकेशनल ब्रांड एम्बेसेडर “ नियुक्त किया है ।
  शिक्षा सहायता उपलब्ध करवाने के लिए संस्था द्वारा कक्षा 1 से 10 तक के विद्यार्थियों के लिए आगामी 5 जुलाई से 20 जुलाई तक तथा कक्षा 11 से कॉलेज स्तर तक के विद्यार्थियों के लिए 25 जुलाई से 10 अगस्त तक शिक्षा सहायता पखवाडा आयोजित किया जायेगा ।
 शिक्षा सहायता पखवाड़ा संस्था के कार्यकारी कार्यालय, 18 बी, श्रीकल्याण नगर, करतारपुरा , जयपुर स्थित वस्त्र बैंक परिसर में प्रतिदिन अपराह्न 3 से 5 बजे तक आयोजित होगा । जिसमें रोज़ 5 से 10 एज्युकेशनल एम्बेसेडर व समर्पण आदर्श विद्यार्थियों को बुलाया जायेगा । सभी एज्युकेशनल एम्बेसेडर को नियुक्ति पत्र व समर्पण आदर्श विद्यार्थियों को परिचय पत्र दिया जायेगा ।  शिक्षा सहायता पखवाड़े में विद्यार्थियों को संस्था द्वारा एज्युकेशनल एम्बेसेडर के माध्यम से शिक्षण सामग्री के तहत किताबें , फीस, यूनिफॉर्म , स्टेशनरी , स्कूल बैग आदि भेंट किये जायेगें ।
  संस्था द्वारा प्रत्येक समर्पण आदर्श विद्यार्थी से एक प्रपत्र भरवाया जा रहा है जिसमें उनके द्वारा समाज हित में किए गए अच्छाई के कार्यों का उल्लेख करना होगा ।जिसे किसी अन्य व्यक्ति द्वारा प्रमाणित करवाकर संस्था कार्यालय में जमा करवाना अनिवार्य होगा । यह बच्चों में बचपन से ही समाज हित में अच्छे कार्य करने के लिए विचार जागृत हो इसके लिए संस्था का प्रयास है ।
संस्था के संस्थापक अध्यक्ष आर्किटेक्ट डॉ. दौलत राम माल्या के अनुसार –
“हमारी शिक्षा तभी सार्थक बनती है , जब वह त्याग, सेवा व सहयोग के साथ जुड़ जाती है। समाज के सम्पन्न व्यक्तियों का कमजोर वर्ग के प्रति संवेदनशील होना बहुत ज़रूरी है ।हम यदि किसी को शिक्षा देते है तो वह उसके जीवनभर का  इन्तज़ाम होता है।”

नारानिया फार्म हाउस के द्वारा दी जाएगी औषधीय पौधों की फार्मिंग की निःशुल्क ट्रेनिंग –

Free training of medicinal plants farming will be given by Narania Farm

House – 

 

 

जयपुर  |आज दिनांक-22 जून 2021 को नारानिया कृषि फार्म तितरिया , तहसील चाकसू में औषधीय एवम जैविक खेती का शुभारम्भ किया गया। कृषि फार्म के मालिक हरजेश नारानिया के द्वारा बताया गया कि डॉ बी.एल.मीणा के द्वारा फार्म हाउस पर औषधीय खेती, जैविक खेती, हर्बल खेती, फलों के पेड़ों की खेती की जानकारी दी गयी। फार्म हाउस की डायरेक्टर ममता नारानिया ने बताया कि वर्षा ऋतु में औषधीय पौधारोपण कर मॉडल फार्मिंग तकनीक को विकसित किया जाएगा साथ ही महिला समूह बनाकर महिलाओ को जैविक व औषधीय कृषि की निःशुल्क जानकारी दी जाएगी और कृषि हेतु प्रेरित किया जाएगा। फार्म पर औषधीय पौधों में शतावरी,अश्वगंधा, सफेद मूसली, सर्पगंधा, कलिहारी, कालमेघ, मोरिंगा, स्टीविया आदि की नई तकनीक से फार्मिंग की जाएगी।

कोविड19 –  जन कला साहित्य मंच संस्था सामाजिक कार्यो में अग्रणी – सेनीटाइज मशीनें , सुखा राशन वितरण कार्यक्रम निरंतर जारी –

 

कोविड -19 राहत अभियान –

 

संस्था समन्वय – नरेंद्र महावर द्वारा जन सहयोग

 

जयपुर | कोविड 19 व् लॉक डाउन के चलते स्लम क्षेत्र में निवास करने वाले नकारात्मक रूप से प्रभावित पीड़ित परिवारों एवं उनके आश्रितों तथा कोरोना की वज़ह से बेरोजगार हुवे परिवारों को जन कला साहित्य मंच संस्था मानसरोवर जयपुर ,निरंतर उन्हें रहत पहुंचाने के कार्य में लगी हुई है |

इस दौरान बेघर हुवे बच्चों को आश्रय देना,भोजन-पानी की व्यवस्ता करना, उनको मानसिक पीड़ा से राहत हेतु मनोरंजन व् योगा जैसे कार्य क्रम  संचालित कर रही है |

इसके लिए संस्था समाज सेवकों, संस्थाओं के साथ मिलकर सहयोग कर रही है , संस्था ने सामाजिक कार्यकर्ता पवन देव  ,एवं संस्था समन्वयक नरेन्द्र महावर , अजय , शाहिस्ता , कीर्ती एवं रेखा के सहयोग से बाबा रामदेव नगर कच्ची बस्ती,एवं भिश्तियों का मोहल्ला रामगंज बाज़ार  में 80 पैकेट सुखा राशन वितरण किये ।

 

जन सहयोग – संस्था कार्यकर्ता शाहिस्ता जी द्वारा

 

 

कोविड-19 राहत अभियान 2021द्वारा 5 सेनीटाइज मशीनें नगर निगम को भेंट की गई

कोरोना महामारी से पीड़ित परिवारों एवं उनके आश्रितों तथा कोरोना की वजह से बेरोजगार हुए परिवारों को पिछले 15 दिनों से जन कला साहित्य मंच संस्था, लाइफ मेडिकेयर हेल्पलाइन सोसायटी, उत्कर्ष संस्था ,अपना घर मानसरोवर ,जयपुर चाइल्ड लाइन 1098 तथा सामाजिक कार्यकर्ताओं द्वारा गठित कोविड-19 राहत अभियान के माध्यम से अब तक 5000 से अधिक लोगों को भोजन एवं राशन सामग्री वितरित की जा चुकी है इसके अलावा बीमारी से ग्रसित व्यक्तियों को उनकी आवश्यकता अनुसार हॉस्पिटल, बेड ,ऑक्सीजन आदि मदद की जा रही है |

आज कोविड राहत अभियान 2021 के अंतर्गत कोरोना से पीड़ित परिवारों एवं उनके आसपास के घरों को सैनिटाइज करने हेतु 5 सैनिटाइजर मशीनें जयपुर ग्रेटर नगर निगम की फायर कमेटी के चेयरमैन व पार्षद पारस कुमार जैन को भेंट की गई |

इस अवसर पर जन कला साहित्य मंच संस्था के सचिव कमल किशोर लाइफ मेडिकेयर हेल्पलाइन सोसायटी के सचिव डॉ सतीश गुप्ता एवं जयपुर चाइल्ड लाइन 1098 की समन्वयक जया शशि सामाजिक कार्यकर्ता नरेंद्र कुमार ,दिनेश चंद्र,  पूजा दायमा आदि मौजूद रहें |

 

संस्था द्वारा जन सहयोग – सामाजिक कार्यकर्ता कीर्ति द्वारा

इन सैनिटाइजर मशीनों का उपयोग मानसरोवर क्षेत्र में किया जाएगा प्रत्येक मशीन के माध्यम से प्रतिदिन करीब 50 घरों को सैनिटाइज किया जाएगा ।

जयपुर शहर की विभिन्न बस्तियों में भोजन सामग्री का वितरण किया जा रहा है और हॉस्पिटलों में तथा होम आइसोलेशन में रह रहे परिवारों को भी भोजन सामग्री पहुंचाई जा रही है |

राजस्थान : अब आपकी गाड़ियों के चालान कटेगा – पोस मशीनों से

राजस्थान में अब पोस मशीनों से बनाये जाएंगे ई-चालान
– प्रदेश में अभी तक 9 आरटीओ के उड़नदस्तों को उपलब्ध पोस मशीनें
– अब ना उड़नदस्तों को ना ही वाहन चालकों को नकद राशि रखने की पड़ेगी जरूरत
जयपुर, 18 जून। कोरोना काल में ऑक्सीजन परिवहन की सुनियोजित व्यवस्था के बाद परिवहन विभाग अब विभागीय कार्यप्रणाली में ई-नवाचारों को गति देने में जुट गया हैं। परिवहन मंत्री  प्रताप सिंह खाचरियावास के निर्देशन में परिवहन आयुक्त  महेंद्र सोनी ने शुक्रवार को बीकानेर, सीकर और भरतपुर के परिवहन उड़नदस्तों के लिए पोस मशीनों से ई-चालान से संबंधित प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित कराया।  सोनी ने प्रशिक्षण के साथ ही तीनों जिलों के उड़नदस्तों को 79 पोस मशीन वितरित कर ई-चालान प्रक्रिया शुरू करने के निर्देश दिए।
पोस मशीनों से इस तरह का फायदा –
परिवहन मंत्री  प्रताप सिंह खाचरियावास ने बताया कि पोस मशीनों के जरिए जहां चालान प्रक्रिया पेपरलैस होगी, वहीं पर विभाग के कामकाज में पारदर्शिता भी आएगी। ऑनलाइन होने से चालान मैन्युअली भरने की जरूरत नहीं पड़ेगी। इसमें प्रत्येक चालान की नियमित जानकारी रियल टाइम में विभाग को प्राप्त होगी। इससे ना ही उड़नदस्तों को और ना ही वाहन चालकों को नकद राशि साथ रखनी पडे़गी। इस मशीन से बनाए गए चालान के क्रमांक नंबर देखकर वाहन मालिक अपने घर बैठे भी चालान राशि जमा करा सकता है। इस स्थान पर नेटवर्क नहीं मिलने पर भी चालान बन सकते हैं। मशीन के डैशबोर्ड पर सारे दिन की जानकारी मिलती हैं। मशीन में फोटो और वीडियो लेने की सुविधा भी हैं। गूगल मैप के जरिए चालान काटे गए स्थान की लोकेशन भी दिखाई देती है।
पूरे प्रदेश में इसी माह पोस मशीनें से ई-चालान
परिवहन आयुक्त श्री सोनी ने बताया कि पूरे प्रदेश में सभी परिवहन उड़नदस्तों के पास इसी माह में पोस मशीनें उपलब्ध हो जाएगी। जनवरी 2021 में जयपुर, अजमेर, अलवर, फरवरी में जोधपुर, उदयपुर, कोटा और जून में बीकानेर, भरतपुर और सीकर आरटीओ क्षेत्र के सभी उड़नदस्तों को मशीनें उपलब्ध कराई गई हैं। अगले सप्ताह पाली, चित्तौड़गढ़ और दौसा आरटीओ के उड़नदस्तों को मशीनें मिल जाएगी।
अभी डेबिट, क्रेडिट कार्ड से भुगतान, आगे यूपीआई भी
राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र (एनआईसी) के तकनीकी निदेशक, परिवहन विभाग श्री श्रीपाल यादव ने बताया कि पोस मषीन से बनाए गए चालान पर वाहन चालक को डेबिट, क्रेडिट कार्ड के साथ   नकद राशि से भी जुर्माना जमा कराने की सुविधा मिलेगी। आगे यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस (यूपीआई) से भी कनेक्ट किया जाएगा।
प्रशिक्षण कार्यक्रम में अपर परिवहन आयुक्त श्री आकाश तोमर, स्टेट बैंक आॅफ इंडिया के सहायक महाप्रबंधक श्री आर.पी. शर्मा ने भी उड़नदस्तों को संबोधित कर पोस मशीनों के इस्तेमाल के लिए प्रोत्साहित किया।
दिसंबर में हुआ था एमओयू
उल्लेखनीय है कि परिवहन मंत्री श्री प्रताप सिंह खाचरियावास की अध्यक्षता में परिवहन विभाग और स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के बीच दिसंबर 2020 में हुए एमओयू हुआ था। उसी के तहत पोस मशीनें उपलब्ध कराई गई हैं।

मालवीय नगर में जुमिओ द्वारा विकलाग ओर बुजुर्ग को राशन वितरण किया गया – रेनू घेघट

200राशन कीट और 100आईसोलेशन कीट और 50ओक्सीमीटर वितरण 

 

मालवीय नगर में जुमिओ द्वारा विकलाग ओर बुजुर्ग को राशन वितरण किया गया। इस अवसर पर  वार्ड नम्बर 113 के पार्षद मानवीय ओम् प्रकाश राणवा ने कोविड 19 की गाइड लाइन की पालना करते हुयें लोगों को जानकारी दी |

सामाजिक कार्यकर्ता रेनू घेघट ने बताया की वैश्विक महामारी कोरोना ने लोगों के अपनों को खोया हैं साथी ही लॉक डाउन ने उन्हें बुरी तरह से नकारात्मक रूप से प्रभावित किया हैं लॉक डाउन के चलते कई गरीब , विकलांग लोगों को बहुत बुरे हालातों का समाना करना पड़ा हैं यहाँ तक की कई गरीब परिवार के लोगों को दो वक्त का भोजन की भी समस्या उत्पन्न हो गई थी इस स्थिति में हमने व्यक्तिगत सर्व करा कर जरूरतमंद लोगों को राशन किट उपलब्ध कराया हैं जुमिओ  संस्थान द्वारा |

 

इस अवसर पर युवा साथी  अनिल , रवि, उमेश ,समीर ओर सन्नी आदि ने सहयोग किया |

 

 

ABSS राजस्थान प्रान्त की कोविड – 19 से उत्पन्न हुई चुनोतियाँ पर चर्चा –

आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति का ऑनलाइन वेबिनार संपन्न –
mohan jaipal
जयपुर।  आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति, राजस्थान प्रान्त ने covid 19 महामारी और सामाजिक समस्याओं पर वेबिनार का आयोजन किया गया। आज के वेबिनार की शुरुआत राष्ट्रीय महासचिव मांगी लाल भूतिया और जुगराज बैरवा द्वारा की गई।
समिति के वक्ताओं ने राजस्थान में समाज के प्रमुख मुद्दों को लेकर जिसमें आरक्षण व आर्थिक स्थिति पर चर्चा की गई, साथ ही covid 19 माहामारी से समाज में आए संकट के समाधान पर राय रखी गई। गौरतलब हैं कि आज के वेबिनार में राजस्थान से 14 जिलों से 35 से अधिक वक्ताओं और सदस्यों ने भाग लिया।
 आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति  के राष्ट्रीय अध्यक्ष आर पी सिंह के मार्गदर्शन में तथा राष्ट्रीय महासचिव मांगी लाल भूतिया के नेतृत्व में राजस्थान प्रान्त की वेबिनार का आयोजन किया गया जिसमें कई  बिन्दुओं पर चर्चा की गई –
राजस्थान में आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति का विस्तार को लेकर, राजस्थान में अनुसूचित
 जाति पर बढ़ते अत्याचारों पर अंकुश हेतु रणनीति, 4-कोविड 19 से उत्पन्न चुनौतियां एवं निराकरण में योगदान, पर प्रमुखता से चर्चा की गई।
मिटिंग का आगाज़ परिचय सत्र से हुआ तत्पश्चात मांगी लाल भूतिया राष्ट्रीय महासचिव ने सामान्य परिचय, उद्देश्य व संगठन की 15 सूत्रीय मांगो पर बिन्दुवार प्रकाश डाला ।
आज के वेबिनार में कालूराम मेघवाल श्री गंगानगर कोदर लाल बुनकर बांसवाड़ा,बीएल बैरवा सेवानिवृत्त आयकर अधिकारी जयपुर प्रोफेसर आर एल बैरवा  सवाई माधोपुर  द्वारा राजस्थान में अनुसूचित जाति पर बढ़ते अत्याचारों पर अंकुश लगाने के रणनीति बनाए जाने पर संक्षेप में विचार व्यक्त किये । लक्ष्मण यादव डूंगरपुर,लक्ष्मी नारायण बारूपाल,के बारूपाल सीकर,किशन सिंह,बद्री नारायण बाकोलिया टोंक, मोहन जयपाल, सुरेश नागर, डाॅ. जे पी सिंह अम्बेडकर नई दिल्ली,डाॅ महेन्द्र प्रताप सिंह उत्तर प्रदेश एम पी सिंह  राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ABSS आदि के द्वारा राजस्थान में आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति के विस्तार के सन्दर्भ में अपने विचार व्यक्त किये ।
जुगराज बैरवा आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति महासचिव ने बताया कि कोविद 19 से उत्पन्न चुनौतियों का सामना एवं pay back to society में अपना योगदान विषय पर अपने विचार प्रस्तुत किए तथा मीट का संचालन किया ।
आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष माननीय इन्जीनियर आर पी सिंह के द्वारा अपने विचारों में बताया कि लगातार प्रयास करने पर मंजिल को प्राप्त किया जा सकता है, आपका साथ मेरी ताकत को बढ़ाता है । राजस्थान में कांग्रेस सरकार होने के उपरान्त भी अनुसूचित जाति के लोगों पर अत्याचार बढना एक विडम्बना नहीं तो क्या है?इन इश्यूज को निकट भविष्य में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के समक्ष आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति के पदाधिकारियों के द्वारा रखा जायेगा, यदि फिर भी सुधार नहीं होता है तो हम हमारे हक अधिकारों के लिए राजस्थान में बड़ा आन्दोलन करेगे इस हेतु सभी से तैयार रहने का आह्वान किया ।
राजस्थान में संगठन की गतिविधियों के विस्तार के लिए राष्ट्रीय अध्यक्ष द्वारा कालूराम मेघवाल श्रीगंगानगर को राजस्थान प्रदेश का प्रभारी नियुक्त किया गया जिसका सभी के द्वारा समर्थन किया गया । साथ ही जसबिन्दर कौर,भूपेंद्र तलनिया हंसराज सीकर किशन सिंह जानवरों,दयाराम बारुपाल परमजीत सिंह भट्टु आदि ने सहभागिता की ।
  मांगी लाल भूतिया राष्ट्रीय महासचिव द्वारा सभी का आभार एवं धन्यवाद ज्ञापित कर मिटिंग समापन की घोषणा की ।

शिवा सर्वांगीण विकास संस्थान की ओर से  Environmental conservation And Balance कार्यक्रम शुरू – 

एक पौधा एक संकल्प – हमारी ज़िम्मेदारी – बीना बैरवा 
पर्यावरण और पौधा रोपण कार्यक्रम एक पौधा एक संकल्प पर्यावरण को बचाने के लिए कार्य किया जा रहा है।  शिवा सर्वांगीण विकास संस्थान की ओर से एक पौधा एक संकल्प कार्यक्रम चलाया जा रहा है जिसमें संगठन से जुड़ा हुआ प्रत्येक व्यक्ति हर माह एक पौधा लगाने का संकल्प लिया हैं ।
संस्था के प्रवक्ता गुलशन दीप ने कहा हैं की संस्था द्रद्संकल्प होकर पर्यावरण को सुरक्षित रखने के लियें काम कर रही हैं इस वर्ष संस्था 1 लाख पौधे लगाने का संकल्प ले कर कार्य कर रहें हैं वर्तमान समय में हमारे संस्था के 200 से अधिक कार्यकर्ता राजस्थान में पौधा रोपण कार्यक्रम कर रहें हैं |
यह संस्था पूरे भारत में करोड़ो पेड़ लगाने के लिए संकल्परत है। इस संस्था की ओर से अब तक 500 पेड़ लगाए जा चुके हैं। इस संस्था का मिशन धरती को हरा भर कर अपने जीवन को सुंदर बनाना है। यह संस्था विगत 2 साल से शिक्षा के साथ पर्यावरण संबंधी कार्य कर रहा है।

मऊ : यूथ कांग्रेस के जिला अध्यक्ष गौरव कुमार राय ने कोरोना टीकाकरण जागरूकता एवं टीकाकरण पंजीकरण अभियान चलाया

  यूथ कांग्रेस मऊ के द्वारा जिले के कोपागंज ब्लाक के धवारियासाथ गांव में टीकाकरण जागरूकता एवं टीकाकरण
    पंजीकरण
  अभियान यूथ कांग्रेस के जिला उपाध्यक्ष अनिरुद्ध विश्वकर्मा के नेतृत्व में चलाया गया।
इस अवसर पर यूथ कांग्रेस के जिला अध्यक्ष गौरव कुमार राय ने बताया यूथ कांग्रेस ने कोरोना काल बंदी के दौरान जरूरतमंद लोगों की मदद करने का कार्य किया और अब जबकि बंदी खत्म हो रही है तो जिले के प्रत्येक ब्लॉक में लोगों के बीच में जाकर उन्हें कोरोना के बारे में और कोरोना वैक्सीन लगवाने के बारे में जागरुक करने का कार्य कर रही है। जो लोग टीकाकरण के लिए ऑनलाइन पंजीकरण नहीं कर पा रहे हैं उनका नाम, मोबाइल नंबर और आधार नंबर लेकर पंजीकरण करने का कार्य भी यूथ कांग्रेस के पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं द्वारा किया जा रहा है।
कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता रत्नेश राय जी ने बताया कांग्रेस पार्टी ने हमेशा जनता की सेवा की है और अभी गांव में लोगों के बीच वैक्सीन के बारे में जागरूकता की बहुत कमी है जिसे दूर करने के लिए कांग्रेस के कार्यकर्ता गांव गांव जाकर लोगों को जागरुक करने का कार्य कर रहे हैं।
इस अवसर पर यूथ कांग्रेस के जिला महासचिव अमित चौहान, जिला सचिव रोशन विश्वकर्मा आदि साथी उपस्थित रहे।

पहली पीढ़ी गोली खाएगी……दूसरी पीढ़ी जेल जाएगी ………तीसरी पीढ़ी राज करेगी – बाबू जगदेव प्रसाद के जीवन दर्शन पर – संवैधानिक अधिकार संगठन का वेबीनार संपन्न 

संवैधानिक अधिकार संगठन राजस्थान की महामानव की कहानियां वेबीनार संपन्न –
संगठन के प्रदेशाध्यक्ष धर्मेंद्र तामडिया ने बताया कि वर्तमान कोरोना महामारी से पूरा देश जूझ रहा है इस समय सरकार की गाइडलाइन का पालन करते हुए आम जनता को जागरूक करना और स्व अनुशासन की पालना कराने की जिम्मेदारी हम सब की है अभी घर पर बैठकर समय का सदुपयोग करने के लिए महात्मा ज्योतिबा फुले, सावित्रीबाई फुले अंबेडकर, साहूजी महाराज तमाम महामानव जिन्होंने गैर बराबरी की व्यवस्था के खिलाफ लड़ाई लड़ी उनके जीवन दर्शन को  समझने जरूरत है |
आज का वेबीनार बाबू जगदेव प्रसाद के जीवन दर्शन पर किया गया जिसमें मुख्य कहानीकार मोनिका शर्मा और गोपाल मीणा जी रहे मोनिका ने कहा कि बिहार में जन्मे बाबू जगदेव प्रसाद जी का जीवन बहुत संघर्ष भर रहा था वो  समाजवाद के लिए लड़ाई लड रहे थे | इस दौरान उनको जातीय उत्पीड़न का भी शिकार होना पड़ा था जब वह पढ़ लिखकर जिला कमिश्नर की नौकरी के लिए इंटरव्यू देने गए तो उन्हें पूछा गया कि आप किस जाति से हो जब उनकी जाति बताएं तो सामने वाले ने कहा कि आपका काम तो खेती करना है आप तो खेती करो और पशु चराओ यह बात बाबू जगदेव प्रसाद को बहुत बुरी तरह से चुभ गई और इस जातीय मानसिकता को बदलने के लिए उन्होंने इस व्यवस्था खिलाफ संघर्ष करना शुरू कर दिया था गरीब दलित वंचितों के लिए संघर्ष करते समय पुलिस प्रशासन की गोली से उनकी मौत हो गई थी उन्होंने कहा था की पहली पीढ़ी गोली खाएगी ,दूसरी पीढ़ी जेल जाएगी ,तीसरी पीढ़ी राज करेगी |
 गोपाल मीणा सरपंच ग्राम पंचायत हीरापुरा तहसील फागी ने कहा कि बाबू जगदेव प्रसाद के जीवन संघर्ष से हमें सीख लेनी चाहिए और उनकी नेतृत्व क्षमता को देखते हुए स्वयं की नेतृत्व क्षमता को भी विकसित करने की जरूरत है |
पवन देव के द्वारा संवैधानिक अधिकार संगठन की टीम का परिचय करवाया गया तथा सीमा कुमारी ने कहा कि इन कहानियों के माध्यम से महामानव के जीवन दर्शन को सुनने के बाद धरातल पर काम करने वाले सामाजिक कार्यकर्ता होंसला बढ़ता है और उनसे प्रेरणा लेकर अच्छा काम करते है ‌|
कार्यक्रम का मंच संचालन राम तरुण ने किया इस दौरान पूरे राजस्थान के विभिन्न जिलों से सामाजिक कार्यकर्ता जुड़े जयपुर से शाहिस्ता खान, शाबिर कुरेशी ,चंदा लाल बेरवा, चाकसू से जितेंद्र बैरवा,कमल सिंह,रतन लाल बेरवा,राष्ट्रीय सेवा योजना से हरीश बेरवा,राष्ट्रीय वंचित लोक मंच के प्रहलाद धामनिया,रेनवाल फागी से लक्ष्मण, दौसा से भाग चन्द निकटपुरी ,हेमन्त ,टोंक से रामकेश प्रजापत,कविता शर्मा, द्वारिका शर्मा, अलवर से संजना, कवि सुरेंद्र आजाद ,मनोहरपुर से अर्जुन लाल मोहनपुरिया पूर्व सरपंच,जोधपुर से ललिता पवार, जोगाराम कडेला अरूणा लीलावत,उदयपुर हरलाल बेरवा, अजमेर से नेहा सेन, भीलवाड़ा से अंशुल तंबोली, आदि उपस्थित रहे |

FUN 2 APP – बदलेगा अब स्पोर्ट्स गेमिंग का अंदाज़ –

मोबाइल गेमिंग एप स्पोर्ट्स में एंटरटेन्मेंट का तड़का –  fun2app: खेलिए, थिरकिए और शेयर कीजिए    
 नई दिल्ली |   स्मार्टफोन्स की उन्नत होती तकनीक ने इसके महत्व को कई गुना बढ़ा दिया है। शानदार फोटो फीचर्स, बेहतरीन संगीत और रूटीन लाइफ में विभिन्न एप्स के इस्तेमाल ने हम सबकी जिंदगी मानो पूरी तरह से बदल दी है। मनोरंजन इंडस्ट्री भी इससे अछूती नहीं रही है और इस क्रांतिकारी तकनीकी परिवर्तन का सबसे ज्यादा प्रभाव मोबाइल गेमिंग के ट्रेंड पर पड़ा है।
तेजी से बढ़ता भारतीय बाजार आने वाला समय गेमिंग की दुनिया के पिछले समीकरणों को बदल कर देगा और एक अनुमान है कि साल 2023 तक भारत में मोबाइल गेमिंग का बाजार 3 बिलियन डॉलर तक पहुंच जाएगा जो कि मौजूदा दौर में 1.2 बिलियन का ही है।
दस वर्ष पहले तक गेमिंग एप्स की दुनिया से लोग अनजान थे और आज इसकी लोकप्रियता इतनी तेजी बढ़ रही है कि रोजाना के हिसाब से बाजार में नए प्लेयर्स आ रहे हैं। लेकिन क्या मोबाइल एंटरटेन्मेंट की तरह मोबाइल गेमिंग में भी कुछ नए प्रयोग देखने को मिलेंगे? क्या मोबाइल गेमिंग केवल स्पोर्ट्स फीचर्स तक ही सीमित रहेगी या इसकी रोचकता को बढ़ाने के लिए नए ट्रेंड सेट करने होंगे?
kewal kapoor
   
नब्ज पकड़नी होगी –
मोबाइल गेमिंग के क्रेज का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि इसे पसंद करने वालों में भारत के एक तिहाई वे लोग हैं, जो जेनरेशन-जेड कहलाते हैं। यानी 6 से 24 वर्ष की उम्र के यूजर्स। इस लिहाज से मोबाइल गेमिंग में फन का डोज बनाए रखने की सख्त जरूरत होगी। इस बारे में FUN2APP, शॉर्ट-वीडियो स्पोर्ट्स मेकर एप के कन्सल्टेंट-ग्लोबल एडवाइजर और क्रिएटिव नीतिकार केवल कपूर कहते हैं- ‘‘तेजी से बदल रही मोबाइल गेमिंग इंडस्ट्री में वही सफल है, जो बाज़ार की नब्ज पकड़ना जानता है। इसलिए हम यह लेकर आए हैं, जो अपनी तरह का एकमात्र ऐसा अनूठा गेमिंग प्लेटफार्म है। यहां गेमिंग और एंटरटेनमेंट दोनों का लुत्फ़ एक साथ उठाया जा सकता है। यूजर्स द्वारा हमारी इस एप के अब तक चार लाख से अधिक डॉउनलोड हो चुके हैं। जेनरेशन-जेड, यही तो चाहती है।’’
यूजर्स को भाएगी यह जुगलबंदी –
आंकड़े बताते हैं कि बीते एक वर्ष में एप डॉउनलोडिंग करीब 20 फीसदी बढ़ी है, जबकि 4जी के लगातार विस्तार और 5जी की आहट ने इस बाजार को तेजी दी है। इसलिए यूजर्स में रोमांच बनाए रखने के लिए मोबाइल गेमिंग एप मेकर्स की चुनौतियां भी बढ़ी हैं। इसे लेकर केवल कपूर कहते हैं- “दरअसल, FUN2APP को यह नया कलेवर देना आसान नहीं था, क्योंकि इससे पहले यह एप भी बाज़ार में मौजूद अन्य शॉर्ट-वीडियो एप्स (एंटरटेनमेंट एप्स) की ही तरह थी। पर हम कुछ अलग करना चाहते थे, इसलिए काफी रिसर्च के बाद हमने पाया कि बाज़ार में स्पोर्ट्स फैन्स के लिए कोई खास प्लेटफॉर्म नहीं है। इसीलिए हमने इस एप को 90% स्पोर्ट्स और 10% एंटरटेनमेंट आधारित बनाने के निश्चय किया। आगामी एक वर्ष में अपनी एप के माध्यम से हमने 50 मिलियन यूएस डॉलर का लक्ष्य निर्धारित किया है। जाहिर है हमारा उद्देश्य स्पोर्ट्स में रुचि रखने वालों को ऐसा मंच देना है, जहां वे अपना पूरा टैलेंट दुनिया के सामने दिखा सकें।’’
क्या है विशेषताएं –
• FUN2APP के पास खुद की करीब 80 से अधिक म्यूजिक ट्यून्स हैं, जो पूरी तरह ओरिजनल हैं।
• यूजर्स चाहें तो अपनी खुद की धुन भी बना सकते हैं।
• इसके लिए एप डॉउनलोड करके खुद को रिजस्टर करें।
• अपने वीडियो तथा स्पोर्ट्स की शॉर्ट-वीडियो क्लिप के साथ शेयर करें।